गौतम गंभीर का केजरीवाल पर पलटवार, कहा- जनता के पैसे से अपनी राजनीति ना चमकायें CM

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर (फाइल फोटो)

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर (फाइल फोटो)

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पिछले साल के अनुभवों से कोई सबक नहीं लिया है. अगर सबक लिया होता तो आज दिल्ली में ऐसे हालात नहीं होते. उनसे पूछिये कि दिल्ली में कितने हॉस्पिटल उन्होंने खोले हैं, यदि पहले ही अस्पताल खोल दिए होते तो आज इस कोरोना काल (Corona Virus) में लोगों की काफी मदद की जा सकती थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 10:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की मार लगातार जारी है. इसे लेकर राजनीति का तापमान भी बढ़ गया है. जहां अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) दिल्ली की बदहाली का ठीकरा केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) पर फोड़ने में लगी हुई है, वहीं, बीजेपी के नेता भी केजरीवाल सरकार की बदइंतजामी को लेकर पलटवार करते हुये नजर आ रहे हैं.

कोरोना संक्रमितों के मामले बेतहाशा बढ़ने पर दिल्ली सरकार ने पूरी दिल्ली में छह दिन का लॉकडाउन लगा दिया है. वार-पलटवार की इस राजनीति में पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा है. गंभीर ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पिछले साल के अनुभवों से कोई सबक नहीं लिया है. अगर केजरीवाल ने सबक लिया होता तो आज दिल्ली में ऐसे हालात नहीं होते. अरविंद केजरीवाल पिछले छह साल से दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं लेकिन उन्होंने एक भी नया अस्पताल नहीं खोला. उनसे पूछिये कि दिल्ली में कितने हॉस्पिटल उन्होंने खोले हैं, यदि पहले ही अस्पताल खोल दिए होते तो आज इस कोरोना काल में लोगों की काफी मदद की जा सकती थी.

गंभीर ने कहा कि जिन मोहल्ला क्लीनिक कि वो हर जगह तारीफ करते हुये नजर आते हैं बताइये कहां हैं वो. बीजेपी सांसद ने केजरीवाल पर जनता के पैसे से अपना चेहरा चमकाने का आरोप लगाते हुए कहा, 'अरविंद केजरीवाल देश के एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो कोविड काल में भी साढ़े पांच सौ करोड़ रुपए का विज्ञापन देकर सिर्फ खुद का चेहरा चमकाने में लगे हैं. इतने पैसे में कोरोना से लड़ने के लिए बहुत कुछ किया जा सकता था. लेकिन तीन बार से केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं लेकिन किया कुछ नहीं, जब किया जा सकता है तब भी वो सिर्फ विज्ञापन पर छाए हुए हैं.'

Delhi government to add 23 hospitals and banquet halls, Corona will increase beds for patients
गौतम गंभीर का आरोप है कि अरविंद केजरीवाल देश के एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो कोविड काल में भी साढ़े पांच सौ करोड़ रुपए का विज्ञापन देकर सिर्फ खुद का चेहरा चमकाने में लगे हैं (फाइल फोटो)

'जनता के पैसे से अपनी राजनीति चमकाना सबसे बड़ा अपराध' 

गौतम गंभीर ने उन पर लग रहे आरोपों का भी जवाब दिया. उन्होंने सीधे-सीधे आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि गरीब लोगों को भोजन कराने के लिए भी पैसे लगते हैं. शहीदों के बच्चों को पढ़ाने के लिए भी पैसे लगते हैं, और वो कोई गलत काम कर पैसे नहीं कमाते. अपनी कमाई से ही भूखों को भोजन कराते हैं, शहीदों के बच्चे को पढ़ाते हैं और वो सब कॉमेंट्री कर के ही पैसे कमाते हैं. दूसरों की तरह सरकारी पैसे को विज्ञापन में नहीं उड़ाते. जनता के पैसे से अपनी राजनीति चमकाना सबसे बड़ा अपराध है.

बता दें कि गौतम गंभीर की तरफ से पूर्वी दिल्ली में दो कोविड केयर सेंटर खोले गए हैं जिसमें 25 से 40 बेड ऑक्सीजन के साथ उपलब्ध कराए जा रहे हैं. गौतम गंभीर ने कांग्रेस के उस आरोप का भी जवाब दिया जिसमें कांग्रेस की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाए जा रहे थे कि वैक्सीन लगवाने वालों की उम्र 18 साल तो कर दी गई है लेकिन वैक्सीन की कीमत कंपनियां तय करेंगी, इस पर गंभीर ने कहा कि इस वक्त कोई कंपनी मनमाने दाम लेगी ऐसा मुझे नहीं लगता. हर चीज में राजनीति करने का कोई फायदा नहीं है. अपनी राजनीति चमकाने का समय नहीं है.



कांग्रेस द्वारा ऑक्सीजन, बेड, दवाई की किल्लत पर सवाल उठाने पर गंभीर ने पलटवार करते हुये कहा कि मेडिसिन, ऑक्सीजन, बेड उपलब्ध करवाना राज्यों का भी तो काम है. हर बार हर बात केंद्र पर डाल देना ठीक नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज