Assembly Banner 2021

Delhi Violence: हिंसाग्रस्‍त चांदबाग में मिला IB अफसर का शव, कुछ दिनों से थे लापता

आईबी के अधिकारी शर्मा कुछ दिनों से लापता थे. (फोटो साभार: ANI)

आईबी के अधिकारी शर्मा कुछ दिनों से लापता थे. (फोटो साभार: ANI)

हिंसाग्रस्‍त चांदबाग इलाके से इंटेलिजेंस ब्‍यूरो के अधिकारी अंकित शर्मा का शव बरामद किया गया है. जानकारी के मुताबिक, उनका सोमवार शाम से कोई अतापता नहीं था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 2:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी जिले के कई इलाके पिछले तीन दिनों से हिंसा (Delhi Violence) की चपेट में हैं. इसे देखते हुए इलाके में हजारों की तादाद में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है. इस बीच, एक बड़ी खबर सामने आई है. हिंसाग्रस्त चांदबाग इलाके से इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अधिकारी अंकित शर्मा (Ankit Sharma) का शव बरामद किया गया है. जानकारी के मुताबिक, उनका सोमवार शाम से कोई अतापता नहीं था.

सूत्रों के अनुसार, खुफ़िया विभाग में ड्राइवर के तौर पर मृतक अंकित शर्मा कार्यरत था. जानकारी मिल रही है कि इसकी हत्या तैनाती के दौरान नहीं हुई है. मृतक चांद बाघ इलाके में ही रहता था. बताया जा रहा है कि साल 2017 में उसने आईबी में नौकरी करना शुरू किया था. इससे पहले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल भी हिंसा का शिकार हो गये थे. अब तक हिंसा में 20 लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा लगभग 150 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

पत्थरबाजी में हेड कांस्टेबल को गंवानी पड़ी थी जान
गोकुलपुरी के एसीपी ऑफिस में हेड कांस्टेबल रतन लाल को अपनी जान हिंसा के दौरान गंवानी पड़ी थी. दिल्ली के गोकुलपुरी थाना क्षेत्र के मौजपुर में वो पत्थरबाजी के दौरान घायल हो गए थे. राजस्थान के सीकर के रहने वाले रतन लाल ने 1998 में दिल्ली पुलिस में कॉन्स्टेबल के तौर पर नियुक्त हुए थे. घटना के दौरान वो गोकुलपुरी एसीपी के ऑफिस में नियुक्त थे. जानकारी के अनुसार, वे यहां अपनी पत्नी और 3 बच्चों के साथ रहते थे.





रतनलाल को मिला शहीद का दर्जा
उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जारी हिंसा और उपद्रव में जान गंवाने वाले पुलिसकर्मी रतन लाल को केंद्र सरकार ने शहीद का दर्जा दिया है. राजस्थान के सीकर से बीजेपी सासंद सुमेधानंद ने केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के शीर्ष नेताओं से इस मामले में बातचीत की. सुमेधानंद ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री से बातचीत के बाद मीडिया को इस बात की जानकारी दी. बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल को शहीद का दर्जा मिल चुका है.

इसके अलावा उनके परिजनों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता राशि और एक आश्रित को सरकारी नौकरी मिलेगी. इस घोषणा के बाद शहीद रतन लाल के अंतिम संस्कार का रास्ता साफ हो गया है.

फ्लैग मार्च है जारी
उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सबसे प्रभावित क्षेत्र भजनपुरा इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स के अलावा दिल्ली पुलिस की टीम की फ्लैग मार्च जारी है. इलाके के लोगों को इक्ट्ठा होने से मना किया जा रहा है. जिससे भीड़ नहीं जमा हो सकी. बता दें, जॉइंट कमिश्नर EOW इस कंपनी को लीड कर रहे हैं.

(इनपुट: शलिंद्र)

ये भी पढ़ें:

अपने प्रियजनों को लेकर हैं परेशान? दिल्‍ली पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर्स

रामपुर: SP सांसद आजम खान पत्नी व बेटे संग भेजे गए जेल, ये है मामला


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज