कैंसर पर भारी कोरोना, दिल्‍ली के इस बड़े अस्‍पताल में अब 50 फीसदी मरीजों को ही मिलेगा इलाज

दिल्‍ली में अब बड़े कैंसर अस्‍पताल ने अपने यहां ओपीडी सेवाओं को 50 फीसदी करने का फैसला किया गया है.

दिल्‍ली में अब बड़े कैंसर अस्‍पताल ने अपने यहां ओपीडी सेवाओं को 50 फीसदी करने का फैसला किया गया है.

दिल्‍ली के डॉ. बी आर अंबेडकर इंस्‍टीट्यूट रोटरी कैंसर अस्‍पताल की ओर से आज ही नॉन कोविड मरीजों के लिए सुविधाएं घटाने को लेकर लेटर जारी किया गया है. अब से ओपीडी की सुविधा सिर्फ उन मरीजों को ही दी जाएगी जिन्‍होंने ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ली है. वॉक इन मरीजों के लिए ओपीडी बंद कर दी गई है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना के चलते दिल्‍ली के एक के बाद एक बड़े असपतालों की ओर से मरीजों को चिंता में डालने वाले फैसले किए जा रहे हैं. कई बड़े अस्‍पतालों के ओपीडी से लेकर नॉन कोविड मरीजों के इलाज में कटौती करने के फैसले के बाद अब दिल्‍ली के एक और बड़े कैंसर अस्‍पताल ने ओपीडी और कैंसर सर्जरी में 50 फीसदी तक कटौती करने का फैसला किया है.

दिल्‍ली के डॉ. बी आर अंबेडकर इंस्‍टीट्यूट रोटरी कैंसर अस्‍पताल की ओर से आज ही नॉन कोविड मरीजों के लिए सुविधाएं घटाने को लेकर लेटर जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि कोरोना के सामुदायिक प्रसार को रोकने और अस्‍पताल के स्‍टाफ, इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर, भौतिक संसाधनों और मेनपॉवर को कोरोना संक्रमित मरीजों के कारण अस्‍पताल की रूटीन सेवाओं में कटौती की जा रही है.

अस्‍पताल की ओर से कहा गया है कि अब से ओपीडी की सुविधा सिर्फ उन मरीजों को ही दी जाएगी जिन्‍होंने ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ली है. वॉक इन मरीजों के लिए ओपीडी बंद कर दी गई है. इतना ही नहीं कोरोना से पहले रोजाना आने वाले मरीजों की संख्‍या के 50 फीसदी को ही अब ओपीडी में देखा जाएगा. साथ ही आगे के लिए अपॉइंटमेंट को लेकर स्‍लॉट तय किए जाएंगे.
इसके साथ ही अस्‍पताल के डॉक्‍टर और फैकल्‍टी को मरीजों को टेली-कंसल्‍टेशन के माध्‍यम से इलाज करने के लिए भी कहा गया है. वहीं मरीजों के रूटीन एडमिशन को भी सीमित या बंद करने के आदेश दिए गए हैं. अस्‍पताल में डे केयर सर्विसेज को 50 फीसदी करने के लिए कहा गया है.

रेडियो डायग्‍नोसिस और लेबोरेटरी सर्विस मरीजों को अस्‍पताल में स्‍टाफ उपलब्‍ध होने पर ही दी जाएगी. जहां तक कोरोना के मरीजों की बात है तो एम्‍स निदेशक की ओर से फैसला किया गया है कि एनसीआई झझ्झर को कोरोना अस्‍पताल के रूप में चलाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज