डेयरिंग सिटीज-2020 सम्मेलन में CM केजरीवाल ने प्रदूषण के खिलाफ उठाए गए कदमों को किया साझा

सीएम अरविंद केजरीवाल ने डेयरिंग सिटीज-2020 सम्मेलन में शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण से कारगर ढंग से लड़ने की बात पर बल दिया (फाइल फोटो)
सीएम अरविंद केजरीवाल ने डेयरिंग सिटीज-2020 सम्मेलन में शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण से कारगर ढंग से लड़ने की बात पर बल दिया (फाइल फोटो)

सीएम केजरीवाल ने सम्मेलन में कहा कि कोरोना वायरस के कारण हमने देखा है कि कई जगहों लॉकडाउन किए गए. जब किसी भी जगह पर लॉकडाउन किया गया तो अचानक से हवा के स्तर में सुधार हुआ है. जिसने हमें यह अहसास कराया कि किस तरह मानव किस तरह पर्यावरण ढांचे और जलवायु को बर्बाद करने के लिए जिम्मेदार है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 11:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बुधवार को डेयरिंग सिटीज-2020 सम्मेलन (Daring Cities 2020 Conference) को संबोधित किया. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पिछले पांच वर्षों में वायु प्रदूषण (Air Pollution) की समस्या से निपटने के लिए कई उपाय किए गए हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने हाल ही में प्रभावशाली ईवी पॉलिसी अधिसूचित की है, जिसके तहत वर्ष 2024 तक दिल्ली में खरीदे जाने वाले नए वाहनों में से 25 प्रतिशत इलेक्ट्रिक व्हीकल्स होंगे. दिल्ली सरकार बायो डीकंपोजर तकनीक को बढ़ावा दे रही है, जिससे घोल का मिश्रण पराली पर छिड़कने से वो खाद में बदला जाता है. उम्मीद है कि इस तकनीक के अपनाने से पराली जलाने की समस्या से निजात मिल सकेगी. इसके अलावा, हमने सफलता पूर्वक सम-विषम (ऑड-ईवन) योजना लागू की, जिससे वायु प्रदूषण में 15 प्रतिशत की गिरावट आई. दिल्ली देश का एकमात्र राज्य है, जहां सभी थर्मल पावर प्लांट बंद कर दिए गए हैं. इसके अलावा, अधिक प्रदूषण फैलाने वाले ईंधनों पर प्रतिबंध लगा दिया है.

पर्यावरण ढांचे और जलवायु को बर्बाद करने के लिए मानव जिम्मेदार

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि डेयरिंग सिटीज 2020 सम्मेलन में बोलने के लिए आमंत्रित करना सम्मान की बात है. आप सभी जानते हैं कि पूरा विश्व कोविड 19 की चपेट में है. कोरोना वायरस के कारण हमने देखा है कि कई जगहों लॉकडाउन किए गए. जब किसी भी जगह पर लॉकडाउन किया गया तो अचानक से हवा के स्तर में सुधार हुआ है. जिसने हमें यह अहसास कराया कि किस तरह मानव किस तरह पर्यावरण ढांचे और जलवायु को बर्बाद करने के लिए जिम्मेदार है.
उन्होंने कहा कि दिल्ली जब वायु प्रदूषण के कारण प्रभावित थी तो इसको लेकर कुछ सालों में हमने कई सहासिक और रचनात्मक फैसले लिए. दिल्ली में हर बार की तरह 2015-16 की सर्दियों में प्रदूषण से हालात बेहद खराब हो गए. पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने जाने के कारण धुंआ आने से दिल्ली गैस चैंबर बन गई. ऐसे में हमें कड़े फैसले लेना जरूरी थी. जब हमने ऑड ईवन स्कीम को लागू करने का फैसला लिया. विश्व के कुछ क्षेत्रों में इससे पहले योजना को लागू किया गया था लेकिन सफल नहीं हुईं. जब हम इसे लागू करने पर विचार कर रहे थे तब कई लोगों ने चेतावनी दी कि यह काफी खतरनाक कदम है जो कि राजनीतिक तौर पर आत्महत्या करने जैसा है.




दिल्ली में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कई कदम उठाए

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण फैलाने वाले दो थर्मल पावर प्लांट थे. सरकार ने दोनों थर्मल पावर प्लांट बंद कर दिए हैं. हम अब अक्षय ऊर्जा की दिशा में एक बड़ा बदलाव लाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके अलावा, दिल्ली सरकार ने उद्योग में सबसे अधिक प्रदूषण फैलाने वाले ईंधनों पर प्रतिबंध लगा दिया है. हमने उद्योगों के साथ नजदीकी से काम कर सब्सिडी स्कीम के जरिए स्वच्छ ईंधन पीएनजी पर बदलना सुनिश्चित किया. जिन्होंने नहीं लागू की उनके ऊपर जुर्माना लगाया. अब तक दिल्ली में लगभग सभी उद्योग पीएनजी पर शिफ्ट हो चुके हैं.

साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार बड़े स्तर पर पौधा रोपण अभियान चला रही है. 2019-20 में 36 लाख से अधिक पौधे लगाए गए. हम हर साल 30 लाख से अधिक पौधे लगा रहे हैं. लोगों से लेकर बच्चे भी इसमें हिस्सा ले रहे हैं.

सम्मेलन में केजरीवाल को बोलने के लिए किया गया था आमंत्रित

अरविंद केजरीवाल को ‘डेयरिंग सिटीज 2020’ सम्मेलन में दुनिया भर के पांच शहरी नेताओं के बीच बोलने के लिए आमंत्रित किया गया था. इस सम्मेलन की मेजबानी जर्मनी की सरकार के सहयोग से आईसीएलईएआई और जर्मनी के बॉन शहर द्वारा की गई. ‘डेयरिंग सिटीज’ वायु प्रदूषण पर शहरी नेताओं का एक वैश्विक मंच है. सीएम केजरीवाल को वायु प्रदूषण से निपटने के लिए की गई बहुस्तरीय कार्रवाई पर चर्चा करने के लिए बोगोटा (कोलंबिया), साओ पाओलो (ब्राजील), लॉस एंगल्स (अमेरिका) और एंटेब्बे (युगांडा) के शहरी नेताओं और निर्णयकर्ताओं के साथ आमंत्रित किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज