• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • लवकुश रामलीला में कल मनेगी विजयादशमी, सीएम अरविंद केजरीवाल करेंगे रावण का वध

लवकुश रामलीला में कल मनेगी विजयादशमी, सीएम अरविंद केजरीवाल करेंगे रावण का वध

दिल्‍ली के लालकिला पर लवकुश रामलीला कमेटी की रामलीला में कल विजयादशमी पर दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल शमिल होंगे.

दिल्‍ली के लालकिला पर लवकुश रामलीला कमेटी की रामलीला में कल विजयादशमी पर दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल शमिल होंगे.

विजयादशमी को लेकर रामलीला कमेटी के अध्‍यक्ष अशोक अग्रवाल ने बताया कि सीएम केजरीवाल लगातार तीसरी बार इसमें शामिल होंगे साथ ही इस बार महामारी को देखते हुए दशहरा को लेकर खास इंतजाम किए गए है. इस दौरान कोविड़ नियमों और माननीय कोर्ट के आदेश के मुताबिक ही लीला ग्राउंड में दशहरा उत्सव मनाया जाएगा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. राजधानी के लालकिला मैदान स्थित 15 अगस्‍त मैदान में चल रही लवकुश रामलीला में 15 अक्‍टूबर को विजयदशमी मनाई जाएगी. इस दिन रावण दहन किया जाएगा. वहीं खास बाद है कि इस बार भी रामलीला में मुख्‍य अतिथि दिल्‍ली के मुख्‍श्‍मंत्री अरविंद केजरीवाल होंगे. इतना ही नहीं रावण दहन से पहले सीएम केजरीवाल बुराई पर अच्‍छाई की विजय के प्रतीक स्‍वरूप रावण का वध करेंगे और पहला बाण वही चलाएंगे.

    विजयादशमी को लेकर रामलीला कमेटी के अध्‍यक्ष अशोक अग्रवाल ने बताया कि सीएम केजरीवाल लगातार तीसरी बार इसमें शामिल होंगे साथ ही इस बार महामारी को देखते हुए दशहरा को लेकर खास इंतजाम किए गए है. इस दौरान कोविड़ नियमों और माननीय कोर्ट के आदेश के मुताबिक ही लीला ग्राउंड में दशहरा उत्सव मनाया जाएगा. पिछले वर्षों के मुकाबले इस वर्ष रावण, मेघनाद और कुम्‍भकर्ण के पुतलों की ऊँचाई कम की गई है लेकिन दशहरा काफी धूमधाम से मनाया जाएगा.

    विजयादशमी की तैयारियों को लेकर बताया गया कि शाम को रावण दहन का लाइव प्रसारण भी अन्‍य दिनों की तरह ही किया जाएगा. ताकि लोग घरों में बैठकर भी रावण दहन का कार्यक्रम देख सकें. वहीं मैदान में आने वाले लोगों के लिए बैठने की पूरी व्‍यवस्‍था की गई है. इस दिन हर साल ही ज्‍यादा भीड़ होती है. ऐसे में एहतियात का पूरा ध्‍यान रखा जाएगा.

    नवमी को मेघनाद और अहिरावण का हुआ वध

    वहीं लीला के सचिव अर्जुन कुमार ने बताया कि नौवें दिन 190 बाई 50 के विशाल मंच पर मेघनाद और अहिरावण वध की लीला का मंचन किया गया. इस दौरान युद्ध के द्रश्‍यों को और ज्‍यादा जीवंत और सजीव बनाने के लिए पांच अलग-अलग स्टेज पर लीला की शुरुआत मेघनाथ के यज्ञ को भंग करने के द्रश्‍य से हुई. इस दौरान स्टेज के पीछे दो बड़ी क्रेनों की मदद से युद्ध के कई द्रश्‍य अस्सी फीट ऊंचाई में रथों पर किए गये, वही युद्ध के इन द्रश्‍यों में 240 के करीब कलाकारों ने भाग लिया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज