केजरीवाल ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- अन्य कंपनियों को भी दें वैक्सीन बनाने की इजाजत

CM केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा कि देश की आवश्यकता को देखते हुए वर्तमान समय में अन्य कंपनियों को वैक्सीन बनाने की अनुमति मिलनी चाहिए (फाइल फोटो)

CM केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा कि देश की आवश्यकता को देखते हुए वर्तमान समय में अन्य कंपनियों को वैक्सीन बनाने की अनुमति मिलनी चाहिए (फाइल फोटो)

मंगलवार को पीएम मोदी (PM Modi) को लिखे अपने पत्र में अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि पेटेंट कानून इसके आड़े आ रहा है, लेकिन मुख्य कंपनियों को उत्पादन के समय रॉयल्टी देकर अन्य कंपनियों से भी वैक्सीन प्रोडक्शन करवाया जा सकता है. साथ ही मुख्य कंपनियों के लाभ का हिस्सा भी सुरक्षित रखा जा सकता है. उन्होंने आपात परिस्थिति को देखते हुए इससे जुड़े कानूनों में बदलाव की मांग की

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पत्र लिखकर सभी कंपनियों को वैक्सीन बनाने की अनुमति देने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की तीसरी लहर से बचने के लिए बड़ी संख्या में वैक्सीन की जरूरत है. लेकिन वर्तमान में जो कंपनियां वैक्सीन (Vaccine) बना रही हैं, वो इतनी मात्रा में वैक्सीन नहीं बना पा रही हैं जिससे देश की आवश्यकता की पूर्ति की जा सके. इसलिए अन्य सक्षम कंपनियों को वैक्सीन बनाने की अनुमति मिलनी चाहिए.

मंगलवार को पीएम मोदी को लिखे अपने पत्र में सीएम केजरीवाल ने कहा कि पेटेंट कानून इसके आड़े आ रहा है, लेकिन मुख्य कंपनियों को उत्पादन के समय रॉयल्टी देकर अन्य कंपनियों से भी वैक्सीन प्रोडक्शन करवाया जा सकता है. साथ ही मुख्य कंपनियों के लाभ का हिस्सा भी सुरक्षित रखा जा सकता है. उन्होंने आपात परिस्थिति को देखते हुए इससे जुड़े कानूनों में बदलाव की मांग की.


Youtube Video

बता दें कि, दिल्ली सरकार की तरफ से राज्य में वैक्सीन की कमी की बात कही गई है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली में अब मात्र तीन-चार दिन की ही वैक्सीन बची है. ऐसे में 45 वर्ष व 18 वर्ष से ऊपर के उम्र के लोगों का टीकाकरण मुश्किल होगा. उन्होंने यह भी कहा कि यदि केंद्र सरकार उन्हें पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध कराए तो दिल्ली में सभी लोगों का टीकाकरण करवाया जाएगा.

दिल्ली सरकार की तरफ से यह कहा जाता रहा है कि 18 वर्ष से ऊपर की दिल्ली की पूरी आबादी को वैक्सीन लगाने के लिए प्रति महीने 80-90 लाख वैक्सीन की जरूरत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज