दिल्ली में चुनाव की घोषणा के बाद बोले केजरीवाल-अगर मैंने काम किया है तो वोट देना, वरना मत देना
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली में चुनाव की घोषणा के बाद बोले केजरीवाल-अगर मैंने काम किया है तो वोट देना, वरना मत देना
स्कूल की वीडियो जारी होने के बाद अरविंद केजरीव ने अपनी बात रखी. (फाइल फोटो)

केजरीवाल ने कहा कि मैंने दिल्ली के सीएम के तौर पर काम किया है. अच्छे स्कूल में सभी के बच्चे पढ़ते हैं. हमने पानी पहुंचाया तो ये नहीं सोचा कि किसके घर पानी पहुंचाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2020, 6:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में विधानसभा चुनावों (Delhi Assembly Elections) की घोषणा के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने दिल्ली (Delhi) के लोगों से काम के आधार पर वोट मांगा है. केजरीवाल का कहना है कि अगर हमने काम किया है तो लोग वोट दें, काम नहीं किया है तो वोट नहीं दें. राजधानी में रविवार को एक प्रेस वार्ता में केजरीवाल ने यह बातें कहीं.

केजरीवाल ने कहा, ''मैंने दिल्ली के सीएम के तौर पर काम किया है. अच्छे स्कूल में सभी के बच्चे पढ़ते हैं. हमने पानी पहुंचाया तो ये नहीं सोचा कि किसके घर पानी पहुंचाया. हम बीजेपी वालों के घर भी जाकर कहेंगे कि 70 साल में पहली बार पानी पहुंचाया.''





उन्होंने यह भी कहा कि हम (आम आदमी पार्टी) कहेंगे की आपने (आम लोग) अगर सरकार बदल दी तो आपके स्कूल और अस्पताल खराब हो जाएंगे. इस बार का वोट आप काम के नाम पर देना. केजरीवाल ने दिल्ली के काम के आधार पर वोट मांगने की बात भी कही.
उन्होंने कहा कि हमें गाली-गलौज की राजनीति नहीं करनी. इस दौरान उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि दिल्ली के एक कार्यक्रम के दौरान शाह से दिल्ली के विकास पर बात करने की उम्मीद थी. लेकिन उनका भाषण इस पर नहीं था. उन्होंने यह भी कहा कि हम उनकी (विरोधियों के) गालियों का जवाब गालियों से नहीं देंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अगर उनके पास दिल्ली के लिए अच्छा विजन है तो हम अपने मेनिफेस्टो में भी डालेंगे और पूरा करेंगे.


उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में दिल्ली के लोगों ने रिकॉर्ड बनाया था. दिल्ली के सीएम ने 2020 का विधानसभा चुनाव सड़क, पानी और कच्ची कालोनियों के मुद्दे पर लड़ने की बात कही है. उन्होंने कहा, ''जिस विकास की गाड़ी को जंग लगा था. दिल्ली के लोग एक्सीलेटर दबाएंगे.''

दिल्ली के सीएम ने यह भी दावा किया कि बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं ने हमारे शिक्षा, सड़क और पानी के काम में कमी नहीं निकाली. केजरीवाल ने यह भी कहा कि भारत के इतिहास में शायद पहली बार होगा कि लोग काम की तुलना करेंगे. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि दो सरकारें मोटे तौर पर हैं दिल्ली में, जिसमें डीडीए, पुलिस और दिल्ली नगर निगम बीजेपी के पास है. जबकि दिल्ली सरकार के पास शिक्षा और स्वास्थ्य. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोग दिल्ली को एमसीडी नहीं बनाना चाहते.

यह भी पढ़ें:-

झूठ नहीं कामकाज के आधार पर लड़ा जाएगा दिल्ली में चुनाव: जावड़ेकर
दिल्‍ली के बुजुर्ग-दिव्‍यांग मतदाता पोस्‍टल बैलेट से घर बैठे कर सकेंगे मतदान
दिल्ली विधानसभा चुनाव की जंग शुरू, जानिए किस पार्टी को किससे है खतरा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज