• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi CM: अरवि‍ंंद केजरीवाल ने इस लाईसेंस ऑथोर‍िटी में लगाया ताला, जानें इसके पीछे की बड़ी वजह

Delhi CM: अरवि‍ंंद केजरीवाल ने इस लाईसेंस ऑथोर‍िटी में लगाया ताला, जानें इसके पीछे की बड़ी वजह

द‍िल्‍ली केमुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने इस फेसलेस सेवाओं की शुरूआत परिवहन विभाग के एक दफ़्तर पर ताला लगाकर की है.

द‍िल्‍ली केमुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने इस फेसलेस सेवाओं की शुरूआत परिवहन विभाग के एक दफ़्तर पर ताला लगाकर की है.

Faceless Learning Driving License: द‍िल्‍'ली केमुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने इस फेसलेस सेवाओं की शुरूआत परिवहन विभाग के एक दफ़्तर पर ताला लगाकर की है. इसका मतलब यह है क‍ि अब ड्राईविंग लाईसेंस बनवाने के ल‍िये भी लोगों को इन ऑथोर‍िटीज में आने की जरूरत नहीं होगी. और न ही दफ्तरों में लाइन में लगन पड़ेगा.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) के पर‍िवहन व‍िभाग ने अब लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस (Learning Driving License) बनवाने वालों को दफ्तरों के चक्‍कर काटने से बचाने के ल‍िये आईपी इस्‍टेट स्‍थ‍ित मोटर लाईसेंस‍िंंग ऑफ‍िसर (MLO) ऑफि‍स के गेट पर ताला लगाकर नई व्‍यवस्‍था की शुरूआत की है.

    द‍िल्‍ली केमुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इस फेसलेस सेवाओं की शुरूआत परिवहन विभाग के एक दफ़्तर पर ताला लगाकर की है. इसका मतलब यह है क‍ि अब ड्राईविंग लाईसेंस बनवाने के ल‍िये भी लोगों को इन ऑथोर‍िटीज में आने की जरूरत नहीं होगी. और न ही दफ्तरों में लाइन में लगन पड़ेगा.

    द‍िल्‍ली के सीएम अरव‍िंद केजरीवाल ने आईपी इस्‍टेट स्‍थ‍ित मोटर लाईसेंस‍िंंग ऑफ‍िसर (MLO) ऑफि‍स के गेट पर ताला लगाकर की गई इसकी शुरूआत के अवसर पर उनके साथ पर‍िवहन मंत्री कैलाश गहलोत, मुख्‍य सचि‍व विजय कुमार देव और अन्‍य वर‍ि‍ष्‍ठ अध‍िकारी प्रमुख रूप से उपस्‍थित रहे.

    ये भी पढ़ें: CS अंशु प्रकाश से मारपीट मामले में CM केजरीवाल-सिसोदिया समेत 11 विधायक बरी, अमानतुल्ला व जरवाल पर आरोप तय

    बताया जाता है क‍ि आवेदन से लेकर टेस्ट सभी कुछ घर बैठे ऑनलाइन (Online) होगा. सारी प्रक्रिया तत्काल होगी और टेस्ट पास करते ही आप स्‍वयं लर्निंग लाइसेंस का प्रिंट निकाल सकते हैं लेकिन स्‍थाई लाइसेंस के लिए परिवहन कार्यालय जाकर ही टेस्ट देना होगा, जिसके बाद लाइसेंस मिलेगा. लर्निंग लाइसेंस से लेकर गाड़ी के रजिस्ट्रेशन सर्टिफ़िकेट बनवाने जैसे परिवहन विभाग के सभी काम अब आप घर बैठे ऑनलाइन करवा पाएंगे.

    इस बीच देखा जाए तो मौजूदा समय देश में प्रति वर्ष करीब 1 करोड़ लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस बनते हैं. परिवहन मंत्रालय अधिकारी के अनुसार अगर कोई व्यक्ति किसी का सहारा लेकर लर्निंग का टेस्ट पास भी कर लेता है तो स्थाई लाइसेंस के लिए परिवहन कार्यालय में टेस्ट देना अनिवार्य है, अगर पास नहीं कर पाया तो स्थाई लाइसेंस नहीं बन सकेगा. दिल्‍ली सरकार (Delhi Government ) ने आज से फेसलेस लर्निंग लाइसेंस (Faceless License) की व्‍यवस्‍था शुरू कर दी है.

    ये भी पढ़ें: BSES: स्वतंत्रता दिवस पर सावधानी से उड़ाएं पतंग, ऐसा करने पर हो सकती है जेल 

    इसमें आवेदक आधार कार्ड के माध्‍यम से https://parivahan.gov.in/ में ऑनलाइन आवेदन करेगा. इसके बाद स्‍वत: ही फार्म में आवेदक का नाम, जन्‍म तिथि, पता, अभिभावक या पिता का नाम, आवेदन की फोटो रजिस्‍टर्ड हो जाएंगे. इस तरह पर्सनल डिटेल में किसी भी तरह का फेरबदल किया जाना संभव नहीं होगा. आवेदन के साथ आवेदक को फिजिल फिटनेस संबंधी घोषणा ऑनलाइन करनी होगी. आवेदन सबमिट होते ही आवेदक को एसएमएस के माध्यम से आवेदन नंबर प्राप्त हो जाएगा.

    इस नई व्यवस्था में आवेदक को डिजिटल फीस जमा करने पर एसएमएस के माध्यम से लर्निंग लाइसेंस टेस्ट पासवर्ड प्राप्त हो जाएगा. आवेदक को अपने कम्प्यूटर पर एक टेस्ट देना होगा, जिसमे 20 सवाल पूछे जाएंगे जो 10 नंबर के होंगे. सड़क सुरक्षा, ट्रैफिक संकेतों से सम्बंधित इन प्रश्नो का प्रकार वस्तुनिष्ट होगा. 6 नंबर पाने वाले आवेदक को पास माना जाएगा. इसके बाद लर्निंग लाइसेंस स्वत: ऑनलाइन जारी हो जाएगा, जो आवेदक द्वारा प्रिंट किया जा सकेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज