कोरोना से बिगड़ रहे हालात, दिल्ली के बाजारों पर बड़ा ऐलान, 10 मई तक रहेगा Lockdown

व्यापारी आगामी 10 मई तक बाजारों में स्वैच्छिक लॉकडाउन रखेंगे.

व्यापारी आगामी 10 मई तक बाजारों में स्वैच्छिक लॉकडाउन रखेंगे.

COVID 19 in Delhi: व्यापारियों ने 3 मई को समाप्त होने वाले लॉकडाउन के बाद भी आगामी 10 मई तक स्वैच्छिक लॉकडाउन रखने का फैसला किया है. देश के व्यापारिक संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से घोषणा की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 10:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमण श्रृंखला को तोड़ने के लिए 3 मई तक लॉकडाउन है. बावजूद इसके मामलों में हर रोज बड़ा इजाफा रिकॉर्ड किया जा रहा है. इसके चलते व्यापारियों ने 3 मई को समाप्त होने वाले लॉकडाउन के बाद भी आगामी 10 मई तक स्वैच्छिक लॉकडाउन रखने का फैसला किया है.

देश के व्यापारिक संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से घोषणा की गई है कि दिल्ली में भले ही 3 मई को लॉकडाउन समाप्त हो रहा हो लेकिन व्यापारी आगामी 10 मई तक बाजारों में स्वैच्छिक लॉकडाउन रखेंगे.

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि दिल्ली में सभी प्रयासों के बावजूद जिस तेजी से कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है. उसको देखते हुए दिल्ली के अधिकांश व्यापारी संगठन आगामी 3 मई को जब वर्तमान लॉक डाउन ख़त्म होगा, के बाद अभी अपनी मार्किट खोलने के पक्ष में नहीं है. दिल्ली के व्यापारी संगठनों ने स्वैच्छिक लॉक डाउन करने का निर्णय ले लिया है.

खंडेलवाल ने कहा यह निर्णय कैट द्वारा द्वारा बुलाई गई एक वीडियो कॉन्फ्रेंस मीटिंग में 150 से अधिक प्रमुख व्यापारी संगठनों के नेताओं ने सर्वसम्मति से लिया. हालाकिं कैट एवं अन्य व्यापारी संगठनों ने उम्मीद जताई है कि एलजी अनिल बैजल (LG Anil Baijal) एवं सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) वस्तुस्थिति को समझते हुए कैट की मांग पर लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय अवश्य लेंगे.
कैट ने 22 अप्रैल को दिल्ली के प्रमुख व्यापारी संगठनों के साथ एक वीडियो कांफ्रेंस में राय शुमारी करने के बाद 23 अप्रैल को दिल्ली के उप-राज्यपाल  अनिल बैजल तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को पत्र भेजकर वर्तमान लॉकडाउन को 15 मई तक बढ़ाने की मांग की है. इस पर सरकार को अभी निर्णय लेना बाकी है.

खंडेलवाल ने बताया कि कोरोना से उपजे वर्तमान हालात में दिल्ली में बाज़ारों को खोला जाना सीधे कोरोना से आँखें मिलाना होगा जो दिल्ली के व्यापार एवं व्यापारियों, उनके कर्मचारियों तथा ग्राहकों के लिए बेहद अहितकर होगा. यहंसीधे उनके स्वास्थ्य को चुनौती देगा. इस लिए सभी इस बात पर सहमत हैं कि लॉक डाउन अवश्य बढ़ाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज