COVID-19: N95 मास्क को अब दोबारा किया जा सकेगा रीयूज, IIT दिल्ली के छात्रों ने किया अनोखा इनोवेशन
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19: N95 मास्क को अब दोबारा किया जा सकेगा रीयूज, IIT दिल्ली के छात्रों ने किया अनोखा इनोवेशन
कोरोना वायरस से बचाव के लिए N95 मास्क काफी हद तक कारगर है

आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) के छात्रों ने नई डिवाइस बनाई है जिसकी मदद से कोरोना वायरस (Corona Virus) के खिलाफ कारगर N95 मास्क (N95 Mask) को रीयूज किया जा सकता है. इस डिवाइस के जरिए N95 मास्क को एक से 10 बार तक यूज कर सकते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 11, 2020, 11:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. करोना वायरस महामारी (Corona Virus) के इस दौर में नर्स से लेकर डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ का सबसे बड़ा हथियार मास्क है. इसमें भी सबसे फेमस है N95 मास्क (N95 Mask). यह वो मास्क है जो अधिकतर अस्पतालों में डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ कोरोना (COVID-19) के विरुद्ध लड़ाई में प्रयोग कर रहे हैं. क्योंकि इससे वायरस के प्रवेश करने का खतरा काफी कम हो जाता है. लेकिन N95 मास्क को यूज करने के बाद उसको किस तरीके से डिस्ट्रॉय (नष्ट) किया जाए यह बहुत बड़ी समस्या है. क्योंकि अगर मास्क को हम गलत जगह पर फेंक देते हैं तो उससे वायरस फैलने का खतरा और ज्यादा बढ़ जाता है.

अस्पतालों में काम करने वाला मेडिकल स्टाफ N95 मास्क को प्रयोग में ला रहा है. इस मास्क को एक बार यूज करने के बाद दोबारा आप उसको यूज नहीं कर सकते. क्योंकि इसमें वायरस आ जाता था. लेकिन अब इस समस्या को दूर करने के लिए आईआईटी दिल्ली के छात्रों ने एक नई डिवाइस बनाई है. यह डिवाइस N95 मास्क को रीयूज करने के लिए बनाई गई है. यानी इस डिवाइस के रिए N95 मास्क को आप एक से 10 बार तक यूज कर सकते हैं.

इस डिवाइस में यूज करने के बाद एक बार में 20 N95 मास्क डाले जाते हैं. इनको दोबारा यूज करने लायक बनाने के लिए इसमें डेढ़ घंटे यानी 90 मिनट का समय लगता है. 90 मिनट तक मशीन में प्रोसीजर चलता है उसके बाद N95 मास्क दोबारा यूज होने के लिए तैयार हो जाता है. इस मशीन में N95 मास्क डालने के बाद आप इन मास्क को 10 बार यूज कर सकते हैं. यानी N95 मास्क को 10 बार रीयूज किया जा सकता है. इस डिवाइस के आ जाने से मेडिकल स्टाफ को फायदा होगा क्योंकि N95 मास्क का प्रोडक्शन काफी कम है. जिस रफ्तार से भारत में कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए N95 मास्क की जरूरत को पूरा करने के लिए यह मशीन काफी फायदेमंद है. कोरोना मरीजों के संपर्क में आने वाले मेडिकल स्टाफ के लिए N95 मास्क बहुत जरूरी है. इसलिए इस मशीन के जरिए N95 मास्क को बार-बार यूज कर सकते हैं.



N95 मास्क में पांच लेयर होती हैं. इनमें न चिपकने वाला कपड़ा, फिल्टर कपड़े की कई लेयर होती हैं

IIT दिल्ली के छात्रों की बनाई मशीन की ICMR ने टेस्टिंग की 

आईआईटी दिल्ली के छात्रों ने इस मशीन को बनाया है. इस मशीन में आईसीएमआर (ICMR) ने टेस्टिंग की है जो पूरी हो गई है. पहले N95 मास्क को डिसइनफेक्ट करना भी अपने आप में बेहद जटिल प्रक्रिया थी. कई बार इसके लिए अल्ट्रावॉयलेट यूवी विक्रण का प्रयोग किया जाता है, जो इंसानी त्वचा के लिए बेहद हानिकारक है. साथ ही कई बार इस पूरी प्रक्रिया में संक्रमण के बाहर आने का खतरा बना रहता है.

ऐसे में आईआईटी दिल्ली ने इसके लिए एक वैक्यूम चेंबर को चुना. इसमें सभी तरह के जीवाणुओं और कीटाणुओं को मारा जा सकता है. और जिसमें से संक्रमण के बाहर निकलने का खतरा भी ना के समान है.

चक्र इनोवेशन एक स्टार्टअप है जो आईआईटी दिल्ली के साथ मिलकर काम कर रहा है. यह अपने उपकरण से डिसइनफेक्ट करने के लिए वैक्यूम तकनीक का प्रयोग करते हैं. पूरे चेंबर का पेटेंट भी किया जा चुका है. जिसके जरिए डिसइनफेक्ट करते समय करोना वायरस के रिसाव की संभावना लगभग खत्म हो जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading