Corona Virus: ऑक्सीजन की कमी पर रो पड़े बत्रा अस्पताल के MD, मरीजों के लिए कही यह बात...

दिल्ली के बत्रा अस्पताल समेत तमाम अन्य अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी है, इस वजह से यहां भर्ती मरीजों की लगातार मौत हो रही है (फाइल फोटो)

दिल्ली के बत्रा अस्पताल समेत तमाम अन्य अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी है, इस वजह से यहां भर्ती मरीजों की लगातार मौत हो रही है (फाइल फोटो)

बत्रा अस्पताल (Batra Hospital) के एमडी डॉ. एससीएल गुप्ता ने कहा कि हम लोगों (तीमारदारों) से अनुरोध करते हैं कि वो अपने मरीजों को वहां ले जाएं जहां उन्हें ऑक्सीजन की उपलब्धता हो. हम यह समझते हैं कि मरीज किसी की माता, पिता हैं.. यदि मैं किसी अपने को खोता हूं, तो यह स्वाभाविक है कि मुझे बहुत बुरा महसूस होगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 3:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना (Corona Virus) से हालात भयावह होते जा रहे हैं. दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी देखने को मिल रही है. बत्रा अस्पताल (Batra Hospital) के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) डॉक्टर एससीएल गुप्ता ऑक्सीजन संकट (Oxygen Crisis) पर बात करते हुए रो पड़े. उन्होंने कहा कि हम लोगों (तीमारदारों) से अनुरोध करते हैं कि वो अपने मरीजों को वहां ले जाएं जहां उन्हें ऑक्सीजन की उपलब्धता हो. हम यह समझते हैं कि मरीज किसी की माता, पिता हैं.. यदि मैं किसी अपने को खोता हूं, तो यह स्वाभाविक है कि मुझे बहुत बुरा महसूस होगा.

इससे पहले, शनिवार की सुबह बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की खबर आई थी. हालांकि कुछ देर बाद ही यहां ऑक्सीजन को लेकर एक टैंकर पहुंचा. बत्रा अस्पताल के एमडी डॉक्टर एससीएल गुप्ता का कहना था कि अस्पताल को 500 किलोग्राम ऑक्सीजन ट्रक के जरिए पहुंचाई गई है जो ऑक्सीजन मिलने के बाद अगले एक घंटे के लिए काफी रहेगी.



Youtube Video

ऑक्सीजन की कमी के बारे में उन्होंने कहा कि शनिवार सुबह सात बजे ऑक्सीजन खत्म हो गई थी. रोज हमें करीब 7,000 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है और अभी 500 लीटर ऑक्सीजन भेजी गई है जो कुछ समय ही चलेगी. उन्होंने कहा कि हालात फिर जस के तस हो गए हैं. अस्पताल में 350 से ज्यादा कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है जिसमें 48 आईसीयू में भर्ती हैं. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन जल्द से जल्द मुहैया कराई जाए. अस्पताल की ओर से जारी बयान के मुताबिक अस्पताल में महज 20 मिनट का ऑक्सीजन बचा है जबकि 350 से अधिक कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज