Delhi COVID-19 Update: 24 घंटे में 623 नए केस, 62 की मौत, पॉजिटिविटी रेट 1 फीसदी से कम

दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर घटा.

दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर घटा.

 Delhi News: पिछले 24 घंटे में 623 नए कोरोना केस आए हैं. पॉजिटिविटी रेट (COVID-19 Positivity Rate) एक फीसदी के नीचे आ गया है. कोरोना डेथ रेट 1.7 फीसदी हो गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ती दिख रही है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 623 नए कोरोना (Corona) केस आए हैं. संक्रमण की वजह से 62 मरीजों की मौत  हो गई है. दिल्ली में अब पॉजिटिविटी रेट एक फीसदी के नीचे आ गया है. दिल्ली में अब संक्रमण दर घटकर 0.88 फीसदी हो गई है. 18 मार्च के बाद से ये सबसे कम आंकड़ा है. कोरोना डेथ रेट 1.7 फीसदी हो गई है. अब एक्टिव मरीजों की संख्या 10,178 हो गई है.

होम आइसोलेशन में 4888 मरीज हैं. सक्रिय कोरोना मरीजों की दर घटकर 0.71 फीसदी हो गई है. रिकवरी दर बढ़कर 97.58 फीसदी हो गया है.अब तक कुल 14,26,863 कोरोना केस सामने आए हैं. 24 घण्टे में  1423 मरीज डिस्चार्ज हुए है. कुल 13,92,386 मरीजों ने कोरोना को मात देने में सफलता हासिल की है. 24 घण्टे में हुए 70,813 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है. कंटेन्मेंट जोन्स की संख्या 18,843 हो गई है.

250 कोरोना योद्धाओं की मौत

दिल्ली में कोरोना संक्रमण से अब तक डॉक्टर्स, शिक्षक, निगम सफाई कर्मचारी और दिल्ली पुलिस के जवान समेत करीब 250 से ज्यादा कोरोना योद्धाओं की जान जा चुकी है. लेकिन दिल्ली सरकार अभी तक सिर्फ 15 ही कोरोना योद्धाओं को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि दे पाई है. दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी  के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने आरोप लगाया कि कोरोना यौद्धाओं की मृत्यु पर 1 अप्रैल, 2020 को पीड़ित परिवारों की मदद के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की 1 करोड़ की मुआवजे की घोषणा खोखली साबित हुई है.
कोरोना महामारी के भारी संकट में दिल्ली सरकार ने दिल्ली में सिर्फ 15 कोरोना यौद्धाओं को ही अपनी घोषणा के अनुसार 1 करोड़ का मुआवजा दिया है, जिनको मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पिक एंड चूज की नीति के आधार पर प्रतीकात्मक रुप से चिन्हित लोगों को यह सम्मान राशि दी गई है. उन्होंने कहा कि भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम (MCD) ने भी कोरोना यौद्धाओं को मुआवजे के रुप में 10 लाख रुपये देने की घोषणा की थी, जिसके लिए आज तक कोई पहल नही हुई.उन्होंने कहा कि दिल्लीवासियों के प्रति मुख्यमंत्री, उप-राज्यपाल और केन्द्रीय गृहमंत्री की जिम्मेदारी बनती है कि वे दिल्ली में कोविड प्रभावित लोगों व कोविड ड्यूटी के दौरान शहीद हुए है, उन्हें घोषित मुआवजा और परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज