दिल्ली: कैंसर रोगियों के इस्तेमाल में आने वाले इंजेक्शन को अपराधियों ने लूटा, 4 आरोपी गिरफ्तार
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली: कैंसर रोगियों के इस्तेमाल में आने वाले इंजेक्शन को अपराधियों ने लूटा, 4 आरोपी गिरफ्तार
चोरी के इंजेक्शन खरीदने के लिए प्रभु झा (32) को भी गिरफ्तार किया गया. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस के अनुसार, खुद को सुधीर दीक्षित के रूप में पेश कर खान ने फार्मेसी को इंजेक्शन के लिए ऑर्डर दिया. कर्मचारी जब दवा देने पहुंचा, तब उससे इंजेक्शन (Injection) लूट लिए गए.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में एक फार्मेसी कर्मचारी (Pharmacy Staff) से कैंसर रोगियों (Cancer patients) के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले 2,24,000 रुपये के छह इंजेक्शन लूटने (Injection) के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस सूत्रों ने रविवार को बताया कि इंजेक्शन खरीदने के बहाने लूट को अंजाम देने के आरोप में अमन शर्मा (26), विकास स्वामी (30) और साकिब खान (28) को गिरफ्तार किया गया है. चोरी के इंजेक्शन खरीदने के लिए प्रभु झा (32) को भी गिरफ्तार किया गया.

पुलिस के अनुसार, खुद को सुधीर दीक्षित के रूप में पेश कर खान ने फार्मेसी को इंजेक्शन के लिए ऑर्डर दिया. खान ने कैंसर रोगियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले 2,24,000 रुपये के छह इंजेक्शनों का ऑर्डर दिया था. उसने तब फार्मेसी कर्मचारी मोहम्मद अनस से लालकिले के पास ये इंजेक्शन उपलब्ध कराने को कहा. कर्मचारी जब दवा देने पहुंचा, तब उससे इंजेक्शन लूट लिए गए. पुलिस ने बताया कि मामला दर्ज किया गया और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया.

अंग्रेजी भाषा में हेडफोन लगाकर बात कर कर रहे थे
बता दें कि दिल्ली सहित एनसीआर में इन दिनों अपराध की घटनाओं में वृद्धि हुई है. बीते दिनों दिल्ली से सटे गुरुग्राम में एक फर्जी कॉल सेंटर (Call Center) का भंडाफोड हुआ था. डीएलएफ फेज-2 में चल रहे इस अवैध कॉल सेंटर के जरिए अमेरिकी नागरिकों (American Citizens) से ठगी की जा रही थी. एसीपी करण गोयल के नेतृत्व में साइबर अपराध थाना पुलिस की टीम ने फर्जी कॉल सेंटर पर छापेमार कार्रवाई की. मकान के भूतल पर बने दो कमरों में 12 लड़के अमेरिकी लहजे की अंग्रेजी भाषा में हेडफोन लगाकर बात कर कर रहे थे. पुलिस ने मौके से तीन कंप्यूटर व 1.45 लाख रुपये नकद बरामद किए थे.
अमेरिकी नागरिकों से करते थे ठगी


दरअसल, गुरुग्राम में डीएलएफ फेज-2 में टैक स्पोर्ट के नाम से संचालित फर्जी कॉल सेंटर का साइबर अपराध पुलिस टीम ने भंडाफोड़ किया था. पुलिस ने कॉल सेंटर से दो आरोपितों को गिरफ्तार करने के साथ ही कंप्यूटर व नकदी भी बरामद की थी. आरोपित अमेरिकी नागरिकों को कंप्यूटर व इंटरनेट के माध्यम से तकनीकी सहायता देने के नाम पर ठगी करते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज