दिल्ली: नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, ट्रामाडोल की 42,000 गोलियां जब्त

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. (सांकेतिक फोटो)

ट्रामाडोल (Tramadol) को स्वापक औषधि और मन:प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत नशीले पदार्थ के रूप में वर्गीकृत किया गया है और इसका उपयोग दर्द निवारक के रूप में किया जाता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने यहां कश्मीरी गेट (Kashmiri Gate) इलाके से ट्रामाडोल हाइड्रोक्लोराइड की 42,000 गोलियां जब्त करके नशीली दवाओं की तस्करी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ करने का दावा किया है. अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. ट्रामाडोल (Tramadol) को स्वापक औषधि और मन:प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत नशीले पदार्थ के रूप में वर्गीकृत किया गया है और इसका उपयोग दर्द निवारक के रूप में किया जाता है.

    पुलिस ने बताया कि दो जून की रात को कश्मीरी गेट पर वाहनों की जांच कर रही एक पुलिस टीम को एक खड़ी कार पर संदेह हुआ. कार को खड़ा किए जाने का कारण पूछे जाने पर उसमें बैठे तीन लोगों ने भागने की कोशिश की, लेकिन वे असफल रहे. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कार की तलाशी लेने पर उसमें से ट्रामाडोल हाइड्रोक्लोराइड के 74 डिब्बे मिले.

     दिल्ली में नशे के बड़े कारोबार का पर्दाफाश हुआ था
    वहीं, पिछले महीने दिल्ली पुलिस ने पांच लोगों की गिरफ्तारी और करीब 250 करोड़ रुपये की 54.2 किलोग्राम हेरोइन जब्त करने के साथ एक अंतरराष्ट्रीय नशा तस्कर गिरोह का भंडाफोड़ करने का दावा किया था. पुलिस के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी थी. उन्होंने बताया था कि गिरफ्तार किए गए पांच लोगों की पहचान अल्ताफ उर्फ मेहराजुद्दीन दर्जी, आबिद हुसैन सुल्तान, हशमत मोहम्मदी, तिफल नाउ खेज और अब्दुल्ला नजीबुल्लाह के रूप में हुई है. अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली के बाटला हाउस इलाके में एक ड्रग फैक्ट्री होने का भी दावा किया था.  दरअसल, देश की राजधानी दिल्ली में इन दिनों तस्करी के मामले बढ़ गए हैं. बीते 8 मई को भी खबर सामने आई थी कि दिल्ली में नशे के बड़े कारोबार का पर्दाफाश हुआ है.