ताऊते के चलते दिल्ली में टूटा 70 साल का रिकॉर्ड, बेमौसम बारिश से सबसे कम अधिकतम तापमान दर्ज

मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में अगले 24 घंटे में रूक-रूक कर बारिश होते रहने की संभावना जताई है (फाइल फोटो)

मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में अगले 24 घंटे में रूक-रूक कर बारिश होते रहने की संभावना जताई है (फाइल फोटो)

मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर.के जेनामणि ने कहा, 'सफदरजंग में अधिकतम तापमान 23.8 डिग्री दर्ज किया गया जो वर्ष 1951 के बाद से मई महीने में अब तक का सबसे कम अधिकतम तापमान है. यह तूफान ताऊते (Cyclone Tauktae) का असर है. देश के उत्तर-पश्चिम हिस्से में तापमान में गिरावट आने की संभावना है'

  • Share this:

नई दिल्ली. ताऊते तूफान (Cyclone Tautae) के चलते दिल्ली में बुधवार को बेमौसम की बरसात हुई. दिन भर हल्की से तेज हुई बारिश से राजधानी का अधिकतम तापमान (Maximum Temperature) 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो बीते पिछले 70 वर्षों में मई महीने में सबसे कम था. इससे पहले वर्ष 1951 में अधिकतम तापमान इससे नीचे गया था. दिल्ली (Delhi) में शाम साढ़े पांच बजे तक 31.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक अगले 24 घंटों में भी बारिश जारी रहने की संभावना है.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर.के जेनामणि ने कहा, 'सफदरजंग में अधिकतम तापमान 23.8 डिग्री दर्ज किया गया जो वर्ष 1951 के बाद से मई महीने में अब तक का सबसे कम अधिकतम तापमान है. यह तूफान ताऊते का असर है. देश के उत्तर-पश्चिम हिस्से में तापमान में गिरावट आने की संभावना है.'


दरअसल अरब सागर में ऊठे तूफान ताऊते की वजह से मंगलवार की शाम से दिल्ली-एनसीआर में शुरू हुई बारिश का दौर बुधवार को पूरे दिन जारी रहा. मौसम विभाग का कहना है कि इस समय दिल्ली-एनसीआर के आसमान में घने बादल बने हुए हैं. इस तरह के बादल सामान्य रूप से मॉनसून सीजन में ही देखने को मिलते हैं, जबकि अभी प्री-मॉनसून का दौर चल रहा है. इस समय ऐसी बारिश की संभावना बहुत कम होती है. इसे ताऊते तूफान का ही असर माना जाएगा कि दिल्ली-एनसीआर में मेघ लगातार बरस रहे हैं.
मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे दिल्ली के मौसम में बदलाव नहीं होने की संभावना जताई है. इस दौरान गुरुवार को आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश जारी रहेगी. इससे अधिकतम तापमान 30 जबकि न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस तक बना रहेगा. हालांकि, इसके बाद दिल्ली का मौसम करवट लेगा और बादल छंटने के साथ टेंपरेचर में वृद्धि होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज