होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /द्वारका में छिपे थे 437 विदेशी नागरिक, ना वीजा था और ना कोई दस्‍तावेज, दिल्‍ली पुलिस ने की यह बड़ी कार्रवाई

द्वारका में छिपे थे 437 विदेशी नागरिक, ना वीजा था और ना कोई दस्‍तावेज, दिल्‍ली पुलिस ने की यह बड़ी कार्रवाई

Illegally Stay: द्वारका जिला पुलिस ने इलाके में गैरकानूनी तरीके से रह रहे विदेशी नागरिकों के खिलाफ एक अभियान चलाया था. ...अधिक पढ़ें

Overstaying in India: कोई भारत घूमने के बहाने से आया, कोई इलाज कराने ने नाम पर आया, तो कोई पढ़ाई की बात कह राजधानी दिल्‍ली तक पहुंच गया. समय के साथ इनका वीजा तो खत्‍म हो गया, लेकिन इन्‍होंने अपने देश वापस जाने का नाम नहीं लिया. इन विदेशी नागरिकों ने दिल्‍ली पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों की पकड़ से बचने के लिए दिल्‍ली के विभिन्‍न घने और बाहरी इलाकों को अपना ठिकाना बना लिया. 

अब दिल्‍ली में बिना वैद्य वीजा और गैरकानूनी तरीके से रह रहे इन विदेशी नागरिकों के खिलाफ दिल्‍ली की द्वारका जिला पुलिस ने एक विशेष अभियान छेड़ा है. इस अभियान का असर है कि बीते दो महीनों में द्वारका जिला पुलिस ने करीब 437 ऐसे विदेशी नागरिकों की धरपकड़ की है, जो द्वारका इलाके में गैरकानूनी रूप से रह रहे थे. पकड़े गए इन विदेशी नागरिकों में सर्वाधिक 69 विदेशी नागरिक नाइजीरिया मूल के हैं.    

डिटेंशन सेंटर भेजे गए हिरासत में लिए गए विदेशी नागरिक
द्वारका जिला पुलिस उपायुक्‍त एम. हर्षवर्धन ने बताया कि जिले में गैरकानूनी तरीके से रह रहे विदेशी नागरिकों की धरपकड़ की जिम्‍मेदारी एएटीएस और एंटी नारकोटिक्‍स सेल के साथ उत्‍तम नगर, द्वारका नार्थ, मोहन गार्डन, द्वारका थाना पुलिस को दी गई थी. इस कार्रवाई में अब तक कुल 437 विदेशी नागरिकों को हिरासत में लेकर उनके दस्‍तावेजों की जांच की गई. इनमें कई ऐसे थे, जिनके पास अपने दस्‍तावेज नहीं थे. 

वहीं, जिनके पास दस्‍तावेज मिले, उनके वैद्यता समाप्‍त हो चुकी थी. पूछताछ के बाद, हिरासत में लिए गए सभी विदेशी नागरिकों को एफआरआरओ (फॉरेन रीजनल रजिस्‍ट्रेशन ऑफिस) के समक्ष पेश किया गया, जहां से सभी को डिपोर्ट करने के आदेश जारी किए गए हैं. एफआरआरओ के आदेशानुसार, गैरकानूनी तरीके से रह रहे विदेशी नागरिकों को डिटेंशन सेंटर भेज दिया गया है, जहां से डिपोर्टेंशन की प्रक्रिया जारी है. 

मकान मालिकों के खिलाफ भी होगी कार्रवाई
द्वारका जिला पुलिस उपायुक्‍त एम. हर्षवर्धन के अनुसार, उन मकान मालिकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है, जिन्‍होंने गैर कानूनी तरीके से रह रहे विदेशी नागरिकों को अपने आवास किराए पर दिए थे. उन्‍होंने बताया कि पड़के गए ज्‍यादातर विदेशी नागरिकों की उम्र 22 साल से 40 साल के बीच है. इमनें ज्‍यादातर नाइजीरियन नागरिक है.

Tags: Crime News, Delhi police, Foreigners

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें