• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली एजुकेशन बोर्ड के बच्चों को मिलेगी इंटरनेशनल लेवल की शिक्षा, विदेशों से आएंगे स्पेशलिस्ट टीचर

दिल्ली एजुकेशन बोर्ड के बच्चों को मिलेगी इंटरनेशनल लेवल की शिक्षा, विदेशों से आएंगे स्पेशलिस्ट टीचर

दिल्ली में अब बच्चों को मिलेगी इंटरनेशनल लेवल की शिक्षा, विदेश से आएंगे स्पेशलिस्ट टीचर

दिल्ली में अब बच्चों को मिलेगी इंटरनेशनल लेवल की शिक्षा, विदेश से आएंगे स्पेशलिस्ट टीचर

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों (School) में भी अब अंतरराष्ट्रीय स्तर (International Level Education) की शिक्षा मिल सकेगी. बुधवार को दिल्ली शिक्षा बोर्ड (DBSE) और इंटरनेशनल शिक्षा बोर्ड (International Education Board) के साथ एक करार (Agreement) हुआ है. इस करार के मुताबिक अब विदेशी एक्सपर्ट्स दिल्ली के स्कूलों में आ कर ट्रेनिंग देंगे.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों (School) में भी अब अंतरराष्ट्रीय स्तर (International Level Education) की शिक्षा मिल सकेगी. बुधवार को दिल्ली शिक्षा बोर्ड (DBSE) और इंटरनेशनल शिक्षा बोर्ड (International Education Board) के साथ एक करार (Agreement) हुआ है. इस करार के मुताबिक अब विदेशी एक्सपर्ट्स दिल्ली के स्कूलों में आ कर ट्रेनिंग देंगे. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इस मौके पर कहा है कि अब दिल्ली के छात्र-छात्राओं (Students) को भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा मिल सकेगी. यह दिल्लीवासियों के लिए बेहद खुशी की बात है. अब हमारे बच्चों को दिल्ली में इंटरनेशनल लेवल की शिक्षा मिल सकेगी. दिल्ली सरकार के मुताबिक डीबीएसई से एफिलेटेड होने वाले सभी प्राइवेट स्कूलों में भी यह करार लागू होगा.

दिल्ली के स्कूलों में अब मिलेगा विदेशी स्कूलों की तरह सुविधा
केजरीवाल ने इस करार के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘एक इंटरनेशनल लेवल पर शिक्षा बोर्ड है, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा प्रदान करता है और बहुत अच्छा माना जाता है. छात्रों का सपना रहता है कि हमें भी इंटरनेशनल एजुकेशन बोर्ड की शिक्षा मिलनी चाहिए. इस इंटरनेशनल लेवल के शिक्षा बोर्ड का पूरी दुनिया के अंदर साढ़े पांच हजार स्कूलों के साथ करार हो रखे हैं. इनका कुछ सरकारों के साथ भी समझौते हुए हैं. जैसे- अमेरिका, जापान, साउथ कोरिया आदि. अब दिल्ली भी इनके साथ करार किया है. दिल्ली के छात्रों को अब विदेशों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में विदेशों में जिस तरह से शिक्षा दी जाती है उसी स्तर का शिक्षा मिल सकेगा.

करार के क्या-क्या होंगे फायदे
इस मौके पर केजरीवाल ने कहा कि हमारे देश में दो तरह की शिक्षा प्रणाली है. एक अमीरों के बच्चों के लिए और दूसरी गरीबों के बच्चों के लिए. जिन बच्चों के माता-पिता के पास पैसा है, वे अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में और जो गरीब हैं वे अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में पढ़ाते हैं. इस करार के बाद अब दिल्ली के गरीब बच्चों को भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा मिलनी शुरू हो जाएगी, जिस शिक्षा के लिए बड़े-बड़े अमीरों के बच्चे तरसते हैं.

ये भी पढ़ें: Exclusive: मोदी सरकार अब नैनो यूरिया खाद का अमेरिका, यूरोप समेत कई देशों को करेगी निर्यात

केजरीवाल ने बताया कि अब दिल्ली में भी विदेशों से एक्सपर्ट आएंगे और स्कूलों के टीचर्स की ट्रेनिंग करवाएंगे. बच्चों का असेसमेंट कैसे होगा. एक्सपर्ट बताएंगे कि स्कूलों में क्या-क्या कमियां हैं और उन्हें कैसे दूर किया जाए, जिससे स्कूल अंतरराष्ट्रीय स्तर का बन सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज