लाइव टीवी

Delhi Election Result: AAP को है ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट जीतने का भरोसा
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 12:53 PM IST
Delhi Election Result: AAP को है ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट जीतने का भरोसा
सौरभ भारद्वाज ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट से से दो बार विधायक चुने जा चुके हैं.

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में जिन सीटों पर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) आंख मूंद कर भरोसा रही है उनमें से एक है, ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट (Greater Kailash Assembly Seat). ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट से अभी सौरभ भारद्वाज विधायक हैं. गौरतलब है कि सौरभ भारद्वाज यहां से दो बार विधायक चुने जा चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 12:53 PM IST
  • Share this:
प्रियंका कांडपाल 

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में जिन सीटों पर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) आंख मूंद कर भरोसा रही है उनमें से एक है, ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट (Greater Kailash Assembly Seat). ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट से अभी सौरभ भारद्वाज विधायक हैं. इस विधानसभा सीट की विशेषता यह है कि यहां का सोशियो-पॉलिटिकल नेचर बाकी दिल्ली से अलग है. ग्रेटर कैलाश को अगर दिल्ली की सबसे पॉश विधानसभा कहें तो कुछ ग़लत नहीं होगा. यहां प्रसिद्ध मार्केट्स, बिजनेस सेंटर, विभिन्‍न कंपनियों के शोरूम और चर्चित शैक्षिक संस्‍थान मौजूद हैं परंतु ग्रेटर कैलाश में सिर्फ यही नहीं बल्कि गांव भी है. गौरतलब है कि सौरभ भारद्वाज यहां से दो बार विधायक चुने जा चुके हैं.

शाहपुर मोहल्ला जाट बहुल और जमरुदपुर गुर्जर बहुल है
हालांकि ग्रेटर कैलाश विधानसभा क्षेत्र में जितनी पॉश कॉलोनियां हैं, उससे कम ही गांव और अवैध कॉलोनियां हैं. लेकिन वोटरों की संख्या गांव और अवैध कॉलोनियों में ही सबसे अधिक है. इसलिए गांव के वोटर ही पिछले कई विधानसभा चुनावों में निर्णायक भूमिका निभाते रहे हैं. यहां पॉश कॉलोनियों में पंजाबी और वैश्य वर्ग की बहुलता है. इसी तरह से शाहपुर जाट बहुल और जमरुदपुर गुर्जर बहुल है. सावित्री नगर में एससी वर्ग के लोगों की संख्या करीब 30 प्रतिशत है. इसके अलावा कुछ इलाके ब्राह्मण बहुल भी हैं.

ग्रेटर कैलाश क्षेत्र का राजनीतिक इतिहास
ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट नई दिल्‍ली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का हिस्‍सा है. दक्षिण दिल्‍ली का यह रिहाइशी इलाका 2008 में विधानसभा सीट घोषित किया गया था. परिसीमन आयोग की सिफारिशों के बाद चुनाव आयोग ने यहां पर पहले विधानसभा चुनाव संपन्‍न कराए. तब यहां से भाजपा के विजय कुमार मल्‍होत्रा ने कांग्रेस के जितेंदर कुमार कोचर को हराया और विधायक बने.

2013 के चुनाव में आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने यहां से जीत हासिल की. 2015 के चुनाव में भी वह लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए. साल 2015 के विधानसभा चुनाव में आप विधायक सौरभ भारद्वाज को 57,589 वोट प्राप्त हुए थे, जबकि बीजेपी उम्मीदवार राकेश कुमार गुल्लैया को 43,006 वोट मिले थे. वहीं कांग्रेस की शर्मिष्ठा मुखर्जी को मात्र 6102 वोट मिले थे.कुल मतदाताओं की संख्या
इस विधानसभा क्षेत्र में कुल 162,072 मतदाता हैं, जिसमें पुरुष मतदाता की संख्या 87,335 और महिलाओं मतदाताओं की संख्या 74,727 है. साल 2015 के विधानसभा चुनाव में यहां 66.69 प्रतिशत वोट पड़े थे.

इलाके में ये हैं समस्याएं
पॉश कॉलोनियों में रहने वाले लोगों का कहना है कि कॉलोनियां भले ही पॉश हो, लेकिन पानी और सीवर जैसी बुनियादी सुविधाएं अभी भी नहीं है. मुश्किल से एक या डेढ़ घंटे ही पानी आता है. सीवर ब्लॉकेज की समस्या भी है. अवैध कॉलोनियों में रहने वालों की शिकायत है पार्किंग की समस्या गंभीर है. चिराग दिल्ली में भी पानी की समस्या है.

लगातार दो बार जीत चुकी है AAP
नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के सबसे पॉश विधानसभाओं में से एक ग्रेटर कैलाश विधानसभा क्षेत्र से दो बार जीत दर्ज करने वाले आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी सौरभ भारद्वाज को टक्कर देने के लिए बीजेपी ने यहां की पार्षद शिखा राय को चुनाव मैदान में उतारा है. मुकाबला त्रिकोणिय बनाने के लिए कांग्रेस ने सुखबीर सिंह पवार को मैदान में उतारा है. हालांकि इस सीट से इस बार आप के इंजीनियर सौरभ भारद्वाज का पलड़ा भारी लग रहा है.

ये भी पढ़ें - 

नतीजों से पहले बोले मनीष सिसोदिया- बेचैनी तो है लेकिन जीत को लेकर निश्चिंत

गार्गी कॉलेज: छात्राओं ने सुनाई उस रात की आपबीती- दीवार फांदकर आए आदमी, अश्लील हरकतें कीं और...


शाहीन बाग: SC ने बच्ची की मौत का लिया संज्ञान, दिल्‍ली सरकार से मांगा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 12:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर