Home /News /delhi-ncr /

Delhi Power Peak Demand: विंटर सीजन में द‍िल्‍ली में बढ़ेगी ब‍िजली की ड‍िमांड, दो साल का टूटेगा र‍िकॉर्ड

Delhi Power Peak Demand: विंटर सीजन में द‍िल्‍ली में बढ़ेगी ब‍िजली की ड‍िमांड, दो साल का टूटेगा र‍िकॉर्ड

इस साल सर्द‍ियों में ब‍िजली की मांग में बढ़ोत्‍तरी होने की संभावना जताई गई है. (File Photo)

इस साल सर्द‍ियों में ब‍िजली की मांग में बढ़ोत्‍तरी होने की संभावना जताई गई है. (File Photo)

Delhi Power Peak Demand: इस साल सर्द‍ियों में ब‍िजली की मांग में बढ़ोत्‍तरी होने की संभावना जताई गई है. इस साल पिछले दो सालों की तुलना में ब‍िजली ड‍िमांड ज्‍यादा रहने का अनुमान लगाया गया है. दिल्ली की बिजली वितरण कंपनियों ने पिछले दो वर्षों की तुलना में इस साल सर्दियों के मौसम में राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की मांग बढ़ कर 5,400 मेगावाट पहुंचने का अनुमान लगाया है. प‍िछले साल इस मौसम में दिल्ली में बिजली की मांग 5,021 मेगावाट तक पहुंच गई थी और 2019 में यह 5,343 मेगावाट थी.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली में इस साल सर्द‍ियों में ब‍िजली की मांग में बढ़ोत्‍तरी होने की संभावना जताई गई है. इस साल पिछले दो सालों की तुलना में ब‍िजली ड‍िमांड (Power Demand) ज्‍यादा रहने का अनुमान लगाया गया है.

    दिल्ली की बिजली वितरण कंपनियों (Discom) ने पिछले दो वर्षों की तुलना में इस साल सर्दियों के मौसम में राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की मांग बढ़ कर 5,400 मेगावाट पहुंचने का अनुमान लगाया है. ड‍िस्‍कॉम अधिकारियों का कहना है क‍ि प‍िछले साल इस मौसम में दिल्ली में बिजली की मांग 5,021 मेगावाट तक पहुंच गई थी और 2019 में यह 5,343 मेगावाट थी.

    ये भी पढ़ें: BSES सूरज, हवा और पानी से बनने वाली बिजली की सप्लाई को देगी बढ़ावा, मिलेगी 3,300 मेगावॉट बिजली

    न‍िजी ब‍िजली कंपनी बीएसईएस के प्रवक्ता के मुताब‍िक पिछली सर्दियों के दौरान बीआरपीएल (BRPL) और बीवाईपीएल (BYPL) के क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड के दौरान बिजली की मांग क्रमश: 2091 मेगावाट और 1107 मेगावाट तक पहुंच गई थी. इस साल, बीआरपीएल और बीवाईपीएल को बिजली की मांग क्रमशः 2315 मेगावाट और 1140 मेगावाट तक पहुंचने की उम्मीद है.

    बिजली की विश्वसनीय आपूर्ति के लिए सटीक मांग का पूर्वानुमान महत्वपूर्ण है. यह पूर्वानुमान विभिन्न मापदंडों के आधार पर लगाया जाता है. अधिकारियों का कहना है क‍ि तापमान, वर्षा, बादल, हवा की गति और दिशा तथा आर्द्रता जैसे मौसम संबंधी मापदंड मांग के सटीक पूर्वानुमान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. किसी भी मौसम में विश्वसनीय बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने में उचित बिजली व्यवस्था के साथ-साथ सटीक मांग पूर्वानुमान और मजबूत वितरण नेटवर्क भी महत्वपूर्ण है.

    बीएसईएस के प्रवक्ता ने कहा कि इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए बीएसईएस कंपनियां सर्दियों में अपने लगभग 46 लाख उपभोक्ताओं के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

    Tags: Delhi Government, Delhi news, Delhi winter, Electricity, Free electricity, Winter season

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर