‘भारत बंद’ के लिए दिल्ली में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम, दिल्ली पुलिस ने दी यह चेतावनी

नए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब-हरियाणा समेत कई राज्यों के किसानों ने आठ दिसंबर को 'भारत बंद' बुलाया है

नए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब-हरियाणा समेत कई राज्यों के किसानों ने आठ दिसंबर को 'भारत बंद' बुलाया है

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने चेतावनी दी कि जो भी लोगों की आवाजाही बाधित करने या दुकानों को ‘जबरन’ बंद (Bharat Bandh) कराने का प्रयास करेगा, उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. जो भी सामान्य आवाजाही, जनजीवन बाधित करने का प्रयास करेगा या जबरन दुकान बंद कराएगा, उससे कानून के अनुसार सख्ती से निपटा जाएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 11:03 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों द्वारा आठ दिसंबर को बुलाए ‘भारत बंद’ (Bharat Bandh) के मद्देनजर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं. सोमवार को दिल्ली पुलिस ने चेतावनी दी कि जो भी लोगों की आवाजाही बाधित करने या दुकानों को ‘जबरन’ बंद कराने का प्रयास करेगा, उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी ईश सिंघल ने कहा कि मंगलवार को भारत बंद के दौरान सड़कों पर लोगों की सामान्य आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली पुलिस ने पर्याप्त इंतजाम किए हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने वाहनों और यात्रियों की सुचारू आवाजाही के लिए यात्रा परामर्श जारी किया है. जो भी सामान्य आवाजाही, जनजीवन बाधित करने का प्रयास करेगा या जबरन दुकान बंद कराएगा, उससे कानून के अनुसार सख्ती से निपटा जाएगा.

इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने हर व्यक्ति से आम नागरिकों और दिल्ली के निवासियों का जीवन बाधित नहीं करने की भी अपील की. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट किया कि सिंघू, औचंदी, पियाओ मनियारी, मंगेश, टीकरी और झड़ौदा बॉर्डर बंद है. उसने यह भी कहा, ‘राष्ट्रीय राजमार्ग 44 भी दोनों ओर से बंद कर दिया गया है. इसलिए यात्रा करने वालों को लामपुर, साफियाबाद और सबोली बॉर्डर का रास्ता लेने का सुझाव दिया जाता है. मुकरबा और जीटीके रोड से भी यातायात का मार्ग बदल दिया गया है.’

किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली आने वाले सभी रास्ते सील 
यातायात पुलिस ने कहा कि नोएडा की ओर जाने वालों को डीएनडी लेने की सलाह दी जाती है क्योंकि नोएडा लिंक रोड पर चिल्ला बॉर्डर बंद कर दिया गया है. उसने लिखा, ‘नोएडा लिंक रोड पर चिल्ला बॉर्डर भी गौतम बुद्ध द्वार के समीप किसानों के प्रदर्शन के चलते नोएडा से दिल्ली यातायात बंद कर दिया गया है. लोगों को दिल्ली आने के लिए नोएडा लिंक रोड से परहेज करने और डीएनडी का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है.’ साथ ही एनएच 24 पर गाजीपुर बॉर्डर भी गाजियाबाद से दिल्ली के यातायात के लिए बंद कर दिया गया है.

ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि लोगों को दिल्ली आने के लिए एनएच 24 से परहेज करने और अप्सरा/भोपरा/डीएनडी का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है. उसने कहा कि हालांकि बादुसराय बॉर्डर कार और दोहिया वाहनों जैसी छोटी गाड़ियों के लिए ही खुला है और झटीकरा बॉर्डर बस दोपहिया वाहनों के लिए खुला है. उसने कहा कि हरियाणा जाने वाले ढांसा, दौराला, कापसहेड़ा, राजोकरी एनएच-8, बिजवासन या बाजघेरा, पालम विमान या डौंडाहेरा बॉर्डर का रास्ता ले सकते हैं.

किसान संगठनों ने आठ दिसंबर को 'भारत बंद' का किया है आह्वान



बता दें कि नए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब-हरियाणा समेत अन्य राज्यों के लाखों किसान पिछले बारह दिन से दिल्ली और उसके बॉर्डर पर डटे हुए हैं. प्रदर्शनकारी किसानों ने आठ दिसंबर को ‘भारत बंद’ की घोषणा की है. साथ ही यह चेतावनी दी है कि यदि सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती तो आंदोलन तेज किया जाएगा और दिल्ली आने वाले तमाम मार्गों को रोक दिया जाएगा.

कृषि कानूनों को निरस्त (रद्द) करने की मांग पर अड़े किसानों और केंद्र सरकार के बीच पांच दौर की बातचीत हो चुकी है. मगर इस गतिरोध को खत्म करने को लेकर अभी तक कोई सहमति नहीं बन सकी है. किसानों के प्रतिनिधि अब सरकार के साथ नौ दिसंबर को छठे दौर की बातचीत करेंगे. (भाषा से इनपुट)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज