टूलकिट मामला: आरोपी निकिता जैकब और शांतुनु मुलुक को 15 मार्च तक गिरफ्तारी से राहत

पटियाला हाउस कोर्ट में टूटकिट मामले में आरोपी निकिता जैकब और शांतुनु मुलुक की दायर जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई

पटियाला हाउस कोर्ट में टूटकिट मामले में आरोपी निकिता जैकब और शांतुनु मुलुक की दायर जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) ने टूलकिट मामले (Toolkit Case) में आरोपी शांतुनु मुलुक और निकिता जैकब की अग्रिम जमानत (Bail) पर सुनवाई करते हुए उनकी अंतरिम सुरक्षा की अवधि बढ़ा दी है. साथ ही कोर्ट ने 15 मार्च तक दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा दे दी है

  • Share this:
नई दिल्ली. किसान आंदोलन (Farmers Agitation) से जुड़े टूलकिट मामले (Toolkit Case) के आरोपी शांतुनु मुलुक और निकिता जैकब की अग्रिम जमानत (Bail) पर मंगलवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) में सुनवाई हुई. कोर्ट ने शांतनु मुलुक और निकिता जैकब को अंतरिम सुरक्षा की अवधि बढ़ा दी है. साथ ही कोर्ट ने 15 मार्च तक दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा दे दी है. बता दें कि किसान आंदोलन को विश्व स्तर पर ले जाने के लिए टूलकिट तैयार करने की आरोपी निकिता जैकब ने पटियाला हाउस कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी जिसपर मंगलवार को सुनवाई हुई.

कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को निकिता की अग्रिम जमानत पर जवाब दाखिल करने के लिए समय देते हुए कहा था कि वो नौ मार्च तक अपना जवाब दाखिल कर दे. निकिता के साथ इस मामले में पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि और शांतनु मुलुक को भी आरोपी बनाया गया है. वहीं दिशा रवि को इस मामले में जमानत मिल चुकी है जबकि शांतनु को नौ मार्च तक अंतरिम राहत मिली हुई थी. जिसकी अवधि अब बढ़ा दी गई है.

Youtube Video


पटियाला हाउस कोर्ट के जज धर्मेंद्र राणा की बेंच में दायर जमानत याचिका में निकिता ने कोर्ट में दलील रखते हुए कहा था कि मुंबई हाईकोर्ट ने 17 फरवरी को उसको तीन हफ्ते के लिए राहत प्रदान की थी. याचिकाकर्ता ने यह भी कहा कि पुलिस ने उनके खिलाफ फर्जी तरीके से मामला दर्ज किया है और उन्होंने किसी भी प्रकार से कानून का उल्लंघन नहीं किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज