लाइव टीवी

Delhi Fire: मौत से पहले मुशर्रफ ने दोस्त को किया फोन- भैया आज मैं खत्म होने वाला हूं, मेरे बच्चों का ध्यान रखना

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 10:57 AM IST
Delhi Fire: मौत से पहले मुशर्रफ ने दोस्त को किया फोन- भैया आज मैं खत्म होने वाला हूं, मेरे बच्चों का ध्यान रखना
अनाज मंडी में आग लगने के बाद एकत्रित भीड़. (फाइल फोटो)

Delhi Fire: आग की लपटों से घिरे मुशर्रफ ने दोस्‍त मोनू से कहा, 'भैया आज मैं खत्म होने वाला हूं. बिल्डिंग (Building) में आग लग गई है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 10:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के अनाज मंडी (Anaj Mandi) अग्निकांड का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस ऑडियो में आग की लपटों के बीच घिरे एक युवक को अपने दोस्त से बात करते हुए सुना जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक, संकट की घड़ी में अपने दोस्त को कॉल करने वाले युवक का नाम मुशर्रफ है. आग और धुएं के बीच उसे बचने की जब कोई उम्मीद नहीं दिखी तो उसने अपने एक दोस्त को अग्निकांड के बारे में बताया. करीब साढ़े तीन मिनट के इस कॉल में मुशर्रफ ने अपने दोस्त से कहा, 'मेरे बचने की कोई उम्मीद नहीं है. मैं आग और धुएं के बीच घिर गया हूं. मेरे दोस्त मेरे परिवार और बच्चों को ध्यान रखना. अभी इस घटना के बारे में किसी को नहीं बताना.' इसके बाद मुशर्रफ की आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई.

जानकारी के मुताबिक, मुशर्रफ के दोस्त का नाम मोनू है. उसे जब आग के बीच घिरने के बाद बचने की कोई उम्मीद नहीं दिखी तो उसने मोनू को कॉल किया और घटनाक्रम के बारे में बताया. वायरल ऑडियो में कॉल रिसीव होते ही मुशर्रफ ने मोनू से कहा, 'मोनू भैया आज मैं खत्म होने वाला हूं. बिल्डिंग में आग लग गई है. आ जइयो करोलबाग. टाइम कम है और भागने का कोई रास्ता नहीं है. खत्म हुआ भैया मैं तो...घर का ध्यान रखना. अब तो सांस भी नहीं ली जा रही.'

आग कैसे लगी?
इसके बाद मोनू ने पूछा कि आग कैसे लगी? इस पर मुशर्रफ ने कहा, 'पता नहीं कैसे आग लग गई. कई सारे लोग बिलख रहे हैं. अब कुछ नहीं हो सकता है. घर का ध्यान रखना.' फिर मोनू ने कहा कि मुशर्रफ तुम फायर ब्रिगेड को फोन करो. इस पर मुशर्रफ ने कहा कि कुछ नहीं हो रहा अब.

'पानी वाले को कॉल कर दो'
इतना सुनने के बाद मोनू ने कहा कि पानी वाले को कॉल कर दो. जवाब में मुशर्रफ ने कहा कि कुछ नहीं हो सकता है. मेरे घर का ध्यान रखना. किसी को एकदम (अचानक) से मत बताना. पहले बड़ों को बताना. मेरे परिवार को लेने पहुंच जाना. तुझे छोड़कर और किसी पर भरोसा नहीं है, क्योंकि अब सांस भी नहीं ली जा रही है. इसके बाद कुछ सेकेंड के लिए आवाज थम गई.

कराहने की आवाज आईमुशर्रफ की आवाज खामोश होने के बाद मोनू 'हैलो, हैलो' करता रहा, लेकिन दूसरी तरफ से सिर्फ उल्टी करने और कराहने की आवाज आने लगी. इसके बाद मुशर्रफ ने फिर से कहा कि भैया पूरी बिल्डिंग में आग लगी दिख रही है. इतना सुनते ही मोनू कहता है कि तू मत जाना मेरे भाई, निकलने या कूदने का कोई रास्ता नहीं है क्या? मुशर्रफ ने कहा कि नहीं कोई रास्ता नहीं है. मौत से पहले मुशर्रफ को मोनू से कहते हुए सुना जा सकता है कि भाई, जैसे चलाना है वैसे मेरा घर चलाना. बच्चों और सब घर वालों को संभालकर रखना. भैया मोनू तैयारी कर ले अभी आने की.

43 लोगों की मौत
बता दें कि दिल्ली की रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी में रविवार सुबह तड़के आग लग गई थी. इस अग्निकांड में 43 लोगों की मौत हो गई. वहीं, कई लोग गंभी रूप से घायल हो गए. मरने वालों में कई बिहार के हैं. जिस पांच मंजिला इमारत में आग लगी थी, उसमें स्कूल बैग बनाया जाता था. काम करने वाले मजदूर उसी इमारत में रहते थे. वहीं, इमारत से निकलने के लिए एक ही रास्ता था. ऐसे में सभी मजदूर आग लगने के बाद भाग नहीं पाए और आग में जलकर व दम घुटने से 43 लोगों की मौत हो गई.

ये भी पढ़ें- 

Delhi Fire: 43 लोगों की मौत के बाद फरार फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

Delhi Anaj Mandi Fire: एक ही गांव के आठ लोगों की मौत, गांव में मातम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 8:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर