Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल का काम कहां तक पहुंचा? अगले 2 महीने में पूरा होगा ये बड़ा टास्क

दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल का काम कहां तक पहुंचा? अगले 2 महीने में पूरा होगा ये बड़ा टास्क

दिल्ली मेरठ गाजियाबाद रैपिड रेल के 17 किलोमीटर लंबे साहिबाबाद-दुहाई कॉरीडोर का काम दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है.

दिल्ली मेरठ गाजियाबाद रैपिड रेल के 17 किलोमीटर लंबे साहिबाबाद-दुहाई कॉरीडोर का काम दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है.

देश के पहले आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) रेल के दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ (Delhi-Ghaziabad-Meerut) कॉरिडोर के लिए ट्रैक बिछाने का काम तेजी से चल रहा है. खासकर पहले चरण में 17 किलोमीटर लंबे साहिबाबाद-दुहाई कॉरीडोर के लिए ट्रैक बिछाने का काम अंतिम चरण में है. इस कॉरिडोर का काम दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है. अब इसको लेकर आरआरटीएस प्रोजेक्ट (RRTS Project) बनाने वाली कंपनी इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (IRCON) ने विद्युत कार्यों के लिए बोलियां आमंत्रित की है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. देश के पहले आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) रेल के दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ (Delhi-Ghaziabad-Meerut) कॉरिडोर के लिए ट्रैक बिछाने का काम तेजी से चल रहा है. खासकर पहले चरण में 17 किलोमीटर लंबे साहिबाबाद-दुहाई कॉरीडोर के लिए ट्रैक बिछाने का काम अंतिम चरण में है. इस कॉरिडोर का काम दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है. अब इसको लेकर आरआरटीएस प्रोजेक्ट (RRTS Project) बनाने वाली कंपनी इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (IRCON) ने विद्युत कार्यों के लिए बोलियां आमंत्रित की है. इस रुट पर 668 पिलर हैं, जिस पर ट्रैक बिछाया जा रहा है. टेंडर में भाग लेने वाली कंपनी को दो महीने के भीतर काम पूरा करने की शर्त रखी गई है.

    बता दें कि 17 किमी लंबे पहले प्राथमिकता खंड में 13 किमी एलिवेटेड ट्रैक तैयार हो गया है. अप्रैल 2022 तक सिविल संबंधी निर्माण कार्य पूरा होने के साथ दुहाई डिपो में रैपिड ट्रेन पहुंचेगी. आरआरटीएस के मुताबिक, बोली लगाने वीला कंपनियां बिजली आपूर्ति, बिजली सबस्टेशन, केबलिंग, पावर कंट्रोल रुम, यार्ड में लाइटिंग जैसे काम को पूरा करेगी, क्योंकि नई तकनीक से ट्रैक को बिछाया जा रहा है, जिससे यात्रियों को आराम मिलेगा और ट्रेन चलते समय उन्हें किसी भी प्रकार के कंपन का अहसास भी नहीं होगा.

    दिल्ली मेरठ गाजियाबाद रैपिड रेल, दिल्ली गाजियाबाद मेरठ कॉरिडोर, गाजियाबाद समाचार, गाजियाबाद न्यूज़, RRTS Project, Delhi-Meerut-Ghaziabad Route, Ghaziabad News, Ghaziabad News Today, Ghaziabad News in Hindi, what is rrts, rrts kya hota hai, rrts connecting regional centres, regional rapid transit system, rapin train in delhi ncr, delhi ghaziabad meerut rapid train, delhi ghaziabad meerut corridor news, delhi ghaziabad meerut corridor,

    साहिबाबाद से दुहाई के बीच 17 किमी के प्राथमिकता वाले हिस्से में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो सहित 5 स्टेशन हैं.

    इरकॉन ने इसलिए जारी किया है टेंडर
    दिल्ली से आ रही रैपिड रेल अंडरग्राउंड है, जो वैशाली में आकर ऊपरी सतह पर आ जाएगी इसके लिए एक टनल बनाकर रैंप का निर्माण किया जाना है. इसकी खुदाई भी आनंद विहार की तरफ से होनी है. यह एक सबसे बड़ा काम है, जिसे लेकर वैशाली के एक बड़े हिस्से को घेर भी दिया गया है.

    17 किमी लंबे रेल ट्रैक पर बिछेगी अब बिजली की तार
    साहिबाबाद से दुहाई के बीच 17 किमी के प्राथमिकता वाले हिस्से में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो सहित 5 स्टेशन हैं. इस आरआरटीएस कॉरिडोर को मार्च 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य है. साहिबाबाद से गाजियाबाद के बीच में लगभग 296 पिलर बनने हैं, इसमें से 284 बनकर तैयार हो चुके हैं. 12 पिलर पर काम चल रहा है.

    ये भी पढ़ें: DL News: परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अब दिल्ली में वेटिंग पीरियड हो जाएगा कम!

    गौरतलब है कि पहले इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य साल 2025 तय किया गया था, लेकिन अब यह प्रोजेक्ट अपने लक्ष्य से ढाई साल पहले ही पूरा कर लिया जाएगा. अब आप मात्र 51 मिनट के भीतर मेरठ से दिल्ली तक का सफर पूरा कर सकेंगे. आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एनसीआर के लोगों को यह तोहफा दे सकते हैं. इसलिए रैपिड कॉरिडोर के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए हजारों इंजीनियरों के साथ तकरीबन 14 हजार कर्मचारी दिन-रात जुटे हुए हैं.

    Tags: Delhi-NCR News, Ghaziabad News, Indian Railway news, Meerut news, Passenger

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर