सुधर रहे दिल्ली के हालात, ठीक होने वालों की संख्या बढ़ी, कम हुआ पॉजिविटी रेट, फिर भी राहत अभी दूर

मध्य प्रदेश में कोरोना वृद्धि दर 1.8 प्रतिशत है जबकि पॉजिटिविटी रेट 15.8 प्रतिशत रह गई है (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश में कोरोना वृद्धि दर 1.8 प्रतिशत है जबकि पॉजिटिविटी रेट 15.8 प्रतिशत रह गई है (फाइल फोटो)

कोरोना की चौथी लहर में बेबस हो गई दिल्ली से एक राहत भरी खबर सामने आई है. 16 अप्रैल के बाद यहां पहली बार कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या कोविड के नए केसेज के पार चली गई. यानी राजधानी राहत की सांस ले रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस की चौथी लहर झेल रही देश की राजधानी दिल्ली की सेहत थोड़ी सुधरती हुई दिख रही है. हालांकि अभी रिकवरी की राह आसान नहीं है लेकिन आज कोरोना वायरस को लेकर जो आंकड़े आए हैं वो काफी हद तक राहत देने वाले हैं. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमितों के 12 हजार 651 मामले सामने आए हैं. ये आंकड़ा रोज आ रहे नए केसेज के मुकाबले सबसे कम है.

पॉजिटिविटी रेट भी 20 से कम पहुंचा

दिल्ली में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट भी 20 फीसदी से नीचे पहुंच गया है. पिछले 24 घंटों के आंकड़ों पर नजर डालें तो यहां पॉजिटिविटी रेट 19.10 फीसदी रिकॉर्ड किया गया है. जो 16 अप्रैल के बाद से सबसे कम है. पिछले 24 घंटे में 13 हजार 306 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है. दूसरी लहर के दौरान पहली बार ऐसा हुआ है कि रिकवरी रेट नए कोरोना केसेज से ज्यादा हुआ है.

Youtube Video

मौत के आंकड़े बने चिंता का विषय

रिकवरी रेट बढ़ा और पॉजिटिविटी रेट कम हुआ, लेकिन अब भी मौत के आंकड़े चिंता का विषय बने हुए हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोना की वजह से 319 लोगों की जान चली गई. अब तक राजधानी में कोविड के चलते 19 हजार 663 लोग जान गंवा चुके हैं. फिलहाल, दिल्ली में कोरोना वायरस के 85 हजार 258 एक्टिव केसेज मौजूद हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने इस आंकड़ों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि अभी किसी तरह की ढील देने का समय नहीं है और लोगों को भी अपनी सुरक्षा के लिए जागरूक रहना होगा.

उन्होंने बताया है कि 400 बेड के गुरु तेग बहादुर कोविड केयर सेंटर को लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल से जोड़ दिया गया है. दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी की ओर से भी दिल्ली सरकार को मेडिकल सप्लाई और इंफ्रास्ट्रक्चर मिल रहा है. सभी बेड्स ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के साथ होंगे. यहां इलाज और खाना दोनों ही पूरी तरह मुफ्त होगा.



वैक्सीनेशन अभियान भी है बड़ी चुनौती

कोरोना वायरस के खिलाफ जूझ रही दिल्ली में टीकाकरण की शुरुआत के बाद से ही लगातार वैक्सीन शॉर्टेज की दिक्कत आ रही है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड की सप्लाई डिमांड के मुकाबले काफी कम है.

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया ने केंद्र पर वैक्सीन के ऑर्डर में छेड़छाड़ करने का भी आरोप लगाया है. उनका कहना है कि मई के लिए दिल्ली सरकार ने 1 करोड़ वैक्सीन मंगाई थी, जिसे केंद्र ने 3.5 लाख कर दी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज