दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, MCD को वेतन भुगतान के लिए 1051 करोड़ रुपये किए जारी

दक्षिण दिल्ली नगर निगम, पूर्वी दिल्ली नगर निगम और उत्तरी दिल्ली नगर निगम, तीनों में भाजपा का शासन है. ( फाइल फोटो)

दक्षिण दिल्ली नगर निगम, पूर्वी दिल्ली नगर निगम और उत्तरी दिल्ली नगर निगम, तीनों में भाजपा का शासन है. ( फाइल फोटो)

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने तीनों नगर निगमों को स्वास्थ्यकर्मियों और अन्य कर्मचारियों के वेतन के भुगतान के लिये 1051 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच तीनों नगर निगमों को स्वास्थ्यकर्मियों तथा अन्य कर्मचारियों के वेतन के भुगतान के लिये 1,051 करोड़ रुपये जारी करने की शनिवार को घोषणा की. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि लॉकडाउन के चलते पैदा हुईं विकट परिस्थितियों के बावजूद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह निर्णय लिया है ताकि कोविड-19 महामारी (Covid-19 Epidemic) से लड़ने में मदद कर रहे लोगों के वेतन का भुगतान किया जा सके. आम आदमी पार्टी के नेता सिसोदिया ने आरोप लगाया कि ’'(दिल्ली नगर निगम) में कुप्रबंधन तथा भ्रष्टाचार’’ के चलते नगर निकायों के डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों को उनका वेतन नहीं मिल रहा.

दक्षिणी निगम को 251 करोड़ रुपये मिलेंगे

दक्षिण दिल्ली नगर निगम, पूर्वी दिल्ली नगर निगम और उत्तरी दिल्ली नगर निगम, तीनों में भाजपा का शासन है. सिसोदिया ने कहा, ’’दिल्ली सरकार ने तीनों नगर निगमों को महामारी के बीच कर्मचारियों के वेतन भुगतान के लिये 1,051 करोड़ रुपये जारी किये है. पूर्वी दिल्ली निगम को 367 करोड़ रुपये, उत्तरी निगम को करीब 432 करोड़ रुपये और दक्षिणी निगम को 251 करोड़ रुपये मिलेंगे.’’

राशि जारी करने के लिए पत्र लिख रहे थे
उपमुख्यमंत्री ने कहा निगमों को यह सुनिश्चित करना होगा कि इस धन का इस्तेमाल केवल कर्मचारियों के वेतन भुगतान के लिये किया जाए और इसका ’’कहीं और उपयोग’’ नहीं किया जाए. इस बीच, उत्तरी दिल्ली के महापौर जयप्रकाश ने दावा किया कि दिल्ली सरकार ने यह अनुदान तीनों निगमों द्वारा उसपर ‘भारी दबाव’ बनाने के बाद जारी किया. उन्होंने कहा कि तीनों नगर निगम मुख्यमंत्री और उप राज्यपाल को राशि जारी करने के लिए पत्र लिख रहे थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज