Delhi News: कोरोना से दिल्‍ली सरकार की लड़ाई तेज, अस्पतालों में बेड्स की संख्‍या बढ़ाने के साथ उठाया ये बड़ा कदम

दिल्‍ली में रविवार को 10 हजार से अधिक कोरोना के मामले आए थे.

दिल्‍ली में रविवार को 10 हजार से अधिक कोरोना के मामले आए थे.

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने अस्पतालों में बेड्स की संख्‍या बढ़ाने के साथ कई निजी और सरकारी अस्‍पतालों को कोविड अस्‍पताल बनाने का निर्देश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 5:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली में रविवार को कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 10774 मामले मिलने से हाहाकार मच हुआ है. इस बीच महामारी पर काबू पाने के लिए दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने आज दोपहर 12 बजे मीटिंग की. इस दौरान सीएम ने अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया है. यही नहीं, इस मीटिंग में यह भी निर्णय लिया गया कि कई सरकारी और निजी अस्पतालों को एक बार फिर से पूरी तरह से कोविड अस्पताल (Covid Hospital) बनाया जाएगा.

यही नहीं, सीएम की मीटिंग से कुछ देर पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हम बेड लगातार बढ़ा रहे हैं. पिछले एक हफ्ते में हमने 5000 बेड बढ़ाएं हैं, आज भी 50 फीसदी बेड उपलब्ध हैं. इसे हम और बढ़ा रहे हैं. वेंटिलेटर बेड पर मरीज हो सकते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही मरीज वेंटिलेटर पर हैं.

इससे पहले रविवार को दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्‍ली में कोरोना की खतरनाक लहर चल रही है.घर से बाहर तभी निकले जब बहुत जरूरी हो. साथ ही कहा,‘मैं दिल्‍ली में लॉकडाउन के पक्ष में नहीं हूं. किसी भी सरकार को लॉकडाउन तब लगाना चाहिए जब अस्पतालों की व्यवस्था कोलैप्स कर जाए. आपका सहयोग चाहिए. अगर दिल्ली में अस्पताल कम पड़ गए तो हो सकता है कि दिल्ली में लॉकडाउन न लगाना पड़ जाए. अगर आप बिना लक्षण वाले हैं और अस्पताल चले गए तो आपने एक बेड को घेर लिया. इसलिए होम आइसोलेशन का प्रोग्राम का फायदा उठाइये और अस्पताल के बेड्स सीरियस मरीजों के लिए रखिए.'

दिल्‍ली में लागू हैं ये पाबंदियां
देश की राजधानी दिल्‍ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर अरविंद केजरीवाल सरकार ने कई पाबंदियां लगा रखी हैं. नई गाइडलाइंस के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने सभी तरह के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल, सांस्कृतिक और धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है. इसके साथ ही मेट्रो, डीटीसी एवं क्लस्टर बसें 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति प्रदान की गई है. यही नहीं, अब शादी समारोह में सिर्फ 50 मेहमान ही शामिल हो सकेंगे. वहीं, दिल्‍ली में अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकेंगे.जबकि 6 अप्रैल से दिल्‍ली में नाइट कर्फ्यू भी लगा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज