शराब बिक्री से हुयी दिल्ली सरकार की बल्ले-बल्ले, जमकर कमाया मुनाफा

 दिल्ली में बुधवार से शराब सस्ती होने जा रही है. (फाइल फोटो)
दिल्ली में बुधवार से शराब सस्ती होने जा रही है. (फाइल फोटो)

कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान दिल्ली (Delhi) में शराब की बिक्री के लिये छूट मिली. उसके बाद पिछले एक महीने में दिल्ली सरकार (Delhi Government) का राजस्व बढ़कर दोगुना हो गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान दिल्ली (Delhi) में शराब की बिक्री के लिये छूट मिली. उसके बाद पिछले एक महीने में दिल्ली सरकार (Delhi Government) का राजस्व बढ़कर दोगुना हो गया है. राजस्व में वृद्धि के कारणों में वैट के दरों में हुयी बढ़ोतरी भी शामिल है. दरअसल, दिल्ली के इकोनॉमी को खोलने के लिये थोड़ी सी राहत दी गयी. उसके बाद शराब पर कोरोना फीस भी लगाया दिया गया. टैक्स की रेट बढ़ने के बावजूद शराब के शौकीनों को इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ा. मई के पहले तीन सप्ताह में दिल्ली सरकार को पिछले महीने की तुलना में दोगुना टैक्स का लाभ हुआ है. दिल्ली की शहरी सरकार ने 23 मई तक 323 करोड़ रुपये टैक्स की वसूली की है. हालांकि पिछले साल मई में हुई टैक्स वसूली की तुलना में ये उसका लगभग 20 प्रतिशत ही है. .

शराब की एमआरपी पर लगी स्पेशल कोरोना फी
इस महीने की शुरुआत में सरकार ने शराब की बोतलों के एमआरपी पर 70 प्रतिशत स्पेशल कोरोना फी लगाई थी. इसके अलावा डीजल औऱ पेट्रोल की कीमतों पर 30 प्रतिशत की नई वैट दर लागू की गयी. इससे पहले ये दर डीजल पर 16.75 प्रतिशत और पेट्रोल पर 27 प्रतिशत थी. इससे दिल्ली सरकार को ज्यादा राजस्व वसूली की उम्मीद है.

केवल 15 दिनों में स्पेशल लिक्वर फी से 100 करोड़ की हुई आमदनी
सूत्रों ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि एक्ससाइज डिपार्टमेंट ने 15 दिनों के अंदर स्पेशल कोरोना फी के तौर पर करीब 100 करोड़ रुपये की वसूली की. जब केंद्र सरकार ने लॉकडाउन 4.0 के दौरान कुछ रियायत देने का ऐलान किया उसके बाद 4 मई से डिपार्टमेंट 150 शराब की दुकानें दिल्ली में खोल पाया. उसके अगले दिन इस नये टैक्स को लागू किया गया था. माना जा रहा है कि शराब की कुछ और दुकानें शनिवार से खुल सकती हैं. अधिकारियों का कहना है कि इससे बतौर टैक्स सरकार को ज्यादा कमाई होगी.



मनीष सिसोदिया ने कही थी ये बात
दिल्ली सरकार ने पेट्रोल और डीजल के अलावा शराब पर भी टैक्स बढ़ा दिया था. उसके बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा था कि कठिन समय में कठिन समाधान की जरूरत होती है. अपने एक ट्वीट में सिसोदिया ने लिखा वित्त मंत्री के रूप में यह उनके लिए एक सीख है. दरअसल, लंबे समय तक लॉकडाउन लागू रहने के कारण दिल्ली सरकार को बड़े पैमाने पर राजस्व की हानि हुई. माना जा रहा है कि इसी कारण सरकार ने इस तरह का कठोर फैसला लिया था.

 

ये भी पढ़ें:  बिहार के लोगों के लिए आज दादरी से चलेंगी 4 ट्रेनें, जानें टाइम-टेबल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज