SC में नहीं शुरू कर सकते Corona Center, हमारे पास नहीं हैं लोग और इंफ्रास्ट्रक्चरः दिल्ली सरकार

सुप्रीम कोर्ट के नए परिसर में करोना सेंटर शुरू करने में दिल्ली सरकार ने असमर्थता जाहिर की है.

सुप्रीम कोर्ट के नए परिसर में करोना सेंटर शुरू करने में दिल्ली सरकार ने असमर्थता जाहिर की है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के नए परिसर में करोना सेंटर (Corona Center) शुरू करने में दिल्ली सरकार (Delhi government) ने असमर्थता जाहिर की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 11:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के नए परिसर में करोना सेंटर (Corona Center) शुरू करने में दिल्ली सरकार (Delhi government) ने असमर्थता जाहिर की है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने कहा है कि नया कोरोना सेंटर शुरू करने के लिए हमारे पास मैन पावर और इन्फ्रास्ट्रक्चर (Manpower and Infrastructure) की कमी है. बता दें कि देश में कोरोना की भयावहता को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट के नए भवन में जजों, वकीलों और कर्मचारियों के लिए एक कोरोना सेंटर शुरू करने की मांग पिछले कई दिनों से की जा रही थी. दिल्ली सरकार के मना करने के बाद अब सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने इसके लिए गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल से मदद मांगी है.

सुप्रीम कोर्ट में कोरोना सेंटर शुरू करने में दिल्ली सरकार है असमर्थ

सुप्नीम कोर्ट बार एसोसिएशन की तरफ से पिछले कई दिनों से सुप्रीम कोर्ट के परिसर में ही कोरोना अस्पताल शुरू करने की मांग हो रही थी. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एन वी रमना ने सुप्रीम कोर्ट की नई बिल्डिंग में करोना सेंटर खोलने की इजाजत भी दे दी, लेकिन दिल्ली सरकार ने कहा कि इस सेंटर को चलाने में असमर्थ हैं. इसलिए फिलहाल ये सेंटर शुरू नही हो पाएगा.

corona hospital in supreme court, Delhi government, Corona Center, Kejriwal government, lack of manpower and infrastructure, delhi govt, vikas singh, supreme court bar council,Supreme Court Bar Association सुप्रीम कोर्ट, नए परिसर में करोना सेंटर, दिल्ली सरकार, केजरीवाल सरकार, मैन पावर, इन्फ्रास्ट्रक्चर, विकास सिंह, सुप्रीम कोर्ट बार कांउसिल, सुप्रीम कोर्ट में नहीं शुरू होंगे कोरोना सेंटर, मुख्य न्यायाधीश, चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया
गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल से सुप्रीम कोर्ट में सेंटर शुरू करने की रिक्वेस्ट की है.

बार एसोसिएशन ने ये कहा

दिल्ली सरकार के मना करने के बाद सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने इस पर प्रतिक्रिया दी है. सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह का कहना है कि दिल्ली सरकार के नुमाइंदों ने सुप्रीम कोर्ट की नई बिल्डिंग का मुआयना किया. अधिकारियों ने बिल्डिंग को करोना सेंटर के लिए सही पाया और वहां सेंटर शुरू करने की इजाजत दे दी, लेकिन दिल्ली सरकार ने वहां किसी भी तरह की मदद करने से साफ इंकार कर दिया है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में काल बन रहा Corona, 24 घंटे में 395 लोगों की मौत, 24, 235 नए मामले



गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल से की अपील

विकास सिंह ने एक लिखित बयान में कहा की दिल्ली सरकार का कहना है की उनके पास सेंटर चलाने के लिए कोई मैन पावर नही है और न ही सरकार वहा कोई इन्फ्रास्ट्रक्चर दे सकती है. इसके बाद एसोसिएशन ने गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल से सुप्रीम कोर्ट में सेंटर शुरू करने की रिक्वेस्ट की है. इस सेंटर में सुप्रीम कोर्ट अपने स्टाफ और वकीलों के लिए करोना के इलाज की सुविधा देना चाहता था, क्योंकि अस्पतालों में दाखिला मुश्किल हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज