• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Corona Vaccination: दिल्ली के पास 4 दिन का वैक्सीन स्टॉक, लेकिन बंद हो गए 277 से वैक्सीनेशन सेंटर, जानिए इसकी बड़ी वजह?

Corona Vaccination: दिल्ली के पास 4 दिन का वैक्सीन स्टॉक, लेकिन बंद हो गए 277 से वैक्सीनेशन सेंटर, जानिए इसकी बड़ी वजह?

दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन डोज का अगले 4 दिनों तक का स्टॉक  उपलब्ध है. 

दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन डोज का अगले 4 दिनों तक का स्टॉक  उपलब्ध है. 

Covid Vaccination Centers: कोरोना की थर्डवेव (Third wave of Corona) से बचाने के लिए पूरी दिल्ली को जल्द से जल्द वैक्सीनेट कराने की हरसंभव कोशिश में जुटी हुई है. दूसरी तरफ संचालित वैक्सीनेशन सेंटरों की संख्या भी लगातार घटा रही है. करीब एक सप्ताह से 277 से ज्यादा सेंटर बंद चल रहे हैं. वहीं इनके अगले 2-3 दिनों तक और‌ नहीं खुलने की‌ संभावना है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) कोरोना की थर्डवेव (Third wave of Corona) से बचाने के लिए पूरी दिल्ली को जल्द से जल्द वैक्सीनेट कराने की हरसंभव कोशिश में जुटी हुई है. दूसरी तरफ संचालित वैक्सीनेशन सेंटरों (Vaccination Centers) की संख्या भी लगातार घटा रही है.

    करीब एक सप्ताह से 277 से ज्यादा सेंटर बंद हो गये हैं. वहीं इनके अगले 2-3 दिनों तक और‌ नहीं खुलने की‌ संभावना है. जबकि दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन डोज का अगले 4 दिनों तक का स्टॉक  उपलब्ध है.

    दिल्ली सरकार के दिल्ली कोविड-19 वैक्सीनेशन बुलेटिन की माने तो 29 जुलाई तक दिल्लीभर में 600 600 जगहों पर 1097 वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किए हुए हैं इन सभी सेंटर्स पर हर रोज 177443 लोगों को वैक्सीनेशन करने की क्षमता है. वहीं अब तक 98,37,195 लोगों को वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं. पहली डोज 73,36,519 को और 25,00,676 को वैक्सीन की सेकंड डोज दी जा चुकी है.

    ये भी पढ़ें: COVID-19 in India: फिर बढ़ने लगे कोरोना के केस, 24 घंटे में मिले 44230 नए मरीज, 555 की मौत

    इस बीच देखा जाए तो दिल्‍ली में कोविशील्‍ड के सीमित स्‍टॉक को देखते हुए सभी कोरोना वैक्‍सीनेशन सेंटर (Corona Vaccination Centres) को आदेश दिया गया था है कि वैक्‍सीन के लिए ऑनलाइन या वॉक इन के सभी 100 फीसदी स्‍लॉट को कोविशील्‍ड की दूसरी डोज लेने वालों के लिए आरक्षित कर दिया जाए. यह आदेश 31 जुलाई  प्रभावी रहेगा.

    स्वास्थ्य विभाग की ओर से निकाले गए आदेश के बाद से सरकारी वैक्‍सीनेशन सेंटरों पर कोविशील्‍ड (Covishield) की पहली डोज नहीं लगाई जा रही है. पहली डोज का स्‍लॉट लेने के लिए लोगों को अभी दो-तीन दिन और इंतजार करना पड़ेगा. वहीं जब कोविशील्‍ड वैक्‍सीन उपलब्‍ध हो जाएंगी तभी पहली डोज फिर से लगाई जाएगी.

    ये भी पढ़ें: किस तरह पैदा होता है कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, नई स्टडी में हुआ खुलासा

    अब सिर्फ 600 जगहों पर चल रहे 1097 सेंटर्स
    बताते चलें कि दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए आदेश से पहले दिल्लीभर में 763 जगहों पर 1,374 वैक्सीनेशन सेंटर चल रहे थे. वहीं, इन सेंटर्स की हर रोज 2,26,552 लोगों को वैक्सीनेट करने की क्षमता थी. लेकिन अब 763 की जगह घटकर सिर्फ 600 जगहों पर 1097 सेंटर्स ही संचालित हो रहे हैं.

    कोविशील्ड वैक्सीन की सिर्फ 18-44 उम्र के लोगों को ही लगेगी सेकंड डोज
    वैक्सीनेशन बुलेटिन की माने तो 4 दिन का वैक्सीन स्टॉक बचा है. लेकिन कोविशील्ड वैक्सीन सिर्फ 18 से 44 उम्र के लोगों को ही लगाई जाएगी जो आने वाले सप्ताह में सेकंड डोज के लिए योग्यता रखते हैं. स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि 31 जुलाई तक सिर्फ कोविशील्ड सेकंड डोज के लिए ही प्रयोग में ली जाएगी.

    ये भी पढ़ें: Corona Vaccine: Biological E को नहीं मिली बच्चों पर वैक्सीन ट्रायल करने की अनुमति, SEC ने मांगा और डेटा

    साथ ही विभाग का कहना है कि कोवाक्सिन का सिर्फ 20 पर्सेंट ही स्टॉक है जोकि फर्स्ट डोज के लिए प्रयोग होगा. इसकी नियमित सप्लाई नहीं होने की वजह से स्टॉक बहुत ही सीमित मात्रा में उपलब्ध है.

    वैक्सीन की कमी की वजह से पहले भी‌ बंद करने पड़े 500 से ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर 
    दिल्ली सरकार का यह भी कहना है कि वैक्सीन की कमी की वजह से दिल्ली में इससे पहले भी 500 से ज्यादा वैक्सीनेशन सेंटर को बंद करना पड़ा है. लेकिन जैसे ही वैक्सीन मिल जाती है इन सभी सेंटर को फिर से खोल दिया जाता है. सरकार के पास वैक्सीनेशन की क्षमता है और उसको, तीन से चार लाख वैक्सीन रोजाना चाहिए.

    सरकार का दावा यह भी है कि वैक्सीन मिल जाए, तो खूब वैक्सीन लगाने के लिए तैयार हैं. वैक्सीन की कमी के चलते ही बार-बार वैक्सीनेशन सेंटर को बंद करना पड़ रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज