12वीं पास स्‍वास्‍थ्‍य सहायकों के लिए दिल्‍ली सरकार का लंबा प्‍लान, कोरोना के बाद मिलेगा ये मौका

दिल्‍ली सरकार कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए 5000 पैरामेडिकल स्‍वास्‍थ्‍य सहायक तैयार कर रही है.

दिल्‍ली सरकार इन स्वास्थ्य सहायकों या सामुदायिक नर्सिंग सहायकों को ‘नर्सिंग’ और स्वास्थ्य रक्षक के तौर पर इस्‍तेमाल करेगी. दिल्‍ली सरकार से ट्रेनिंग लेने के बाद भविष्य में यदि कोई मेडिकल इमरजेंसी या आपदा होती है तो इनकी तैनाती सिविल डिफेंस वॉलिंटियर्स की तरह सामुदायिक नर्सिंग सहायक के तौर पर की जाएगी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए दिल्‍ली सरकार की ओर से तैयारी की जा रही है. इसी क्रम में अब दिल्‍ली सरकार ने राजधानी के युवाओं को इस आपदा में सहयोग करने के लिए तैयार करने जा रही है. हाल ही में दिल्‍ली सरकार ने 5000 हेल्थ अस्टिटेंट ( Health Assistants) तैयार करने की एक बहुत महत्त्वाकांक्षी योजना की घोषणा की है.

    दिल्‍ली सरकार इन युवाओं को 15 दिन की ट्रेनिंग के बाद कोरोना महामारी की तीसरी लहर में इस्‍तेमाल करेगी. सरकार का इन्‍हें आईपी यूनिवर्सिटी ये ट्रेनिंग दिलवाने के साथ ही  दिल्ली के 9 बड़े मेडिकल इंस्टीट्यूट में बेसिक ट्रेनिंग दिलवाने की योजना है. हालांकि एक और जो बड़ी बात है वह यह है कि दिल्‍ली सरकार इनका इस्‍तेमाल सिर्फ कोरोना की तीसरी लहर के बजाय आगे भी करने की प्‍लानिंग कर रही है.

    इन पांच हजार युवाओं को ट्रेनिंग लेने के लिए 12वीं पास होना जरूरी है. इसके लिए आवेदन प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है. जिसके लिए युवाओं को ऑनलाइन एक फॉर्म भरना है. जिसमें अपनी बेसिक जानकारियों से लेकर शैक्षिक जानकारियां भरनी हैं. इस योजना में पहले आओ पहले पाओ का विकल्‍प रखा गया है. सरकार के मुताबिक भविष्‍य में भी यह ट्रेनिंग काफी काम आने वाली है.

    भविष्‍य की आपदाओं में बनेंगे वॉलंटियर्स

    दिल्‍ली सरकार इन स्वास्थ्य सहायकों या सामुदायिक नर्सिंग सहायकों को ‘नर्सिंग’ और स्वास्थ्य रक्षक के तौर पर इस्‍तेमाल करेगी. दिल्‍ली सरकार से ट्रेनिंग लेने के बाद भविष्य में यदि कोई मेडिकल इमरजेंसी या आपदा होती है तो इनकी तैनाती सिविल डिफेंस वॉलिंटियर्स की तरह सामुदायिक नर्सिंग सहायक के तौर पर की जाएगी. ये न केवल आपदा के दौरान मदद करेंगे बल्कि मेडिकल या नर्सिंग की जरूरतों को भी पूरा करेंगे. ये डॉक्‍टरों के सहायक के रूप में काम करेंगे.

    दिल्‍ली सरकार का मानना है कि देशभर में अक्‍सर कहीं न कहीं कोई आपदा आती रहती है. जिसमें सेना और एनडीआरएफ की टीमों के अलावा मेडिकल और नर्सिंग स्‍टाफ की जरूरत पड़ती ही है. ऐसे में अगर ये पांच हजार युवा अब कोरोना के दौरान तैयार हो जाएंगे तो ये भविष्‍य में किसी भी आपदा में मदद के लिए सहयोग कर सकेंगे. सरकार का कहना है कि यह एक अच्‍छा कदम है. युवाओं की यह टीम आने वाले समय में भी उपयोगी साबित होगी.

    यहां करा सकते हैं रजिस्‍ट्रेशन

    दिल्‍ली सरकार ने इसके लिए आज से आवेदन करने के लिए लाइनें खोली हैं. आवेदक आज यानी 17 जून से लेकर 22 जून के बीच रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. रजिस्ट्रेशन दिल्ली सरकार की Delhifightscoron.in के अलावा हेल्थ विभाग की वेब साइट www.health.delhigovt.nic.in या www.revenue.delhi.gov.in या फिर दिल्ली कोरोना मोबाइल एप (प्ले स्टोर/एप स्टोर पर उपलब्ध है) पर किया जा सकता है. स्वास्थ्य सहायकों की ट्रेनिंग 28 जून से शुरू हो जाएगी।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.