Home /News /delhi-ncr /

Dengue Cases in Delhi: सरकारी अस्‍पतालों में डेंगू मरीजों के ल‍िए 11 हजार बेड, सीएम बोले-नहीं रहेगी बेड्स की कमी

Dengue Cases in Delhi: सरकारी अस्‍पतालों में डेंगू मरीजों के ल‍िए 11 हजार बेड, सीएम बोले-नहीं रहेगी बेड्स की कमी

द‍िल्‍ली सरकार की ओर से डेंगू मरीजों के ल‍िए अस्‍पतालों में करीब 11 हजार से ज्‍यादा बेड की व्‍यवस्‍था की हुई है.(सांकेतिक तस्वीर)

द‍िल्‍ली सरकार की ओर से डेंगू मरीजों के ल‍िए अस्‍पतालों में करीब 11 हजार से ज्‍यादा बेड की व्‍यवस्‍था की हुई है.(सांकेतिक तस्वीर)

Dengue Cases in Delhi: द‍िल्‍ली सरकार अस्‍पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों के ल‍िए बेड की कमी नहीं हो, इसका विशेष ख्‍याल रखे हुए है. द‍िल्‍ली सरकार की ओर से डेंगू मरीजों के ल‍िए अस्‍पतालों में करीब 11 हजार से ज्‍यादा बेड की व्‍यवस्‍था की हुई है. साथ ही द‍िल्‍ली के मुख्‍समंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने डेंगू मरीजों के ल‍िए अस्‍पताल में बेड की कमी नहीं होने की बात भी कही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्ली में ज‍िस तरह से डेंगू (Dengue) और मलेर‍िया (Malaria) के मामले में तेजी से बढ़ने लगे हैं. इसके बाद द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) और स्‍थानीय न‍िकाय (Local Bodies) भी और ज्‍यादा गंभीर हो गई हैं. द‍िल्‍ली सरकार अस्‍पतालों (Hospitals) में भर्ती होने वाले मरीजों के ल‍िए बेड की कमी नहीं हो, इसका विशेष ख्‍याल रखे हुए है. द‍िल्‍ली में अब तक 1,006 डेंगू के मामले र‍िकॉर्ड क‍िए जा चुके हैं.

    द‍िल्‍ली सरकार की ओर से डेंगू मरीजों के ल‍िए अस्‍पतालों में करीब 11 हजार से ज्‍यादा बेड की व्‍यवस्‍था की हुई है. साथ ही द‍िल्‍ली के मुख्‍समंत्री अरव‍िंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने डेंगू मरीजों (Dengue Patients) के ल‍िए अस्‍पताल में बेड की कमी नहीं होने की बात भी कही है.

    डेंगू के बढ़ते मामलों पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि डेंगू मरीजों के लिए अस्पतालों में क‍िसी भी सूरत में बेड की कमी नहीं होगी. वहीं अगर कोई अस्पताल इस मामले में गड़बड़ी करता है तो उसको दुरूस्‍त क‍िया जाएगा. उन्‍होंने यह भी कहा क‍ि द‍िल्‍ली में डेंगू से अभी एक मरीज की मृत्यु हुई है. लेकिन डेंगू की स्थिति पूरी तरह से न‍ियंत्रण में है , भले ही डेंगू के मामलों में इजाफा र‍िकार्ड क‍िया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें: OMG: दिल्ली में डेंगू के डर से 4000 रुपये लीटर बकरी का दूध खरीद रहे लोग

    सीएम केजरीवाल ने अपील की क‍ि सभी अपने घरों में डेंगू के बचाव के ल‍िए एहति‍यातन कदम उठाएं. उन्होंने कहा क‍ि सभी लोग अपने घरों और घरों के आसपास मच्छर नहीं पैदा होने दें. मुख्यमंत्री ने दिल्ली सरकार की ओर से चलाए जा रहे डेंगू विरोधी अभियान में लोगों से जुड़ने के लिए भी कहा. उन्होंने कहा कि यह अभियान आप का है और आपके और आपके परिवार की डेंगू से सुरक्षा के लिए है. अब अधिकतर दिल्लीवासी अभियान से जुड़ चुके हैं और दिल्ली अब डेंगू के खिलाफ अपनी लड़ाई को जीतने के बहुत नजदीक है.

    बताते चलें क‍ि डेंगू की रोकथाम के ल‍िए द‍िल्‍ली सरकार की ओर से इस साल भी डेंगू विरोधी 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट, हर रविवार डेंगू पर वार अभियान चलाया जा रहा है. दिल्ली सरकार की ओर से विभिन्न माध्यमों से भी अभियान के साथ जुडक़र हर रविवार को अपने घर के कूलर, गमलों आदि का साफ पानी बदलने और आसपास जमा पानी की सफाई करने के लिए भी जागरुक कर रही है.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली में डेंगू के बढ़ते मामलों के चलते अस्पतालों में कम पड़ गए बेड, सरकार ने दिया ये बड़ा आदेश

    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है क‍ि पिछले 7 सालों में डेंगू के सबसे कम मामले 2019 में थे और इस बार डेंगू के मामले 2019 के बराबर चल रहे हैं. इससे परेशान होने की कोई बात नहीं है. साथ ही जैन ने कहा कि दिल्ली के बाहर से आने वाले मरीजों का भी शहर के अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है.

    वहीं, अस्पतालों में डेंगू के मरीजों के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ा दी गई है. दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में करीब 11,000 बिस्तर उपलब्ध हैं. कोविड की दूसरी लहर के दौरान कुल 30,000 बिस्तरों की व्यवस्था की गई थी और उसी बुनियादी ढांचे के कारण दिल्ली के अस्पतालों में बिस्तरों की कोई कमी नहीं है.

    Tags: Availability of beds in hospital, Bed in Hospitals, CM Arvind Kejriwal, Delhi Government, Delhi Hospital, Dengue, Dengue in Delhi, Government Hospital

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर