Home /News /delhi-ncr /

Anti Dust Campaign: द‍िल्‍लीभर में 286 साइट्स फैला रही प्रदूषण, ठोका 90 लाख का जुर्माना

Anti Dust Campaign: द‍िल्‍लीभर में 286 साइट्स फैला रही प्रदूषण, ठोका 90 लाख का जुर्माना

DPCC की टीमों ने 286 निर्माण स्थलों पर मानदंडों का उल्लंघन पाए जाने पर करीब 90 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है. (File Photo)

DPCC की टीमों ने 286 निर्माण स्थलों पर मानदंडों का उल्लंघन पाए जाने पर करीब 90 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है. (File Photo)

Air Pollution in Delhi: द‍िल्‍ली प्रदूषण न‍ियंत्रण समि‍त‍ि की टीमों ने अब तक 1105 निर्माण स्थलों का दौरा किया है. इस दौरान 286 निर्माण स्थलों पर मानदंडों का उल्लंघन पाए जाने पर करीब 90 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है. उन्होंने कहा कि डीपीसीसी की टीमों को मानदंडों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और प्रतिदिन कार्रवाई की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली में वायु प्रदूषण (Air Pollution) फैलाने वाली एजेंस‍ियों पर लगातार नकेल कसी जा रही है. दिल्ली सरकार (Delhi Government) की ओर से वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए चलाए जा रहे एंटी डस्ट अभियान (Anti Dust Campaign) के तहत जारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने पर निर्माण एजेंसियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है. पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने सभी से अपील करते हुए कहा कि निर्माण एजेंसियां मानदंडों का पालन करते हुए विकास कार्य करें. मानदंडों का उल्लंघन होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली प्रदूषण न‍ियंत्रण समि‍त‍ि (DPCC) की टीमों ने अब तक 1105 निर्माण स्थलों का दौरा किया है. इस दौरान 286 निर्माण स्थलों पर मानदंडों का उल्लंघन पाए जाने पर करीब 90 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है. उन्होंने कहा कि डीपीसीसी की टीमों को मानदंडों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और प्रतिदिन कार्रवाई की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है.

    ये भी पढ़ें: Delhi Air Pollution: प्रदूषण फैलाने वाली कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स पर लगा 53 लाख का जुर्माना, यहां पर न‍ियमों का हो रहा था घोर उल्‍लंघन 

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के लोगों की सांसों पर वायु प्रदूषण का जो संकट आने की संभावना है. उससे उन्हें बचाने के लिए एंटी डस्ट अभियान चलाया जा रहा है. सभी एजेंसियां निर्माण कार्य से संबंधित दिल्ली सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए विकास कार्य करें, ताकि प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई को मजबूती से आगे बढ़ाया जा सके.

    पर्यावरण मंत्री ने आगे कहा कि सभी टीमों को प्रतिदिन की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही, यह भी निर्देश दिए गए हैं कि धूल प्रदूषण करने वाली हर एक एजेंसी पर सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि धूल प्रदूषण को नियंत्रित किया जा सके.

    ये भी पढ़ें: TERI की स्‍टडी में बड़ा खुलासा- व‍िंटर सीजन में Air Pollution से घुटने लगता है बच्‍चों-बुजुर्गों का दम

    ऐप पर कर सकते हैं प्रदूषण करने वालों की शिकायत
    दिल्ली सरकार ने दिल्ली वालों से भी प्रदूषण पैदा करने वालों की शिकायत करने के लिए ग्रीन दिल्ली एप लांच किया है, ताकि लोगों कहीं भी किसी भी तरह का प्रदूषण होता देंखे, तो उसकी शिकायत ऐप के जरिए सरकार से कर सकें. ऐप पर आने वाली शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई की जाती है. सभी अपील है सभी लोग अपने मोबाइल में ग्रीन दिल्ली एप को डाउनलोड कर लें, ताकि वे प्रदूषण पैदा करने वालों की शिकायत कर सकें.

    ये भी पढ़ें: Delhi: पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने वाहन चालकों को रेड लाइट पर भेंट क‍िए गुलाब के फूल, गाडी ऑफ की अपील 

    निर्माण साइटों पर 14 नियमों का लागू करना है अनिवार्य
    पर्यावरण मंत्री ने धूल प्रदूषण को नियंत्रित करने को लेकर सभी सरकारी निर्माण एजेंसियों के साथ 14 सितंबर को और निजी निर्माण एजेंसियां के साथ 17 सितंबर को बैठक की थी. उस दौरान किसी भी निर्माण साइट पर क्या-क्या तैयारी करनी है, उसके संबंध में 14 सूत्रीय एजेंडे पर विचार विमर्श किया गया था. उसके बाद 21-22 सितंबर को सार्वजनिक नोटिस जारी किया गया था कि निर्माण साइटों पर इन 14 नियमों को लागू करना जरूरी है. इसके बाद 2 अक्टूबर को सभी को रिमाइंडर भेजा गया था.

    Tags: Arvind kejriwal, Delhi air pollution, Delhi Government, Delhi news, Delhi pollution, Delhi-NCR Pollution, Gopal Rai

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर