Lockdown: कोटा से छात्रों को वापस लाने की व्यवस्था कर रही है दिल्ली सरकार- अरविंद केजरीवाल
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown: कोटा से छात्रों को वापस लाने की व्यवस्था कर रही है दिल्ली सरकार- अरविंद केजरीवाल
कोविड- 19 के रेड जोन निर्धारित करने के लिए दिल्ली सरकार ने चलाया अभियान (फाइल फोटो )

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को कहा कि सरकार जल्द ही दिल्ली के छात्रों को राजस्थान (Rajasthan) के कोटा से वापस लाने की व्यवस्था कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 4:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी के उन छात्रों को वापस लाने के प्रबंध कर रही है, जो लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से राजस्थान के कोटा में फंसे हैं. अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली सरकार कोटा में फंसे दिल्ली के छात्रों को जल्द वापस लाने के लिए प्रबंध कर रही है.’ दिल्ली विधानसभा में नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने भी केजरीवाल को पत्र लिखकर कोटा में फंसे दिल्ली के छात्रों को जल्द वापस लाने की मांग की थी.
इसके अलावा दिल्‍ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा कि दिल्‍ली सरकार और पुलिस दूसरे प्रदेश के लोगों के आवागमन के लिए तौर-तरीकों को अंतिम रूप दे रही है.  हम विभिन्न राज्यों के निवासी आयुक्तों के संपर्क में हैं. हालांकि यात्रा के लिए लोगों को अपना पंजीकरण कराना होगा. कृपया अफवाहों पर ध्यान न दें.


अब तक 23 हजार छात्र हुए रवाना
कोटा से अब तक तकरीबन 23 हजार छात्र अपने-अपने घरों के लिए रवाना हो चुके हैं. इसमें सबसे अधिक उत्तर प्रदेश के 11 हजार से अधिक स्टूडेंट थे. इसके बाद उत्तराखंड, गुजरात, मध्य प्रदेश, दमन-दीव, दादर-नागर हवेली, पंजाब-चंडीगढ़, असम, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख तथा राजस्थान के स्टूडेंट हैं.



दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से लॉकडाउन के कारण राजस्थान के कोटा में फंसे दिल्ली के छात्रों को राष्ट्रीय राजधानी वापस लाने के लिए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया था. मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में बिधूड़ी ने कहा था कि राजस्थान का कोटा शिक्षा का एक प्रसिद्ध केन्द्र है जहां प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए विभिन्न राज्यों से बच्चे जाते हैं. उन्होंने लिखा था, ‘अधिकतर राज्य सरकारों ने लॉकडाउन के कारण उन छात्रों की समस्याओं को देखते हुए अपने-अपने राज्यों के बच्चों को वहां से निकालने के लिए प्रबंध किए हैं.’ उन्होंने पत्र में कहा, ‘इसलिए मैं आपसे कोटा में फंसे दिल्ली के छात्रों को वापस लाने के लिए उचित प्रबंध किए जाने का अनुरोध करता हूं.’

दिल्ली के सैकड़ों बच्चे वहां फंसे हुए हैं
बिधूड़ी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, असम और गुजरात की राज्य सरकारों ने अपने-अपने छात्रों को वापस लाने के वास्ते कोटा में बसों को भेजा है और दिल्ली सरकार को भी यही करना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘जानकारी के अनुसार, दिल्ली के सैकड़ों बच्चे वहां फंसे हुए हैं. इसलिए उन्हें वापस लाने के लिए समुचित प्रबंध किए जाने चाहिए.’ उन्होंने कहा कि कोटा में फंसे हुए छात्रों के अभिभावक परेशान हैं और उन्होंने सरकार से अपने बच्चों को वापस लाने के लिए मदद करने का अनुरोध किया है.

ये भी पढ़ें -
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज