• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Covid 19 Third Wave: थर्ड वेब में 37 हजार केस आने की संभावना, अस्थायी अस्‍पतालों में बन रहे ICU व वेंटिलेटर बेड्स

Covid 19 Third Wave: थर्ड वेब में 37 हजार केस आने की संभावना, अस्थायी अस्‍पतालों में बन रहे ICU व वेंटिलेटर बेड्स

पंजाब में सितंबर में आ सकती है कोराना की तीसरी लहर (सांकेतिक तस्वीर)

पंजाब में सितंबर में आ सकती है कोराना की तीसरी लहर (सांकेतिक तस्वीर)

Covid-19: द‍िल्‍ली सरकार तीसरी वेब से बचाने के ल‍िये बड़ी तैयार‍ियां की जा रही हैं. दिल्‍ली सरकार ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगाने से लेकर अस्‍पतालों के बुन‍ियादी ढांचे को मजबूत करने में जुटी हैं ज‍िससे क‍ि आने वाले समय में अगर तीसरी लहर में 37,000 केस भी हर रोज र‍िकॉर्ड क‍िये जाते हैं तो उससे भी आसानी से न‍िपटा जा सकेगा.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दूसरी लहर (Second wave) के भयावह रूप को देखने के बाद अब द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) तीसरी वेब (Third Wave) से बचाने के ल‍िये बड़ी तैयार‍ियां कर रही हैं. दिल्‍ली सरकार ऑक्‍सीजन प्‍लांट (Oxygen Plant) लगाने से लेकर अस्‍पतालों के बुन‍ियादी ढांचे को मजबूत करने में जुटी हैं ज‍िससे क‍ि आने वाले समय में अगर तीसरी लहर में 37,000 केस भी हर रोज र‍िकॉर्ड क‍िये जाते हैं तो उससे भी आसानी से न‍िपटा जा सकेगा.

    सरकार अब तक लगा चुकी है 50 से ज्‍यादा ऑक्‍सीजन प्‍लांट्स
    सरकार अब तक 50 से ज्‍यादा ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगा चुकी है और अस्‍थायी अस्‍पतालों को आईसीयू और वेंट‍िलेटर से लैस करने का काम कर रही है ज‍िसमें 1200 बेड की व्‍यवस्‍था हो सकेगी. द‍िल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन (Satyendar Jain) का कहना है क‍ि यूके और यूएस में मामले फिर से बढ़ रहे हैं. इसलिए हमें इस समय इससे ध्यान नहीं हटाना चाहिए. यह सुनिश्चित करने के लिए कि कोई तीसरी लहर न आए. सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

    और अगर तीसरी लहर आती है तो हमें बुरे से बुरे हालातों से निपटने के लिए भी तैयार रहना होगा. जैन ने कहा क‍ि 75,000 टेस्ट हर दिन किए जा रहे हैं और स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए आक्रामक रूप से कांटेक्ट ट्रेसिंग भी की जा रही है.

    ये भी पढ़ें: Covid 19: केंद्र ने मुख्‍य सचिवों को भेजा संदेश, बढ़ते मामलों पर रहे अलर्ट, त्‍यौहारी सीजन में Lockdown लगाने में नहीं करें संकोच 

    दरअसल आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भारतीय वाणिज्य एंव उद्योग मंडल (एसोचैम) द्वारा आयोजित वर्चुअल सत्र कोसंबोध‍ित करते हुये यह सभी बातें कही. उन्‍होंने द‍िल्ली सरकार की कोविड -19 की तीसरी लहर से मुकाबला करने की तैयारियां पर केंद्रित सत्र में भाग लेने वाले वरिष्ठ डॉक्टरों के समक्ष यह सभी बातें कही.
    सरकार बुरे से बुरे हालातों से निपटने की कर रही है तैयारी
    सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने दूसरी लहर के अनुभव से सीखा है और किसी भी संभावित लहर से निपटने के लिए सभी आवश्यक उपाय कर रही है. उन्‍होंने आगे कहा कि तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली के बुनियादी स्वास्थ्य ढांचे में बदलाव किया जा रहा है और बड़ी तादाद में पीएसए प्लांट, आईसीयू और वेंटिलेटर बेड बनाये जा रहे हैं. इसके अलावा, दिल्ली सरकार बुरे से बुरे हालातों से निपटने के लिए तैयारी कर रही है. उन्होंने आगे बताया कि कोविड की लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार 37,000 से अधिक बेड बना रही है.

    ये भी पढ़ें: Water Logging: केजरीवाल सरकार ने Monsoon में वाटर लॉग‍िंग से न‍िपटने का बनाया ये प्‍लान, मंत्री ने अफसरों को द‍िये आदेश

    प्रतिष्ठित पैनलिस्टों ने इस मामले पर अपनी बहुमूल्य राय दी और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से दिल्ली सरकार की कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों के बारे में चर्चा की. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा क‍ि सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं और बुनियादी स्वास्थ्य ढांचे को अभूतपूर्व स्तर तक बढ़ाया जा रहा है.

    दिल्ली सरकार 37,000 से अधिक कोविड के लिए बेड बना रही है. उन्होंने प्रेशर स्विंग एडसोर्पशन (पीएसए) संयंत्रों और लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) सुविधाओं के निर्माण को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न सब्सिडी योजनाओं के बारे में भी बताया.

    सकारात्‍मकता दर 5 फीसदी होने पर तुरंत लगाएंगे लॉकडाउन
    स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कोविड के प्रसार की रोकथाम के लिए सतर्कता बरतने और कोविड के उचित व्यवहार का पालन करने पर जोर दिया. उन्होंने कहा क‍ि हमने कोविड की अगली लहर के खिलाफ अपनी योजना को भी सार्वजनिक किया है. अगर कोविड की सकारात्मकता दर अब 5 प्रतिशत तक जाती है तो हम बिना किसी देरी के तत्काल लॉकडाउन के लिए जाएंगे.

    ये भी पढ़ें: Haryana News: पूर्व सीएम हुड्डा ने दी रवि दहिया व हॉकी टीम को बधाई, कहा-हरियाणवी होने के नाते हुई डबल खुशी

    कोविड की दूसरी लहर के बारे में जैन ने कहा क‍ि हमें सिर्फ ऑक्सीजन और इसे प्राप्त करने के लिए लॉजिस्टिक की कमी की वजह से चुनौतयों का सामना करना पड़ा. लेकिन अब हमने 50 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट पहले ही बना दिए हैं. इसके अलावा और भी कई ऑक्सीजन प्लांट बनाए जाएंगे ताकि ऐसी समस्या का फिर से न उठे.

    अस्‍थायी अस्‍पतालों में तैयार हो रहे 1200 आईसीयू व वेंट‍िलेटर बेड्स
    स्वास्थ्य मंत्री ने डॉक्टरों से अस्थायी अस्पतालों के बारे में भी चर्चा की, जो कोविड की दूसरी लहर के दौरान बनाए गए थे. उन्होंने कहा क‍ि छतरपुर, संत निरंकारी कॉलोनी, रामलीला मैदान में बनाए गए अस्थायी अस्पतालों को अब आईसीयू और वेंटिलेटर से लैस किया जा रहा है जिनकी संख्या 1200 से अधिक है. इसके अलावा, दिल्ली सरकार अधिक चिकित्सा कर्मचारियों और विभिन्न धाराओं से संबंधित डॉक्टरों को भी प्रशिक्षण दे रही है.

    ये भी पढ़ें: MPD-2041: केजरीवाल सरकार ने व्‍यापार‍ियों से मांगे मास्‍टर प्‍लान पर सुझाव, कहा-सप्‍ताहभर में भेंजे सभी आपत्‍त‍ियां व सुझाव 

    टीकाकरण अभियान पर जैन ने कहा क‍ि दिल्ली में कोरोना के 1 करोड़ डोज़ लगाये जा चुके हैं. हमारे पास हर दिन 3 से 4 लाख डोज़ लगाने की क्षमता है, बशर्ते हमें आवश्यक टीके मिल जाएं. मंच के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से सतर्कता बरतने की अपील भी की क्योंकि वायरस अभी भी हमारे बीच मौजूद है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज