लाइव टीवी

COVID-19 मरीजों की जान बचाने को और ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदेगी दिल्ली सरकार
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 23, 2020, 10:10 AM IST
COVID-19 मरीजों की जान बचाने को और ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदेगी दिल्ली सरकार
फिलहाल दिल्ली सरकार कोरोना के मामले में काफी बदतर स्थिति का सामना कर रही है.

COVID-19 के मरीजों के इलाज के लिए वेंटिलेटर की तुलना में अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता को देखते हुए 2000 ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद करने जा रही है दिल्ली सरकार.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों (Covid-19 Patients) की संख्य़ा बढ़ती ही जा रही है. इसे काबू में करने का प्रयास दिल्ली सरकार (Delhi Government) लगातार कर रही है. इसके साथ ही COVID-19 के मरीजों के इलाज के लिए वेंटिलेटर की तुलना में अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने 2000 ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने जा रही है. दरअसल, ऑक्सीजन सिलेंडर के जरिए किसी मरीज के शरीर में 90% से ज्यादा ऑक्सीजन सप्लाई की जा सकती है.

ज्यादातर मरीजों को वेंटिलेटर की जरूरत नहीं

नाम न बताने की शर्त पर दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि COVID-19 के कई मरीजों के इलाज के बाद हमें अनुभव हुआ कि इनमें से ज्यादा मरीजों को वेंटिलेटर की जरूरत नहीं है. केवल ऑक्सीजन सपोर्ट देना ही काफी रहा, जिससे उन्हें सांस लेने में आसानी होती है. उसके बाद दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने का निर्णय लिया. फिलहाल दिल्ली सरकार कोरोना के मामले में काफी बदतर स्थिति का सामना कर रही है. दिल्ली सरकार के आंकड़ों के अनुसार, यहां 20 मई को 5,720 पॉजिटिव केस हैं.



होटलों और धर्मशालाओं में हो सकता है इलाज



हिन्दुस्तान टाइम्स की एक खबर के अनुसार, इस अधिकारी ने कहा कि इन ऑक्सीजन सिलेंडर का उपयोग केवल उन अस्पतालों के भीतर नहीं किया जाएगा जहां गैस पाइपलाइनें नहीं हैं. बल्कि इनका उपयोग होटलों या धर्मशालाओं में भी है किया जा सकता है जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने पर कोविड-19 मरीजों का इलाज हो सकता है. जहां मामलों की संख्या बढ़ने पर कोविड-19 रोगियों का इलाज किया जा सकता है.

नामित हॉस्पिटलों में मौजूद हैं गैस पाइपलाइन

अधिकारी के अनुसार, ज्यादातर कोरोना के इलाज के नामित हॉस्पिटलों में गैस पाइपलाइनें हैं जो रोगियों को ऑक्सीजन पहुंचाती हैं. हालांकि, कुछ हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर का उपयोग किया जाता है. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता को समाप्त करने के बजाये, इन अस्पतालों में इसका उपयोग किया जा सकता है. साथ ही अगर कोरोना मामलों की संख्या यहां बढ़ती है और मरीजों का होटल और धर्मशालाओं में इलाज शुरू होता है तो ये मशीन वहां भी पहुंचाए जा सकते हैं.

500 वेंटिलेटर खरीदने की थी प्लानिंग
अधिकारी के अनुसार, दिल्ली सरकार पहले 500 वेंटिलेटर खरीदने की प्लानिंग कर रही थी. अभी सरकारी अस्पतालों में लगभग 306 वेंटिलेटर हैं, जबकि प्राइवेट में 800 वेंटिलेटर हैं.

सुरक्षा उपकरणों की खरीद से पहले मानकों की हो रही जांच

दिल्ली सरकार की एक आंतरिक समिति ने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों की खरीद के लिए मानकों की जांच शुरू कर दी है. दिल्ली सरकार के अधिकारियों के अनुसार, दिल्ली सरकार द्वारा मंगाई गई दो लाख PPE किट का टेंडर एक महीने के भीतर कम से कम दो बार विफल रहा. जानकारी मिली है कि इसको बनाने वाली 32 कंपनियों में से किसी का भी प्रस्ताव उस गुणवत्ता से मेल नहीं खा रहा है, जिसका निर्धारण स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया है. इनमें कवरॉल, रेस्पिरेटर (एन -95), दस्ताने और काले चश्मे शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: 

 दिल्ली: AIIMS में कोरोना वायरस से कर्मचारी की मौत, RDA ने लगाए गंभीर आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 10:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading