दिल्ली सरकार का निर्देश- जून में 18-44 वर्ग में कोवैक्सीन सिर्फ सेकेंड डोज वालों को लगाएं

राजधानी में कोवैक्सीन की कमी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने जून माह में केवल सेकेंड डोज वालों को ही टीका देने का निर्देश दिया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने स्वास्थ्य और राजस्व विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों और जिलाधिकारियों को 18-44 आयु वर्ग के लोगों को कोवैक्सीन (Covaccine) की केवल सेकेंड डोज देने के संबंध में दिए गए आदेश का पूरी तरह से पालन सुनिश्चित करने को कहा है

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने रविवार को निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम को निर्देश दिया कि 18-44 साल आयु वर्ग में जून के महीने या अगले आदेश तक कोवैक्सीन (Covaccine) सिर्फ सेकेंड डोज लेने वालों को लगाएं. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने स्वास्थ्य और राजस्व विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों और जिलाधिकारियों से आदेश का पूरी तरह से पालन सुनिश्चित करने को कहा है.

आदेश में कहा गया है कि डीडीएमए निर्देश देता है कि कोवैक्सिन के लिए कोविड टीकाकरण केंद्रों (Vaccine Center) के रूप में कार्य करने वाले सभी निजी अस्पताल और नर्सिंग होम यह सुनिश्चित करेंगे कि जून या अगले आदेश तक कोवैक्सिन का उपयोग केवल उन लोगों (18-44 वर्ष की आयु) के टीकाकरण के लिए किया जाएगा, जो इस दौरान टीकाकरण की दूसरी डोज लेने के पात्र हैं. आदेश के मुताबिक, यदि कोई व्यक्ति निर्देशों का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है, तो उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम, भारतीय दंड संहिता, महामारी अधिनियम और अन्य लागू कानूनों के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी.



दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने बीते गुरुवार को एक आदेश जारी कर सभी सरकारी कोविड टीकाकरण केंद्रों को निर्देश दिया था कि वो 18-44 वर्ष के आयु वर्ग में जून में या अगले आदेश तक कोवैक्सिन सिर्फ उन लोगों को लगाएं जो सेकेंड डोज के पात्र हैं.

दिल्ली सरकार ने वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण 18-44 आयु वर्ग के वैक्सीन सेंटरों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है. हालांकि कुछ प्राइवेट अस्पताल इस श्रेणी में टीकाकरण कर रहे हैं.