अपना शहर चुनें

States

Delhi News: आम लोगों को कब लगेगी कोरोना वैक्सीन? सामने आया केजरीवाल सरकार का प्लान

कोरोना वैक्सीनेसन के लिए देशभर में 28 हज़ार सेंटर बनाए जा रहे हैं.
कोरोना वैक्सीनेसन के लिए देशभर में 28 हज़ार सेंटर बनाए जा रहे हैं.

Covid-19 Vaccine: सरकारी अधिकारियों के मुताबिक कागजी काम में थोड़ा समय लगेगा, लेकिन बाकी चीजों का इंतजाम तेजी से किया जा रहा है जिससे कि वैक्सीनेशन में देरी न हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 12:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के लिए पहले फ्रंट लाइन वर्कर को कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) लगाई जाएगी. यह पहले ही तय हो चुका है. दूसरे फेज में ऐसे लोगों को वैक्सीन की डोज़ दी जाएगी जो 50 से ज़्यादा उम्र के हैं और गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं. अब आम लोगों को वैक्सीन कब लगाई जाएगी इसका भी प्लान तैयार हो चुका है. दिल्ली सरकार (Delhi Government) के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सतेन्द्र जैन (Satyendar jain) ने बताया जैसे ही वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के पास इतना स्टाक हो जाएगा कि आम लोगों को भी वैक्सीन लगाई जा सकती है, तो इसकी शुरुआत कर दी जाएगी.

न्यूज18 इंडिया से बात करते हुए दिल्ली सरकार के हेल्थ मिनिस्टर सतेन्द्र जैन ने बताया कि अभी तक यह चर्चा चल रही थी कि वैक्सीन लगाने का अप्रूवल कब मिलेगा. अब अप्रूवल मिला है तो कंपनी इसको कब तक मैन्यूफ़ैक्चर कर पाएगी यह देखना होगा. हालांकि, इसमें समय लगेगा. पहले और दूसरे चरण के तहत टीका लगाने की योजना दिल्‍ली सरकार ने तैयार कर ली है. उन्‍होंने बताया कि पहले 9 लाख हेल्थ और फ़्रंट लाइन वर्कर को वैक्सीन का डोज दिया जाएगा. उसके बाद दूसरे चरण में 50 से ज़्यादा उम्र के और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 42 लाख लोगों को वैक्सीन लगायी जायेगी. इसके लिए दिल्ली सरकार की ओर से 1000 वैक्सीनेशन सेंटर तैयार किये गये हैं.

देशभर में होंगे 28 हजार वैक्सीनेशन प्वाइंट
वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से डील पूरी होने के बाद इन्हें देश के अलग-अलग 31 मेन हब में रखा जाएगा. ये हब देश के अलग-अलग हिस्सों में बनाए गए हैं. इसके बाद इन वैक्सीन को यहां से देश के 28 हजार वैक्सीनेशन प्वाइंट पर भेजा जाएगा. ये प्वाइंट अलग-अलग राज्यों में हैं. जरूरत पड़ने पर वैक्सीनेशन प्वाइंट की संख्या बढ़ाई जा सकती है. सबसे पहले वैक्सीन की डोज़ एक करोड़ हेल्थ वर्कर्स को दी जाएगी. इसके बाद करीब 2 करोड़ फ्रंट लाइन वर्कर्स को दी जाएगी.




क्या आप जानते हैं, ट्रेन से एक पशु के कटने पर रेलवे को होता है करोड़ों का नुकसान

हेल्पलाइन नंबर
इसके अलावा देश भर में हेल्पलाइन नंबर भी तैयार किया जा रहा है, जिससे कि वैक्सीन से जुड़ी सारी जानकारियां लोगों को दी जा सके. अब तक देश भर में करीब डेढ़ लाख लोगों को वैक्सीन देने की ट्रेनिंग भी दी गई है.



स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के मुताबिक टीकाकरण का काम चुनाव प्रक्रिया के तहत हर बूथ लेवल पर किया जाएगा. यूआईपी के तहत आने वाले 28900 कोल्ड चेन और करीब 8500 इक्विपमेंट का इस्तेमाल किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज