Home /News /delhi-ncr /

Delhi Pollution: कंस्ट्रक्शन पर फिर लगी रोक, मजदूरों को दिए जाएंगे 5-5 हजार

Delhi Pollution: कंस्ट्रक्शन पर फिर लगी रोक, मजदूरों को दिए जाएंगे 5-5 हजार

दिल्‍ली सरकार मजदूरों को पांच-पांच हजार रुपये की आर्थिक मदद देगी.

दिल्‍ली सरकार मजदूरों को पांच-पांच हजार रुपये की आर्थिक मदद देगी.

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली सरकार ने बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए आज से कंस्ट्रक्शन का काम रोकने का ऐलान किया है. वहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम श्रमिकों को उनके न्यूनतम वेतन के अनुसार मुआवजा देंगे. इसके तहत श्रमिकों के बैंक खातों में पांच-पांच हजार रुपये जमा करने का आदेश दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली इस वक्‍त वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) की जबरदस्‍त चपेट में है. इसको लेकर दिल्ली के प्रर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने कहा कि पिछले 3-4 दिनों से प्रदूषण का स्तर कम हो रहा था, लेकिन आज फिर से प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी दिख रही है. इसके मद्देनजर आज से कंस्ट्रक्शन का काम रोका जा रहा है. साथ ही मजदूरों को आर्थिक मदद दी जाएगी.

    इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि सरकारी कर्मचारियों के लिए सरकारी कॉलोनियों से प्राइवेट बसें चलाई जाएंगी. पास के मेट्रो स्टेशन से शटल बस सर्विस शुरू होगी, जिससे लोग मेट्रो से आएं और आसानी से दफ्तर पहुंचें. उनकी कॉलोनियों से भी बस सेवा शुरू की जाएगी, जिससे लोग अपने निजी वाहन से ना आएं.

    सीएम केजरीवाल ने किया बड़ा ऐलान
    वहीं, दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि वायु प्रदूषण के कारण कंस्ट्रक्शन गतिविधियों पर रोक के मद्देनजर मैंने आज मजदूरों के बैंक खातों में पांच-पांच हजार रुपये जमा करने का आदेश दिया है. हम श्रमिकों को उनके न्यूनतम वेतन के अनुसार मुआवजा भी देंगे. वहीं, कई निर्माण स्थल ऐसे हैं जिनका रजिस्ट्रेशन नहीं है तो वहां कैंप लगा कर रजिस्ट्रेशन किया जाएगा.

    बता दें कि दिल्‍ली सरकार ने हवा की गुणवत्ता में सुधार और श्रमिकों को होने वाली असुविधा को देखते हुए कंस्ट्रक्शन और विध्वंस गतिविधियों पर लगी रोक सोमवार को हटा ली थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण को देखते हुए कंस्ट्रक्शन पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया है. इस दौरान कोर्ट ने इलेक्ट्रिकल, कारपेंट्री, इंटीरियर वर्क और प्लंबिंग कार्यों पर छूट दी है. वहीं, कोर्ट के आदेश के बाद दिल्‍ली सरकार ने फिर से कंस्ट्रक्शन का काम रोक दिया है.

    मनीष सिसोदिया ने की थी ये अपील
    इससे पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए छोटे कदम उठाने के लिए अपील की थी. उन्‍होंने दिल्लीवासियों से महीने में कम से कम एक बार अपने निजी वाहनों की जगह बस या मेट्रो जैसे सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने का अनुरोध किया था. इसके साथ सिसोदिया ने कहा था कि दिल्ली में प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए प्रत्येक नागरिक को अपने हिस्से की जिम्मेदारी उठानी पड़ेगी.

    पेट्रोल और डीजल के कमर्शियल वाहनों पर रोक जारी
    इससे पहले दिल्‍ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने घोषणा की थी कि 27 नवंबर से इलेक्ट्रिक और सीएनजी (CNG) कमर्शियल वाहनों को एंट्री मिलेगी, जो कि आवश्यक सेवाओं में लगे हुए हैं. इसके अलावा पेट्रोल और डीजल के कमर्शियल वाहनों की एंट्री पर 3 दिसंबर तक पाबंदी रहेगी.

    Tags: Air pollution, Air pollution in Delhi, Delhi air pollution, Delhi CM Arvind Kejriwal, Delhi Government, Gopal Rai, NCR Air Pollution, Supreme Court

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर