Corona Vaccination In Delhi: वैक्सीनेशन कराने वालों को दिल्ली सरकार मानेगी On Duty, जानें आदेशों में क्या रखीं शर्तें?

कोरोना वैक्‍सीनेशन कराने वाले हेल्‍थ वर्कर ऑन डयूटी माने जाएंगे. (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना वैक्‍सीनेशन कराने वाले हेल्‍थ वर्कर ऑन डयूटी माने जाएंगे. (प्रतीकात्मक फोटो)

Corona Vaccination in Delhi: दिल्ली सरकार ने हेल्थ केयर वर्कर्स वैक्सीनेशन को लेकर आदेश जारी किया है. आदेश में यह कहा है कि जिस भी हेल्थ वर्कर चाहे वह महिला या पुरूष दोनों, जो भी हो वैक्सीनेशन कराने के दिन का प्रूफ यानी दस्तावेज अपने पेरेंट्स डिपार्टमेंट में प्रस्तुत करेंगे. इससे उनको उस दिन ऑन ड्यूटी (On Duty) माना जाएगा. निदेशक की ओर से जारी किए गए आदेशों को सभी जिला मजिस्ट्रेट और सभी मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारियों को भी भेज दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण रोकने के लिए फिलहाल फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीनेट किया जा रहा है. देशभर में अब तक 1.08 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं.




केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक एक लाख 86 हजार को कल 20 फरवरी शाम 6 बजे तक फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं. ‍वह 89741 हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन की सेकंड डोज भी दी गई.



उधर, दिल्ली में फ्रंटलाइन वर्कर्स विशेषकर हेल्थ केयर वर्कर्स को दी जाने वाली वैक्सीन को लेकर कुछ असमंजस की स्थिति बनी हुई है. बताया जाता है कि  हेल्थ केयर वर्कर्स का 16 जनवरी से वैक्सीनेशन का काम शुरू किया गया है. लेकिन इसको लगवाने को लेकर हेल्थ केयर वर्कर्स में उत्साह नजर नहीं आ रहा है, इस पर कुछ असमंजस की स्थिति लगातार बनी हुई है.




बताया जाता है कि इसके पीछे एक बड़ी वजह  वैक्सीनेशन होने पर दर्द के बाद भी ड्यूटी करना सामने आई है. वैक्सीनेशन के बाद बॉडी में हल्का दर्द होने और कुछ मामलों में हल्का बुखार (Mild Fever) आने के मामले भी सामने आए हैं. ऐसे में दिल्ली सरकार (Delhi Government) के स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी मामलों को गंभीरता से लिया है.






इस तरह के कुछ सामने आए मामलों के बाद दिल्ली सरकार के परिवार कल्याण विभाग की निदेशक डॉ. मोनिका राणा की ओर से एक आर्डर जारी किया गया है जिसमें साफ और स्पष्ट किया गया है कि वैक्सीनेशन कराने के बाद हेल्थ वर्कर का उस दिन वर्क करना संभव नहीं होता है.




बताया जाता है कि जिस जगह पर बॉडी में इंजेक्शन लगाया जाता है, उस जगह पर बॉडी में हल्का दर्द होता है. कुछ मामलों में बुखार भी देखा गया है. इसके चलते उन सभी वर्कर का उस दिन कार्य करना संभव नहीं होता है.




इन सभी मामलों को देखते हुये विभाग ने सभी मूल विभागों को यह भी आदेश दिया है कि जिस भी हेल्थ वर्कर चाहे वह महिला या पुरूष दोनों, जो भी हो वैक्सीनेशन कराने के दिन का प्रूफ यानी दस्तावेज अपने पेरेंट्स डिपार्टमेंट में प्रस्तुत करेंगे जिससे कि उस दिन उनको ऑन ड्यूटी (On Duty) माना जाएगा.




निदेशक की ओर से जारी किए गए आदेशों को सभी जिला मजिस्ट्रेट और सभी मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारियों को भी भेज दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज