Delhi News: श्रमिकों का पलायन रोकने के लिए दिल्‍ली सरकार का प्‍लान, हाईकोर्ट को बताया- देंगे 5-5 हजार रुपए

दिल्‍ली सरकार से हाईकोर्ट ने श्रमिकों को लेकर रिपोर्ट मांगी थी.

दिल्‍ली सरकार से हाईकोर्ट ने श्रमिकों को लेकर रिपोर्ट मांगी थी.

Migrant Laborers News: दिल्‍ली में पंजीकृत श्रमिकों की संख्‍या एक लाख 71 हजार 861 है, जिन्‍हें आज 20 अप्रैल से अरविंद केजरीवाल सरकार पांच-पांच हजार रुपए कोविड रिलीफ के तौर पर देगी. बता दें कि दिल्‍ली हाईकोर्ट ने श्रमिकों को लेकर सरकार से रिपोर्ट मांगी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 12:57 PM IST
  • Share this:
दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार ने 6 दिन का लॉकडाउन लगा दिया है. इस लॉकडाउन से श्रमिकों में अफरा तफरी मच गई है. इस बीच केजरीवाल सरकार ने दिल्‍ली हाईकोर्ट से कहा है कि वह लॉकडाउन के दौरान प्रवासी, दैनिक और निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों की भलाई के लिए प्रतिबद्ध है. यही नहीं, सरकार ने लॉकडाडन में रहने, खाने-पीने, कपड़े और दवा आदि की व्यवस्था करने के कदम उठाने के साथ प्रधान सचिव-गृह के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया है, जो सभी प्रकार की व्यवस्थाएं देंखेंगे.

दिल्‍ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल सरकार से लॉकडाउन के दौरान प्रवासी, दैनिक और निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों के लिए उचित कदम उठाने पर रिपोर्ट मांगी थी. इस बीच दिल्‍ली सरकार ने प्रधान सचिव-गृह भूपिन्द्र सिंह भल्ला को कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है, जो कि दिल्‍ली के नोडल अधिकारी रहेंगे. इसके अलावा इस कमेटी में दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त राजेश खुराना भी नोडल अधिकारी होंगे, तो आयुक्त श्रम को सदस्य सचिव, प्रधान सचिव श्रम-सदस्य, शिक्षा निदेशक-सदस्य, विशेष सचिव वित-सदस्य और रिवेन्यू उपसचिव-सदस्य को इस कमेटी में शामिल किया गया है.

Delhi Government, Arvind Kejriwal, Lockdown, Delhi High Court, Delhi News, government will give five thousand rupees for registered workers
दिल्‍ली सरकार ने पिछले साल दो बार श्रमिकों रुपये दिए थे. फोटो पीटीआई


जो श्रमिक जहां हैं वहीं मिलेगी सुविधा
दिल्‍ली में लॉकडाउन के बाद मजदूरों को खाना, पानी, दवा, आश्रय, कपड़े आदि बुनियादी सुविधाएं उनके कार्यस्‍थल पर ही मिलेंगी और दिल्‍ली सरकार का वित्त विभाग फंड की व्यवस्था करेगा. एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2020 में दिल्‍ली में पंजीकृत श्रमिकों की संख्या करीब 55 हजार थी. इसके एक वर्ष बाद विशेष कैंप लगाकर रजिस्‍ट्रेशन के बाद इस समय यह संख्‍या एक लाख 71 हजार 861 है.

पिछले साल श्रमिकों को दो बार में पांच-पांच हजार रुपए की सहायता दी गई थी और आज 20 से फिर से पांच हजार रुपए की आर्थिक राहत दी लाएगी. वहीं, दिल्‍ली के स्कूलों को दिए गए मिडडे मील को भी श्रमिकों के लिए इस्‍तेमाल किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज