• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi Government के इस मेडिकल कॉलेज हॉस्टल में छात्रों को मिलेंगी ज्यादा सुविधाएं, तैयार किए जा रहे 1,000 बेड

Delhi Government के इस मेडिकल कॉलेज हॉस्टल में छात्रों को मिलेंगी ज्यादा सुविधाएं, तैयार किए जा रहे 1,000 बेड

सरकार मेडिकल छात्रों के लिए आधुनिक सुविधाओं से लैस हॉस्टल उपलब्ध कराने का काम कर रही है. (File photo-MAMC Website)

सरकार मेडिकल छात्रों के लिए आधुनिक सुविधाओं से लैस हॉस्टल उपलब्ध कराने का काम कर रही है. (File photo-MAMC Website)

MAMC Hostel: मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (MAMC) का नया छात्रावास आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा. छात्रावास की मौजूदा क्षमता 438 बेड की है. इसकी क्षमता को बढ़ाकर 1,000 हजार बेड ले जाया जाएगा. इस छात्रावास को केजरीवाल सरकार कम लागत और बेहतर डिजाइन के साथ बनाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) एक तरफ तो नए अस्पतालों का निर्माण और मौजूदा अस्पतालों में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने में जुटी है. वहीं दूसरी ओर अस्पतालों में मेडिकल कॉलेजों (Medical College) ‌के हॉस्टल को नए सिरे से तैयार करने के काम में भी जुटी हुई है. सरकार मेडिकल छात्रों के लिए आधुनिक सुविधाओं से लैस हॉस्टल उपलब्ध कराने का काम कर रही है. साथ ही उनमें बेड की क्षमता को भी बढ़ाने की योजना पर काम किया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें: Delhi में अब झटपट तैयार होंगे नये अस्पताल, केजरीवाल सरकार इस तकनीक पर करेगी काम

    केजरीवाल सरकार की ओर से मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज हॉस्टल (Maulana Azad Medical College Hostel) को नए सिरे से बना रही है. स्नातक एवं स्नातकोत्तर मेडिकल छात्रों के लिए इस छात्रावास को बनाया जाएगा.

    मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (MAMC) का नया छात्रावास आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा. छात्रावास की मौजूदा क्षमता 438 बेड की है. इसकी क्षमता को बढ़ाकर 1,000 हजार बेड ले जाया जाएगा. इस छात्रावास को केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) कम लागत और बेहतर डिजाइन के साथ बनाएगी.

    ये भी पढ़ें: DJB को DDA से नहीं म‍िल रही जमीन, लंबे समय से अधर में लटके हैं ये बड़े प्रोजेक्‍ट्स
    मंत्री जैन ने अधिकारियों को लागत प्रभावी संरचना बनाने के दौरान डिजाइन पर ध्यान देने के निर्देश दिए, ताकि अधिक छात्रों के लिए छात्रावास बनाया जा सके.

    जैन ने कहा डिजाइन को ध्यान में रखते हुए किफायती लागत से भवन बनाया जाना चाहिए, ताकि छात्रावास में अधिक छात्रों को समायोजित किया जा सके. उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य लागत को कम करना है. लेकिन इमारत की ताकत और डिजाइन से समझौता नहीं करना है. अधिकारियों को इसके लिए नए तरीकों की तलाश करनी चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज