Home /News /delhi-ncr /

delhi government will launch a campaign to promote urban farming

Urban Farming: घर की छतों व बालकॉनी में फल, सब्‍ज‍ियां उगाएंगे द‍िल्लीवाले, केजरीवाल सरकार ने बनाई ये योजना

सम्मलेन के दौरान अर्बन फार्मिंग के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली विभिन्न कृषि प्रौद्योगिकियों पर चर्चा की गई. (File Photo by Roslan RAHMAN / AFP)

सम्मलेन के दौरान अर्बन फार्मिंग के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली विभिन्न कृषि प्रौद्योगिकियों पर चर्चा की गई. (File Photo by Roslan RAHMAN / AFP)

Delhi Urban Farming: पर्यावरण मंत्री गोपाल राय की अध्यक्षता में अर्बन फार्मिंग विषय पर भिन्न प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के साथ रॉउंड टेबल सम्मलेन आयोजित किया गया. इस सम्मलेन के दौरान अर्बन फार्मिंग के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली विभिन्न कृषि प्रौद्योगिकियों पर चर्चा की गई. साथ ही अर्बन फार्मिंग के ज़रिए दिल्ली में ग्रीन कवर बढ़ाने के साथ-साथ रोजगार भी बढ़ेगा जिसकी नोडल एजेंसी डायरेक्टोरेट ऑफ़ हॉर्टिकल्चर को बनाया गया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. द‍िल्‍ली को हराभरा बनाने और ग्रीन कवर को बढ़ाने के ल‍िए केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) हरसंभव कोश‍िश में जुटी है. द‍िल्‍ली सरकार की ओर से जहां सड़क क‍िनारे ग्रीन कवर (Roadside Green Cover) पर फोकस करते हुए सभी रोड ओइन‍िंग एजेंसीज (Road Owning Agencies) की ज‍िला स्‍तरीय टास्‍क फोर्स गठ‍ित की गई हैं. वहीं, अब अर्बन फार्म‍िंग पर जोर देने की कवायद की जा रही है.

दिल्ली सचिवालय में आज पर्यावरण मंत्री गोपाल राय की अध्यक्षता में अर्बन फार्मिंग विषय पर भिन्न प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के साथ रॉउंड टेबल सम्मलेन आयोजित किया गया. इस सम्मलेन के दौरान अर्बन फार्मिंग के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली विभिन्न कृषि प्रौद्योगिकियों पर चर्चा की गई. साथ ही अर्बन फार्मिंग के ज़रिए दिल्ली में ग्रीन कवर बढ़ाने के साथ-साथ रोजगार भी बढ़ेगा जिसकी नोडल एजेंसी डायरेक्टोरेट ऑफ़ हॉर्टिकल्चर को बनाया गया है.

Delhi: हर‍ियाली से लबरेज नजर आएंगी रोडसाइड, केजरीवाल सरकार ने तैयार क‍िया ये बड़ा प्‍लान 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि ठंड के मौसम में दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ जाता है. दिल्ली में खेती योग्य भूमि लगातार कम होती जा रही है और कंक्रीट के बिल्डिंग्स की संख्या बढ़ती जा रही है. इसलिए दिल्ली में आने वाले समय में जमीन की कमी की संभावना बढ़ रही है और इसी के मद्देनजर दिल्ली सरकार अर्बन फार्मिंग का प्लान शुरू की है. इस प्लान का मकसद लोगों को अपने घरों की छतों, बॉलकनी और बरामदों में अपने उपयोग की सब्जियां व फल इत्यादि का उत्पादन करने के प्रति प्रोत्साहित करना है. इससे न सिर्फ लोगों को अपने द्वारा उगाई गई शुद्ध फल और सब्जियां प्राप्त होंगी, बल्कि दिल्ली के ग्रीन क्षेत्र में भी वृद्धि होगी.

सम्मलेन में देश के कोने-कोने से विभिन्न कंपनियों/ प्रौद्योगिकी प्रदाताओं ने भागीदारी की. इनमें फ्लोरा कंसलटेंट, हारवेल एग्रो, भूमिका ऑर्गनिक्स, इजीग्रो, एमआर फार्म्स, एडिबले रुट्स, आर एस पॉलीमर, सो गुड जैसे नाम शामिल रहें. यह सभी कंपनी /प्रौद्योगिकी प्रदाता शहरी कृषि से संबंधित विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत हैं जिसमें मुख्यतः ह्यड्रोपोनिक्स ,ग्रीनहाउस फार्मिंग ,किचन गार्डन , फार्मलेटस , एरोपोनिक्स , रेवोपोनिक्स, एकुवाकल्चर जैसे क्षेत्रो में कार्य कर रहें हैं. इन सभी कंपनियों /प्रौद्योगिकी प्रदाताओं को अपने मॉडल्स की विस्तृत जानकारी विभाग को जमा करने के आदेश भी दिए गए हैं जिसके आधार पर दिल्ली में अर्बन फार्मिंग को लेकर आगे की कार्य योजना तैयार की जाएगी.

क्या होती है अर्बन फार्मिंग?
अर्बन फार्मिंग के तहत, यदि पर्याप्त धूप उपलब्ध हो तो लोग अपने घर की छतों पर फल, सब्जियां और पौधे उगा सकते हैं. अर्बन फार्मिंग से लोगों को उन खाद्य उत्पादों में कीटनाशकों और हानिकारक रसायनों से बचने में मदद मिलेगी, जिनका वे दिन-प्रतिदिन उपभोग करते हैं. साथ ही इससे शहर में ग्रीन कवर को भी बढ़ावा मिलेगा. दिल्ली सरकार का हार्टिकल्चर विभाग इस पहल का नोडल विभाग के रूप में काम करेगा.

Tags: Delhi air pollution, Delhi Government, Delhi news, Farming, Gopal Rai, Kejriwal Government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर