होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

द‍िल्‍ली सरकार की स्‍कीम का चौक-चौराहों, सड़कों पर होगा प्रचार, शहर में 600 LED स्‍क्रीन लगाने की तैयारी

द‍िल्‍ली सरकार की स्‍कीम का चौक-चौराहों, सड़कों पर होगा प्रचार, शहर में 600 LED स्‍क्रीन लगाने की तैयारी

सरकार ने जन कल्‍याणकारी योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुंचाने के ल‍िए राजधानी में बड़ी-बड़ी एलईडी ड‍िस्‍प्‍ले स्‍क्रीन लगाने की तैयारी की है.

सरकार ने जन कल्‍याणकारी योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुंचाने के ल‍िए राजधानी में बड़ी-बड़ी एलईडी ड‍िस्‍प्‍ले स्‍क्रीन लगाने की तैयारी की है.

Delhi Government LED display Screen Project: आम आदमी पार्टी सरकार ने जन कल्‍याणकारी योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुंचाने के ल‍िए राजधानी में बड़ी-बड़ी एलईडी ड‍िस्‍प्‍ले स्‍क्रीन लगाने की तैयारी की गई है. सरकार ने इस द‍िशा में कदम बढ़ाते हुए टेंडर प्रक्र‍िया शुरू कर दी है. लोक नि‍र्माण व‍िभाग (PWD) की ओर से 86 लोकेशंस पर 600 एलईडी स्‍क्रीन लगाई जाएंगी. इस पूरे प्रोजेक्ट पर करीब 475.78 करोड़ रुपए खर्च आने का अनुमान है.

अधिक पढ़ें ...

नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली की आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) सरकार ने जन कल्‍याणकारी योजनाओं (Public Welfare Schemes) की जानकारी आमजन तक पहुंचाने के ल‍िए राजधानी में बड़ी-बड़ी एलईडी ड‍िस्‍प्‍ले स्‍क्रीन ( LED Display Screen) लगाने की तैयारी की है.

द‍िल्‍ली सरकार (Delhi government) की ओर से प‍िछले साल से इस योजना को अमल में लाने का प्रयास क‍िया जा रहा है. लेक‍िन क‍िसी कारणवश इसकी शुरूआत नहीं हो सकी. अब सरकार ने इस द‍िशा में कदम बढ़ाते हुए टेंडर प्रक्र‍िया शुरू कर दी है. लोक नि‍र्माण व‍िभाग (Public Works Department) की ओर से 86 लोकेशंस पर 600 एलईडी स्‍क्रीन लगाई जाएंगी. इस पूरे प्रोजेक्ट पर करीब 475.78 करोड़ रुपए खर्च आने का अनुमान है.

आध‍िकार‍िक सूत्रों के मुताब‍िक लोक निर्माण विभाग की ओर से एलईडी ड‍िस्‍प्‍ले स्क्रीन लगाने के लिए टेंडर जारी कर द‍िए गए हैं. संभवत: अक्तूबर माह के अंत तक टेंडर आवंटित कर द‍िए जाएंगे. इसके बाद करीब 9 माह के भीतर सभी चयन‍ित लोकेशंस पर इन ड‍िस्‍प्‍ले स्क्रीन को लगाने का काम पूरा क‍िया जा सकेगा. इस पूरे प्रोजेक्‍ट को पूरा करने के ल‍िए बाकायदा नौ माह का डेडलाइन तय की गई है. इस पूरे प्रोजेक्‍ट की मॉनीटर‍िंग के ल‍िए पीडब्‍लूडी हैडक्‍वार्टर में एक कंट्रोल रूम भी स्‍थाप‍ित क‍िया जाएगा ज‍िसके जर‍िए हर स्‍तर पर नजर रखी जा सकेगी.

भ्रष्‍टाचार के मामले में द‍िल्‍ली जल बोर्ड सीईओ के ख‍िलाफ होगी कार्रवाई, एलजी ने की स‍िफार‍िश 

बताते चलें क‍ि इस प्रोजेक्‍ट को प‍िछले साल द‍िसंबर माह में ड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया की अध्‍यक्षता वाली व्‍यय एवं व‍ित्‍त समित‍ि की मीट‍िंग में मंजूरी दी गई थी. उस वक्‍त टेंडर की प्रक्र‍िया को तीन माह के भीतर पूरा करने की बात कही गई थी. लेक‍िन कोरोना संक्रमण के चलते यह प्रोजेक्‍ट लेट हो गया. अब सरकार ने इसको रफ्तार देने की तैयारी की है.

इतनी चौड़ी सड़कों पर लगेंगी ये एलईडी स्‍क्रीन
सूत्र बताते हैं क‍ि एलईडी स्क्रीन लगाने के ल‍िए लोक निर्माण विभाग की 80 फीट या इससे ज्‍यादा चौड़ी सड़क, खास स्‍पॉट, चौराहा, तिराहा, व्यस्‍तम वाले मेट्रो स्टेशन के एंट्री-एग्‍ज‍िट प्‍वाइंट्स आद‍ि का चयन क‍िया गया है. इतना ही नहीं सरकार 100 से 200 फीट चौड़ी रोड या ज्‍याद भीड़ वाली सड़कों पर स्‍क्रीन लगाने को प्राथमिकता देगी.

इतने आकार की लगाई जाएंगी एलईडी स्‍क्रीन
स्‍क्रीन लगाने के ल‍िए टेंडर प्रक्र‍िया और उसकी न‍ियत शर्तों की बात करें तो शहर में दो आकार के एलईडी स्क्रीन लगाए जाएंगे. इनमें 590 एलईडी स्क्रीन तो ऐसे होंगे जोक‍ि प्रत्येक 9.5 फीट चौड़ी व 12.5 फुट लंबाई वाले होंगे. वहीं, 10 एलईडी स्क्रीन में हर 15.5 फीट चौडी व 37.5 फीट लंबाई वाली हैं. पोल व स्क्रीन लगाने और करीब 7 साल देखभाल करने का खर्च करीब 278 करोड़ रुपए आएगा. इसके अलावा सात साल तक इसके ल‍िए बिजली आपूर्ति व इंटरनेट आद‍ि पर कुल अनुमान‍ित 134 करोड़ रुपए खर्च आएगा. इसके अत‍िर‍िक्‍त अन्‍य खर्च अलग मद में रहेगा.

कुछ चुन‍िंदा जगहों पर लगेंगी इतनी LED स्क्रीन
-नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन, कश्मीरी गेट आईएसबीटी, सराय काले खां आईएसबीटी, टिकरी बार्डर, औचंदी बार्डर, सिंघु बार्डर, अप्सरा बार्डर, गाजीपुर बार्डर, बदरपुर बार्डर, रोड जंक्शन शाहीन बाग, जसोला विहार, तिरंगा चौक द्वारका, खजूरी खास चौक, पालम विहार चौक, रिंग रोड के अलग-अलग हिस्सों पर 8-8 एलईडी स्क्रीन लगेंगी.

-एयरपोर्ट रोड और मुकरबा चौक पर 12 स्क्रीन, टी जंक्शन खानपुर 6 स्क्रीन के अलावा राजीव चौक मेट्रो स्टेशन, भीड़भाड़ वाले मेट्रो स्टेशनों पर 4-4 स्क्रीन लगाई जाएंगी.

Tags: Delhi Government, Delhi news, Kejriwal Government, Manish sisodia

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर