Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Weather Update: दिल्‍ली-UP और हरियाणा में बदला मौसम का मिजाज, कई जगह बारिश के साथ गिरे ओले

    दिल्‍ली-एनसीआर में बारिश से बढ़ी ठंड.
    दिल्‍ली-एनसीआर में बारिश से बढ़ी ठंड.

    दिल्‍ली के साथ हरियाणा (Haryana) और उत्‍तर प्रदेश में कई जगह जोरदार बारिश (Heavy Rain) के साथ ओलावृष्टि होने से मौसम बदल गया है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 16, 2020, 9:43 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के साथ हरियाणा (Haryana) और उत्‍तर प्रदेश में मौसम ने करवट ली है, जी हां, कई इलाकों में जोरदार बारिश (Heavy Rain) के साथ ओलावृष्टि हुई है. इस बारिश से न सिर्फ वायु प्रदूषण से राहत मिलेगी बल्कि ठंड भी बढ़ेगी. आपको बता दें कि आज मौसम विभाग ने दिल्ली और आसपास के इलाकों में बारिश का अनुमान व्यक्त किया था. मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली और आसपास के इलाकों में 15 और 16 नवंबर को बारिश हो सकती है और ऐसा पश्चिमी विक्षोभ के कारण होगा. जबकि शाम होते-होते दिल्‍ली, हरियाणा और उत्‍तर प्रदेश में बारिश के साथ ओले गिरने से डंठ ने दस्‍तक दे दी है.

    बहरहाल, दिल्‍ली के कई इलाकों में हल्‍की बारिश ने लोगों को प्रदूषण से निजात दिलाने का काम किया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग की ओर से कहा गया कि ताजा पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश हुई. जबकि हवा की गति तेज होने से प्रदूषण कारक तत्व छितरा गए हैं. साथ ही दावा किया कि हवा की अधिकतम गति 25 किलोमीटर प्रति घंटा के आसपास थी. सफदरजंग वेधशाला में 0.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. इसके अलावा पालम में 1.8 मिमी, लोधी रोड में 0.3 मिमी, रिज में 1.2 मिमी, जाफरपुर में एक मिमी, नजफगढ़ में एक मिमी और पूसा में 2.5 मिमी बारिश दर्ज की गई है. वहीं, विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बारिश होने से वायु गुणवत्ता में सुधार हो सकता है. इसके अलावा हरियाणा में भी कई जगह जोरदार बारिश हुई है. इस दौरान हिसार समेत कई जगह तो तेज बारिश के साथ ओले गिरने से ठंड भी बढ़ गई है. अगर उत्‍तर प्रदेश की बात करें तो नोएडा, अलीगढ़, आगरा समेत कई जिलों में बारिश हो रही है. जबकि कुछ जगह ओले गिरने की भी जानकारी मिल रही है.
    दिल्‍ली- एनसीआर में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव में रविवार को वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा उपलब्ध कराए गए वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) के अनुसार दिल्ली के सबसे निकट पांच शहरों की हवा में प्रदूषण कारक तत्वों पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा भी अधिक बनी रही. सूचकांक के अनुसार 0 और 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा', 51 और 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 और 200 के बीच 'मध्यम', 201 और 300 के बीच 'खराब', 301 और 400 के बीच 'बेहद खराब' और 401 से 500 के बीच 'गंभीर' माना जाता है.

    सीपीसीबी के समीर ऐप के अनुसार रविवार को शाम चार बजे चौबीस घंटे का औसत एक्यूआई गाजियाबाद में 448, नोएडा में 441, ग्रेटर नोएडा में 417, गुड़गांव में 425 और फरीदाबाद में 414 दर्ज किया गया. शनिवार को औसत एक्यूआई गाजियाबाद में 456, नोएडा में 425, ग्रेटर नोएडा में 394, फरीदाबाद में 378, और गुड़गांव में 358 रहा था. सीपीसीबी के अनुसार नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुड़गांव में रविवार को हवा में मौजूद पीएम 2.5 और पीएम 10 कणों की अधिकता प्रमुख प्रदूषण कारक तत्व रहे.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज