Assembly Banner 2021

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बताई नाइट कर्फ्यू की वजह, कहा- रिजल्ट के लिए इंतजार करना होगा

नाइट कर्फ्यू के ऐलान के बाद दिल्ली का सुनसान खान मार्केट. फाइल फोटो.

नाइट कर्फ्यू के ऐलान के बाद दिल्ली का सुनसान खान मार्केट. फाइल फोटो.

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसपर नियंत्रण के लिए यहां नाइट कर्फ्यू लगाया गया है, जो रात 10 से सुबह 5 बजे तक लागू है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसपर नियंत्रण के लिए यहां नाइट कर्फ्यू लगाया गया है, जो रात 10 से सुबह 5 बजे तक लागू है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने नाइट कर्फ्यू लगाने की वजह बताई है. उन्होंने बताया कि ऐसा इसलिए किया क्योंकि कुछ रिपोर्ट्स आई थीं, जिनमें बताया गया था कि रात के वक्त शादियां, पार्टियां हो रही हैं. इनमें लोग बेवजह इकट्ठे होते हैं और बेहद क्लोज कॉन्टेक्ट में आ जाते हैं. इसलिए इससे बचने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. क्योंकि शादियों, पार्टियों में शामिल किसी एक व्यक्ति को भी कोरोना हुआ, तो वहां मौजूद बाकी लोगों को भी कोरोना होने का खतरा बढ़ जाता है.

मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में पिछले तीन हफ्ते से कोरोना के मामले बढ़े हैं. पहले हर दिन 200 से कम मामले आ रहे थे, लेकिन अब 5 हजार से ज्यादा मामले आ रहे हैं. मामले बढ़ते देख अस्पतालों में बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं. पिछले 3 दिन में 2 हजार से ज्यादा बेड्स बढ़ाए गए हैं और अगले 3 दिन में ढाई हजार बेड्स और बढ़ जाएंगे. उन्होंने सभी से मास्क लगाने की अपील भी की.

Youtube Video




संक्रमण दर ज्यादा
मंत्री ने कहा कि जिस तरह से कोरोना बढ़ रहा है, उससे लगता है कि पुराना रिकॉर्ड भी तोड़कर आगे न बढ़ जाए. दिल्ली में संक्रमण दर 5% से ज्यादा है, महाराष्ट्र में 25% और छत्तीसगढ़ में 16% और कई राज्यों में संक्रमण दर 10% से ज्यादा दर्ज हो रही है. अगर दिल्ली में संक्रमण दर इतनी ज्यादा बढ़ती है तो हालात खराब हो जाएंगे. इसलिए कोरोना को कंट्रोल करने के लिए तमाम कदम उठाने चाहिए."
उनसे जब पूछा गया कि एक्सपर्ट का कहना है कि नाइट कर्फ्यू प्रभावी नहीं है, तो स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "नाइट कर्फ्यू से फर्क पड़ता है या नहीं, इसके लिए इंतजार करना होगा. ये कोई कठोर कदम नहीं है. रात को 10 बजे तक आमतौर पर लोग अपने काम खत्म कर लेते हैं." उन्होंने कहा कि ये नाईट कर्फ्यू लंबे समय के लिए नहीं, बल्कि कुछ समय के लिए लगाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज