सतेन्द्र जैन बोले- UP में कोरोना टेस्ट नहीं होने से वो दिल्ली में आकर करा रहे हैं, इसलिए...

मंत्री सतेन्द्र जैन का कहना है कि जितने टेस्ट होंगे उतने ही नंबर ज्यादा आएंगे.
मंत्री सतेन्द्र जैन का कहना है कि जितने टेस्ट होंगे उतने ही नंबर ज्यादा आएंगे.

"सर्दियों की शुरुआत में बुजुर्गों की डेथ बढ़ जाती है. एमसीडी (MCD) से डेटा लेकर चेक करेंगे तो ओवर ऑल डेथ नहीं बढ़ रही है. अब आदमी बीमार है, कोविड (Covid) भी है तो कोविड के खाते में जाता है.”

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 1:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) के स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन (Satyendra Jain) ने यूपी पर एक बड़ा आरोप लगाया है. उनका कहना है, “यूपी में कोरोना के टेस्ट (Corona Test) नहीं हो रहे हैं. यूपी (UP) वाले दिल्ली में आकर टेस्ट करा रहे हैं. दिल्ली का पता देकर टेस्ट करा लेते हैं. लेकिन हमे इस झगड़े में नहीं पड़ना है. हाल ही में सीवो सर्वे हुआ था. 25 प्रतिशत लोग पाजिटिव (Positive) पाए गए थे. जितने ज़्यादा टेस्ट कर रहे हैं तो ज्यादा नंबर सामने आ रहे हैं. एक्सपर्ट ने बताया है कि 3-4 महीने पुराने केस में एन्टी बॉडी डिटेक्ट नहीं हो पाती."

स्वास्थ्य मंत्री बोले- आईसीयू बैड की हो रही है कमी

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन का कहना है कि रविवार को तीन हज़ार केस आए थे. आईसीयू बैड की दिक्कत आ रही है. कल सीएम अरिवंद केजरीवाल और गृहमंत्री अमित शाह की मीटिंग हुई थी. मांग की थी कि आईसीयू में और सेंटर अस्पताल में बैड बढ़ाये जाएं. इस पर गृहमंत्री ने आश्वासन दिया है कि  बैड बढ़ाये जायेंगे. साथ ही उनका यह भी कहना है कि जो मास्क नहीं पहनेंगे तो और सख्ती बरती जाएगी. पिछले कुछ दिनो में 45 करोड़ के चालान किये गये हैं. दिल्ली की थर्ड वेव है और इस वेव का पीक जा चुका है और अब नंबर कम होने लगेगा.



यह भी पढ़ें- दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच फिर लगेगा लॉकडाउन? जानें सत्येंद्र जैन ने क्या कहा

लॉकडाउन के मामले पर यह है सरकार की रणनीति

न्यूज18 इंडिया के संवाददाता ने जब स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन से दिल्ली में लॉकडाउन लगाए जाने की संभावनाओं पर सवाल किया तो उनका कहना था, जब पहले लॉकडाउन किया गया था तो वो एक लर्निंग एक्सरसाइज थी. उस लॉकडाउन से जो सीख मिली वो यह थी कि लॉकडाउन से जो फायदा लेना है वो मास्क से भी लिया जा सकता है. इसकी वजह वैज्ञानिक है. सबसे कम पॉजिटिविटी हॉस्पिटल के स्टाफ को है. क्योंकि वो प्रोटेक्शन ले रहे हैं. इसलिए लॉकडाउन लगाने का कोई चांस नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज