दिल्‍ली में मास्‍क न लगाने वालों पर होगी सख्‍ती, बढ़ेंगे चालान: सत्‍येंद्र जैन  

दिल्‍ली में मास्‍क न लगाने पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने सख्‍ती करने की चेतावनी दी है. मास्‍क न लगाने पर चालान बढ़ाए जाएंगे.
दिल्‍ली में मास्‍क न लगाने पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने सख्‍ती करने की चेतावनी दी है. मास्‍क न लगाने पर चालान बढ़ाए जाएंगे.

दिल्‍ली में 24 घंटे में कोरोना (Corona Virus) के करीब छह हजार केस आने पर दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा क‍ि लोग कोरोना से थक रहे हैं. 6-7 महीने हो गए हैं लेकिन लोगों को ये मानना चाहिए कि जब तक वैक्सीन (Covid vaccine)नहीं आ जाती है तब तक मास्क (Mask) को वैक्सीन माने. मास्क लगाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 12:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी में शुक्रवार को आए करीब छह हजार मामलों को लेकर दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने लोगों से मास्‍क लगाने की अपील की है. जैन ने कहा कि दिल्‍ली में ठंड और प्रदूषण का भी असर देखने को मिल रहा है. वहीं लगातार तीसरे दिन पांच हजार से ज्‍यादा कोरोना मरीजों में संक्रमण की पुष्टि होने के साथ ही कुल 47 मरीजों की मौत हुई है.

जैन का कहना है कि दिल्‍ली में शुक्रवार को 5891 केस आये. दिल्‍ली में कुल 37 फीसदी बैड्स पर कोरोना के मरीज हैं. वहीं सरकार ने अस्‍पतालों में ICU के लगभग 1000 बेड बढ़ाए हैं. उन्‍होंने कहा कि निजी अस्पतालों में 80 फीसदी बेड रिज़र्व किया जाना था लेकिन कोर्ट ने उस पर रोक लगा दी. फिर भी सरकार ने 1000 बेड बढ़ाए. अभी कुल 2900 बैड में से लगभग 1200 करीब बेड उपलब्ध हैं.

सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि त्‍यौहारी मौसम के साथ ही दिल्‍ली में ठंड बढ़ी है. वहीं प्रदूषण भी बढ़ा है. जिसका असर अब दिखाई दे रहा है. अब लोग कोरोना से थक रहे हैं. 6-7 महीने हो गए हैं लेकिन लोगों को ये मानना चाहिए कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती है तब तक मास्क को वैक्सीन माने. मास्क लगाएं. लोगों को लगता है इम्युनिटी बन रही है लेकिन आप वजह बन सकते हैं. लोगों से अपील है मास्क लगाएं.



उन्‍होंने कहा कि मास्‍क न लगाने वालों पर सख्ती की जाएगी. ऐसे लोगों का चालान किया जाएगा. इसे और बढ़ाया जायेगा. लॉकडाउन जब लगाया था तब वायरस नया था. इसके खत्म होने को लेकर अलग अलग बातें की गई. लेकिन वायरस खत्म नहीं हुआ. कम्युनिटी के अंदर वायरस पंहुच चुका है. कम्युनिटी के अंदर है वायरस. लॉकडाउन से इसे खत्म करना असम्भव है. जो पता चला है वो ये कि मास्क इसे रोक सकता है. मास्क से कोरोना और प्रदूषण दोनो से बचेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज