Assembly Banner 2021

हमारी लड़ाई कोरोना से है, केंद्र से नहीं, राजनीति नहीं होनी चाहिए! जानें दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने क्यों कही ऐसी बात?

दिल्ली सरकार अब तक 75 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों का कोरोना वैक्सीनेशन कर चुकी है. (PTI File Photo)

दिल्ली सरकार अब तक 75 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों का कोरोना वैक्सीनेशन कर चुकी है. (PTI File Photo)

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र सरकार के आरोपों पर कहा है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों के 75 फीसदी स्वास्थ्य कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है. केंद्र सरकार के अस्पतालों में 30 से 40 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन हुआ है. हमें इस पर नहीं जाना है कि कितनों ने वैक्सीनेशन कराया है, बल्कि हम प्रयास कर रहे हैं जल्द से जल्द ज्यादा से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन कराया जा सके.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) कोरोना (Corona) संक्रमण को नियंत्रित करने के हर संभव प्रयास कर रही है. साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) अभियान को तेज चलाने में जुटी हुई है. अब तक 75 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों का कोरोना वैक्सीनेशन किया जा चुका है. लेकिन केंद्र सरकार इसको लेकर बेवजह आरोप लगा रही है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई एक राज्य या अकेले केंद्र की नहीं है. इसके खिलाफ हम सभी को मिलकर लड़ना है. हमारी लड़ाई कोरोना से है, केंद्र सरकार से नहीं है. इस पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं करनी चाहिए.

दिल्ली सरकार का प्रयास है कि जल्द से जल्द, ज्यादा से ज्यादा दिल्ली वालों का वैक्सीनेशन कराया जा सके. इसी उद्देश्य से हमने केंद्र सरकार से सभी को वैक्सीनेशन करने और कैंप लगाकर बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन करने की अनुमति मांगी है.



मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर कोविड जांच की क्षमता को बढ़ा दिया है और दिल्ली में कुल 90 हजार लोगों के कोरोना टेस्ट किए गए.
उन्होंने कहा कि पूरे देश में कल 1,25,000 से ज्यादा कोरोना के नए मामले आए थे, जो पिछली बार आई कोरोना की लहरों में सबसे अधिक है. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण दर 25 फीसदी, छत्तीसगढ़ में 18 फीसदी है और देश के अन्य कई राज्यों में संक्रमण दर 10 फीसदी से अधिक चल रही है.

वहीं, दिल्ली में अभी कोरोना संक्रमण की दर 6 फीसदी से थोड़ी ऊपर चल रही है, जो अन्य राज्यों के मुकाबले कम है. पूरे देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की प्रवृत्ति एक जैसी चल रही है.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोरोना संक्रमण की मौजूदा लहर में पिछली सभी लहरों के मुकाबले मौतों का आंकड़ा कम देखने को मिल रहा है. संक्रमण की इस लहर में मौत की दर 0.4 फीसदी है जबकि कोरोना की पिछली लहर में मौत की दर 2-3 फीसदी थी. मौजूदा लहर में कोरोना संक्रमण के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन गंभीर मामले कम आ रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने वैक्सीनेशन के संबंध में कहा कि हमने केंद्र सरकार से वैक्सीनेशन की उम्र सीमा को 65 साल से घटा कर 45 साल करने का सुझाव दिया था.

इस संबंध में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कम से कम 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीनेशन करने की अनुमति देने के लिए केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा था. केंद्र सरकार ने तीन दिन बाद इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और इन लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है.

इसके अलावा, हाल ही में सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की तरफ से वैक्सीनेशन को लेकर दो और सुझाव दिए हैं, जिसमें सभी उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन करने की अनुमति देने और कैंप लगाकर वैक्सीनेशन करना शामिल है.

दिल्ली सरकार द्वारा युद्ध स्तर पर वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए केंद्र सरकार को कैंप लगा कर टीकाकरण करने को लेकर भी सुझाव दिया गया है. जिस पर केंद्र सरकार अभी विचार कर रही है. अभी सिर्फ अस्पताल और डिस्पेंसरी में वैक्सीनेशन करने की अनुमति है.

दिल्ली सरकार के पास 4-5 दिनों तक वैक्सीनेशन करने के लिए वैक्सीन उपलब्ध है. वैक्सीन की वजह से वैक्सीनेशन के कार्य में कोई रूकावट न आए, इसके लिए हमने केंद्र सरकार से और अधिक वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग कर रखी है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार आरोप लगा रही है कि दिल्ली में स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन कम हुआ है. यह आरोप पूरी तरह से गलत है. हम भी कह सकते हैं कि केंद्र सरकार के जो अस्पताल हैं, उन्हीें में स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन कम हुआ है और उसी वजह से यह संख्या कम लग रही है. दिल्ली सरकार के अस्पतालों के 75 फीसदी स्वास्थ्य कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है.

वहीं, केंद्र सरकार के अस्पतालों में 30 से 40 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन हुआ है. हमें इस पर नहीं जाना है कि कितनों ने वैक्सीनेशन कराया है, बल्कि हम प्रयास कर रहे हैं जल्द से जल्द ज्यादा से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन कराया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज