• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ‘पूरी तैयार’: सत्येन्द्र जैन

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ‘पूरी तैयार’: सत्येन्द्र जैन

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि कोविड 19 के थर्ड वेब से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने तैयारी कर रखी है (फाइल फोटो)

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि कोविड 19 के थर्ड वेब से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने तैयारी कर रखी है (फाइल फोटो)

Delhi News: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि सरकार अनुभवों से सीखकर तीसरी लहर को रोकने के लिए तमाम कदम उठा रही है. लेकिन कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए लोगों को लापरवाही नहीं करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार ‘पूरी तरह’ तैयार है

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा है कि दिल्ली सरकार कोई जोखिम मोल लेना नहीं चाहती और कोविड ​​19 की संभावित तीसरी लहर (Covid 19 Third Wave) से निपटने के लिए ‘पूरी तैयारी’ कर रही है. जैन ने महामारी (Pandemic) के दौरान जान गंवाने वाले डॉक्टरों को भी याद किया और कहा कि उनके नाम सुनहरे अक्षरों में लिखे जाएंगे. जैन ने लोगों से कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करने और उनसे लापरवाही नहीं करने की अपील की.

    स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार को सरकारी अस्पतालों- यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस), वसंत कुंज, दीप चंद बंधु अस्पताल, अशोक विहार, संजय गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल, मंगोलपुरी और बुराड़ी अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों के लिए छठा अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे. सत्येंद्र जैन ने कहा कि उनकी (स्वास्थ्यकर्मी) समर्पित सेवा ने अनमोल जीवन बचाया, उनके सर्वोच्च बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता और उनका नाम इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल की नेतृत्व वाली सरकार स्वास्थ्य कर्मियों की निस्वार्थ और समर्पित सेवा को सलाम करती है, जिन्होंने इस घातक बीमारी से लड़ने के लिए अपनी जान दांव पर लगा दी और दिल्ली सरकार के साथ दिन-रात खड़े रहे.’

    जैन ने कहा कि सरकार अनुभवों से सीखकर तीसरी लहर को रोकने के लिए तमाम कदम उठा रही है. लेकिन कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए लोगों को लापरवाही नहीं करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार ‘पूरी तरह’ तैयार है.

    ‘स्थिति पर नजर रख रही सरकार, कोई जोखिम मोल नहीं लेना चाहती’

    स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार स्थिति पर नजर रख रही है और वो कोई जोखिम मोल लेना नहीं चाहती है. उन्होंने कहा कि 37,000 कोविड 19 समर्पित बेड तैयार किए जा रहे हैं, जिसमें 12,000 आईसीयू बेड भी शामिल हैं. इसके अलावा पांच एलएमओ (लिक्विफाइड मेडिकल ऑक्सीजन) भंडारण टैंकों के साथ 47 पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र पहले ही स्थापित किए जा चुके हैं तथा कई और स्थापित किए जाएंगे.

    वहीं, विधानसभा के अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने भी वरिष्ठ डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों को ‘अग्रिम मोर्चे के योद्धा’ का दिया गया नाम बिल्कुल सही है क्योंकि सीमा पर सेना की तरह, उन्होंने अपने जीवन के बारे में नहीं सोचा, और घातक कोरोना वायरस से लोगों की जान बचाने के लिए निस्वार्थ भाव से काम किया. उन्होंने कहा कि विधानसभा देश की राजधानी के ‘कोरोना योद्धाओं’ के लिए इस तरह के सम्मान कार्यक्रमों का आयोजन जारी रखेगी. (भाषा से इनपुट)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज