COVID-19 मरीजों के बारे में रियल टाइम अपडेट न देने वाले अस्पतालों पर एक्शन लेगी सरकार, HC का आदेश
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19 मरीजों के बारे में रियल टाइम अपडेट न देने वाले अस्पतालों पर एक्शन लेगी सरकार, HC का आदेश
दिल्ली हाईकोर्ट

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच COVID-19 मरीजों के बारे में रियल-टाइम अपडेट न करने वाले अस्पतालों के खिलाफ अब सख्त कार्रवाई होगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच COVID-19 मरीजों के बारे में रियल-टाइम अपडेट न करने वाले अस्पतालों के खिलाफ अब सख्त कार्रवाई होगी. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi high court) ने इस संबंध में केंद्र और दिल्ली सरकार को निर्देश दिए हैं. हाईकोर्ट ने अपने निर्देश में कहा है कि कोरोना मरीजों और अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धता के बारे में रियल टाइम अपडेट (real time update) न करने वाले अस्पतालों पर सख्त कार्रवाई की जाए.

कोर्ट ने इस संबंध में अस्पतालों और सरकार के बीच किसी भी तरह का कम्युनिकेशन गैप अगर हो, तो उसे भी दूर करने को कहा है. अदालत ने अपने निर्देश में दिल्ली सरकार को यह भी आदेश दिया है कि वह इसको लेकर विशेष रूप से अधिकारियों की ड्यूटी लगाए, ताकि सरकार और अस्पताल के बीच संवाद में कोई कमी न रहे.

रियल टाइम अपडेट न करने की शिकायतें 



आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने राजधानी के अस्पतालों में कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज के लिए एक मोबाइल एप भी लॉन्च किया है. इस एप के जरिए कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों को दिल्ली के अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धता, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन और अस्पताल की अन्य सुविधाओं की रियल टाइम जानकारी मिलती है. सरकार ने मोबाइल एप लॉन्च करते समय कहा था कि इस एप के जरिए लोगों को दिल्ली के अस्पतालों में उपलब्ध सभी सुविधाओं की जानकारी मिलेगी.
इससे कोरोना मरीजों को अपने मनचाहे अस्पताल में इलाज कराने की सुविधा मिल सकेगी. एप लॉन्च किए जाने के बाद इसे रियल टाइम अपडेट न करने की शिकायतें आ रही थीं. अब जबकि दिल्ली हाईकोर्ट ने अस्पतालों को कोरोना मरीजों के बारे में रियल टाइम अपडेट करने का निर्देश दिया है, संभव है कि इस एप के जरिए लोगों को सभी अस्पतालों की जानकारी आसानी से हासिल हो सकेगी.



अस्थाई अस्पताल

आपको बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली सरकार ने कई होटलों, बैंक्वेट हॉल और सार्वजनिक स्थानों पर अस्थाई अस्पताल बनवाए हैं. दिल्ली सरकार ने जुलाई महीने के अंत तक राजधानी में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या के 5 लाख तक के अनुमान के आधार पर अस्पताल और बेड्स उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है. इसके तहत ही दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर अस्थाई अस्पताल बनवाए गए हैं. इस क्रम में छतरपुर स्थित राधास्वामी सत्संग व्यास में 10000 बेड का अस्पताल बनवाया गया है. इसके संचालन का जिम्मा आज इंडो-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) ने लिया है. आज आईटीबीपी के जवानों ने दिल्ली के इस सबसे बड़े कोविड-केयर सेंटर का जिम्मा संभाल लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading